Dato Me Dard, Jhanjhanahat Kyon Hoti Hai – व इसको रोकने के उपाय

Dato Me Dard, Jhanjhanahat Kyon Hoti Hai-आज कल के बदलते हुये
खानपान को देखते हुये दाँतो मे झनझनाहट ,दर्द ,पायरिया ,मुह मे बदबू आना आदि
स्वाभाविक होगया है इसका मुख्य कारण यह होता है की अत्यधिक गर्म या फिर
अत्यधिक ठंडे भोजन का सेवन करना ,क्यो की ऐसा करने से दाँतो को ब्लड सफलाइ
करने वाली वेन ,आर्टरिज एव दाँतो का नर्वस सिस्टम प्रभावित होता है एव कोल्ड व
हिट की प्रक्रिया बार बार होने से दाँतो मे झनझनाहट व दर्द जैसी समस्याए होने लग जाती है

दांत हमारे शरीर का सबसे कठोर भाग माना जाता है लेकिन फिर भी इसमे लगभग
9% तक जल की मात्रा पाई जाती है ओर दांत हमारे शरीर का एक मुख्य भाग व
मेटाबोलिज़म के लिय एक मुख्य अंग माना जाता है क्यो की अगर मुख मे से अगर दांत
अनुपस्थित कर दिये जाए तो डाएजेसन की प्रक्रिया बहुत प्रभावित होती है इसलिय की
दांत भोजन को पीस कर उसमे स्लाईवा मिलाने का काम करते है !

Dato Me Dard, Jhanjhanahat होने का कारण

दाँतो मे दर्द व झनझनाहट किसी भी उम्र मे व कभी भी हो सकती है व इसमे कुछ बीमारिया
होती है जैसे – स्कर्वी ,पायरिया आदि बीमारिया शामिल होती है ओर इनका कारण खानपान
मे कमी ,अनियमितता ,असंतुलित पोषण मे कमी हो सकती है

पायरिया –

पायरिया नामक बीमारी Vitamin-C की कमी की वजह से होता है विटामिन -सी की कमी
होने पर मसूड़ो मे सूजन आ जाती है , लालिमा आ जाती है फूल जाते है ,व इनसे खून बहने
लग जाता है इसके साथ साथ इनमे खुजली भी चलने लग जाती है झनझनाहट ओर दर्द जैसी
समस्या उतपन हो जाती है इसी प्रकार मसूड़ो मे एक ओर बीमारी होती है जो स्कर्वी नाम से
जानी जाती है इसमे भी पायरिया के जैसे ही लक्षण उतपन होते है ओर यह भी विटामिन सी
की कमी की वजह से होती है

दाँतो की jhanjhanahat व दर्द को रोकने के उपाय

long ka tel – long ke tel को कॉटन पे लगाकर दर्द वाले दांत के ऊपर दबाकर रखने से दांत
का दर्द कम हो जाता है long ka tel नही मिलने पर सीधे लॉन्ग को ही दाँतो मे दबाया जा
सकता है इससे दाँतो के कीड़े मर जाते है व दांत का दर्द भी कम हो जाता है लॉन्ग का तेल दांत लिय उतम माना जाता है व इससे मुह भी साफ हो जाता है

नींबू

नींबू vitamin -C का अच्छा स्त्रोत माना जाता है इसलिय नींबू के रस की दाँतो पे दर्द वाले
स्थान पे हल्की मालिस करने से आराम मिलता है अन्य सभी खट्टे फल विटामिन सी के
अछे स्त्रोत माने जाते है जैसे – आवला ,संतरा ,बैर ,नींबू आदि

ब्रांडी का स्वाब –

ब्रांडी के स्वाब को कॉटन पे लगाकर दाँतो पे रखने से आराम मिलता है क्यो की इसमे
एल्कोहल होता है जिस कारण दाँतो के साथ साथ मुह भी किटाणुओ रहित हो जाता है ओर
एल्कोहल होने के कारण दर्द का आभास नही होता है !

Constipation(Kabj) Se Hone Wale Nuksan-व इसको रोकने के उपाय

काली मिर्च –

दाँतो मे दर्द होने की स्थिति मे काली मिर्च का पाउडर बनाकर उसमे थोड़ा सा नमक मिला
कर दाँतो के दर्द वाले भाग पर हल्की हल्की मालिस करने से आराम मिलता है काली मिर्च
पेट मे गैस बनने से भी रोकती है

*प्याज खाने से मुह साफ हो जाता है अगर दाँतो मे दर्द बेक्टीरियल या वायरल
इनफेकसन के कारण है तो इससे आराम मिलता ह

*टी बेग -टी बेग को गर्म पानी मे डाले ओर दांत पे दर्द वाले भाग पर पानी से सेक करने से कुछ हद तक आराम मिलता है

Leave a Comment