उपमुख्यमंत्री का वेतन कितना होता है – Deputy Chief Minister Of Salary

By JASWANT | July 20, 2022

Salary of deputy chief minister, उपमुख्यमंत्री का वेतन, salary of deputy chief minister in india, उपमुख्यमंत्री कि सैलरी के बारे में जानकारी, chief minister salary in hindi,

Salary of deputy chief minister, उपमुख्यमंत्री का वेतन, salary of deputy chief minister in india, उपमुख्यमंत्री कि सैलरी के बारे में जानकारी, chief minister salary in hindi,

आज के इस समय में प्रधानमंत्री के वेतन से ज्यादा राज्य के मुख्यमंत्रियों और
उपमुख्यमंत्रियों का वेतन है अगर बात कर प्रधानमंत्री के वेतन कि बात तो
उनका वेतन 1.60 लाख रूपये से अधिक नही है और मुख्यमंत्रियों के वेतन कि
बात कर तो 4 लाख रूपये से लेकर 1 लाख रूपये तक का वेतन राज्यों के
मुख्यमंत्रियों को मिलता है मुख्यमंत्री के पद कि तरह हि उपमुख्यमंत्री का पद
होता है जिसे Deputy Chief Minister कहा जाता है

इनकी सैलरी भी मुख्यमंत्री के लगभग समान हि होती है हम आपको
उपमुख्यमंत्री का वेतन कितना होता है के बारे में जानकारी देंगे क्योंकि कुछ लोगों हि नही बल्कि बहुत से लोगों को उपमुख्यमंत्री का वेतन कितना होता है इसके बारे में सही जानकारी नही है तो आइये जानते है Deputy Chief Minister Of Salary के बारे में जानकारी विस्तार से

Advertisement

उपमुख्यमंत्री का वेतन कितना होता है जानकारी:-

जैसा कि आप सभी जानते है अलग अलग राज्य के अलग अलग मुख्यमंत्री होते है ठीक उसी प्रकार अलग अलग राज्यों के अलग अलग उपमुख्यमंत्री होते है यदि किसी कारणवंस मुख्यमंत्री कि मृत्यु हो जाती है या फिर उन्हें कोई घम्भीर बिमारी अपना शिकार बना लेती है

उस समय उपमुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री का कार्य भार सम्भालना होता है उन्हें मुख्यमंत्री कि तरह कई प्रकार के अहम फैसले लेने होते है जितना कार्यकाल मुख्यमंत्री जी का होता है उतना हि कार्यकाल उपमुख्यमंत्री का होता है उपमुख्यमंत्री कि सैलरी (वेतन) के बारे में बात कर तो मुख्यमंत्री से थोड़ी हि कम सैलरी Deputy Chief Minister कि होती है

Advertisement
पदउपमुख्यमंत्री
लोकेशनसभी राज्य
अपडेट2022
ऑफिसियल वेबसाइटSarkari Yojna

हम आपको इस आर्टिकल में उनके वेतन के बारे में बतायेगे तथा उनके कार्यकाल और योग्यता के बारे में जानकारी देंगे उपमुख्यमंत्री इसीलिए बनाया जाता है ताकि किसी काम से मुख्यमंत्री बाहर चले जाए या फिर उनकी मृत्यु हो जाए या उनके कोई खतरनाक बिमारी हो जाए तो राज्य में मुख्यमंत्री के जरिये जो कार्य किये जाते है

उन्हें उपमुख्यमंत्री पूरा कर सके देखा जाए तो प्रधानमंत्री से भी ज्यादा वेतन उपमुख्यमंत्री और मुख्यमंत्रियों का होता है उन्हें बहुत सि सेवाओं का लाभ दिया जाता है उन्हें सरकारी आवास दिया जाता है तथा गाडी भी सरकार कि और से दी जाती है उपमुख्यमंत्री को मुख्यमंत्री के काफिले के साथ साथ चलना होता है

Deputy Chief Minister Of Salary (उपमुख्यमंत्री का वेतन कितना होता है):-

उपमुख्यमंत्री का वेतन कितना होता है अगर देखा जाए तो उपमुख्यमंत्री कि सैलरी में और मुख्यमंत्री के वेतन में कोई ज्यादा फर्क नही है मुख्यमंत्री का वेतन 4 लाख रूपये से लेकर 1 लाख रूपये तक का होता है और उपमुख्यमंत्री कि सैलरी 3 लाख रूपये से लेकर 75 हजार रूपये तक है इस वेतन में उनको दैनिक भत्ता और अन्य प्रकार के खर्चे को मिलाकर दिया जाता है

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि उपमुख्य्मंत्रियों के वेतन में बढ़ोतरी हर साल नही कि जाती है 10 साल में एक बार बढ़ोतरी कि जाती है सबसे बड़ी महत्वपूर्ण बात कि मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के वतन का मामला राज्य के राजस्व विभाग के हातों में होता है उनकी और से उनके वेतन को तय किया जाता है जिसे विधानसभा में मंजूरी मिलती है

मिलने वाली सेवाएं:-

मुख्यमंत्री कि तरह हि उपमुख्यमंत्री को सरकारी सेवाओं का लाभ दिया जाता है जाने इनको मिलने वाले सेवाओं के बारे में

  • सरकारी आवास सुविधा
  • मुफ्त चिकित्सा सेवाएं
  • सरकारी गाडी
  • मोबाइल फ़ोन सेवा
  • लैंडलाइन सेवा
  • यात्रा सेवाए मुफ्त
  • सुरक्षा सेवाएं
  • टेक्स फ्री

उपमुख्यमंत्री पद का कार्यकाल:-

मुख्यमंत्री कि तरह Deputy Chief Minister (उपमुख्यमंत्री) का कार्यकाल होता है उनका भी 5 वर्षों का कार्यकाल होता है जिसके बाद उन्हें भी अपने पद का त्याग करना पड़ता है यदि 5 वर्ष के बाद पुन चुनाव में उनका चयन कर लिया जाता है तो वह फिर से अपनी कुर्शी को सम्भाल सकता है उपमुख्यमंत्री अपने कार्यकाल में के जरिये बहुत से जरूरी कार्य के लिए सलाह और कार्य को मंजूरी दिलवा सकता है

उपमुख्यमंत्री के कार्य क्या क्या है?

Deputy Chief Minister के कार्य मुख्यमंत्री कि तरह होते है लेकिन उन्हें ये कार्य मुख्यमंत्री कि मोजुदगी न होने पर करने होते है

  1. राज्य में कानून और नीतियों का प्रमुख प्रधान होता है Deputy Chief Minister
  2. राज्य सरकार का प्रमुख होता है
  3. मंत्रिमंडल के विचारों कि सुनवाई का कार्य उपमुख्यमंत्री करता है उनकी अध्यक्षता करता है
  4. वह अपनी तरफ विधायकों का झुकाव करके खुद भी मुख्यमंत्री पद प्राप्त कर सकता है

DOWNLOAD APP - Play

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *