फसल सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन~Online Application Form

फसल सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन Online Application Form

फसल सहायता योजना, Fasal sahayata yojana bihar online registration, fasal sahayata yojana online apply, फसल सहायता योजना ऑनलाइन, fasal sahayata bima yojana bihar last date, फसल सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन कैसे करे,

फसल सहायता योजना-जैसा कि आप सभी जानते है देश के सभी राज्यों में लगभग लोग खेती पर हि निर्भर है और कुछ प्राक्रतिक आपदाओं के कारण किसानो कि फसले खराब हो जाती है तो आज हम आपको इस आर्टिकल में बतायेगे कि बिहार राज्य कि सरकार ने अपने राज्य में किसानो को फसल कि नुकसान कि भरपाई के लिए इस योजना कि सुरुआत कि है इस योजना के तहत उन किसानो को लाभान्वित किया जाएगा जिनकी फसले प्राक्रतिक आपदा के कारण नस्ट हो जाती है ऐसे किसानो को प्रति हेक्टेयर के हिसाब से उनकी फसल के नुकसान कि भरपाई सरकार कि और से कि जायेगी ताकि किसानो कि रूचि खेती में बनी रहे तो आइये जाने इस योजना के आवेदन,दस्तावेज,पात्रता,उदेश्य,पात्रता और इस योजना से क्या क्या लाभ है इसके बारे में जानकारी

फसल सहायता योजना ऑनलाइन आवेदन~Online Application Form

Fasal Sahayata Yojana (फसल सहायता योजना):-

बिहार राज्य के ऐसे किसान जिनकी फसल का हर साल किसी न किसी प्राक्रतिक पादा के कारण नुकसान हो जाता है जिसके कारण किसानो को आर्थिक तंगी से झुझना पड़ता है ऐसे किसानो को उनकी फसल कि भर पाई के लिए इस योजना को बिहार राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री नितीश कुमार यादव जी कि और से शुरु कि गई है इस योजना के जरिये किसानो 7500 रूपये से लेकर 10 हजार रूपये तक कि सहायता राशि दी जायेगी यानी अगर किसी किसान कि फसल का 20% तक नुकसान प्राक्रतिक आपदा के कारण हुआ है तो उसको प्रति हेक्टयर के हिसाब से फसल कि भरपाई के लिए दी जायेगी और यदि फसल का नुकसान 20% से ज्यादा हो जाता है तो प्रति हेक्टेयर 10 हजार रूपये कि राशि के हिसाब से नुकसान कि भरपाई कि जाती है

सरकारी योजनाओं के आवेदन के लिए यहाँ क्लिक करे:-

प्राक्रतिक आपदा के कारण इतना ज्यादा नुकसान हो जाता है कि किसानो को कई बार तो फसल कि फिर से बुआई करणी पडती है जिसके कारण उसे बहुत लागत का सामना करना पड़ता है और उसकी आर्थिक स्तिथि इतनी कमजोर हो जाती है को वो कृषि करना हि बंद कर देता है बिहार राज्य में लगभग लोग खेती पर न्रिभर है और हर साल प्राक्रतिक आपदा के कारण जो नुकसान फसलों का हो रहा है उसकी वजह से किसान खेती करना हो छोड़ रहे है ऐसे में किसानो कि खेती में फिर से रूचि बढाने और राज्य में क्षेत्र क्षेत्र और और आगे ले जाने के उदेश्य से इस योजना को शुरु किया गया है योजना के जरिये मिलने वाली फसल भरपाई कि राशि का लाभ लेने के लिए किसान के नाम से बैंक के खाता होना आवश्यक है

LocationBihar
Yojana TypeKisan Yojana
YojanaFasal Sahayata Yojana
Official Websitehttps://pacsonline.bih.nic.in/fsy/
Update2021

और इतना हि नही बैंक खाता किसान के आधार कार्ड से लिंक होना भी जरूरी है बिहार राज्य में सबसे ज्यादा खेती धान और तिलहन कि होती है और प्राक्रतिक आपदा के कारण इन्ही फसलों का सबसे ज्यादा नुकसान हो जाता है इस योजना का लाभ लेने के लिए किसान इस योजना कि ऑनलाइन वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकता है किसान रबी और खरीफ कि यानो दोनों फसलों के लिए आवेदन कर सकता है इसके लिए बिहार सरकार ने ऑनलाइन पोर्टल भी जारी कर दिया है किसान को आवेदन के लिए कही जाने कि जरूरत नही है वह घर बैठा हि इसमें अपना आवेदन कर सकता है

फसल सहायता योजना का मूल उदेश्य क्या है?

Fasal Sahayata Yojana का मुख्य उदेश्य है कि बिहार राज्य में खेती करने वाले किसान जिनकी फसल का हर साल प्राक्रतिक आपदा के कारण नुकसान हो जाताहै जिसकी वजह से किसान खेती करना छोड़ रहे है ऐसे किसानो को इस योजना के जरिये उनकी फसल कि भरपाई के लिए प्रोत्साहन राशि दी जा रही है ताकि किसानो कि खेती में रूचि बनी रहे हर साल लाखों किसान इस प्राक्रतिक आपदा कि चपेट में आ जाते है जिसके कारण फसल का इता अधिक नुकसान हो जाता है कि उन्हें फिर से फसल कि बुआई करणी पड़ जाती है जिसके कारण लागत अधिक आती है

और फसल का उत्पादन कम होता है बहुत से किसान ऐसे भी है जो कृषि कार्यों के लिए बैंकों से ऋण ले लेते है और फसल का अधिक उत्पादन न होने के कारण ऋण का ब्याज सहित भुगतान नही कर पाते है और मजबूर आत्महत्या कर लेते है ऐसे किसानो को अब इस योजना के जरिये उनकी फसल कि नुकसान पर भरपाई दी जाती है 20% के कम फसल का नुकसान हो जाने पर 7500 रूपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से राशि दी जाती है और यदि 20% से अधिक फसल का नुक्सान हो जाता है तो 10 हजार रूपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से राशि दी जाती है

Fasal Sahayata Yojana से लाभ:-

Fasal Sahayata Yojana से बिहार राज्य के किसानो को होने वाले लाभ निम्न प्रकार है

  • इस योजना का लाभ केवल बिहार राज्य के किसान हि ले सकते है
  • किसानो कि आर्थिक स्तिथि को मजबूत करने के लिए इस योजना को शुरु किया गया है
  • प्राक्रतिक आपदा जैसे बाढ़,भूस्खलन,चक्रवात,तेज बारिश,आंधी,तूफान आदि से फसल का नुकसान होने पर प्रोत्साहन राशि के रूप में धन राशि दी जाती है
  • 20% से कम फसल का नुसान होने पर 7500 रूपये कि आर्थिक सहायता कि जाती है
  • 20% से अधिक फसल का नुकसान हो जाने पर 10 रूपये प्रति हेक्टेयर के हिसाब से भुगतान राशि दी जाती है
  • योजना के जरिये मिलने वाली धनराशी लाभार्थी किसानो के बैंक खातों में भेजी जाती है
  • बैंक खाता किसान के आधार कार्ड से लिंक होना जरूरी है

Fasal Sahayata Yojana के आवेदन के लिए मुख्य दस्तावेज:-

फसल सहायता योजना के ऑनलाइन आवेदन में काम आने वाले मुख्य दस्तावेज निम्न प्रकार है

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • राशन कार्ड
  • बैंक खाता संख्या
  • खेत कि जमाबंदी
  • खेत का नक्सा
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

वोटर आईडी कार्ड ऑनलाइन आवेदन~Voter ID Card Application Form

फसल सहायता योजना में ऑनलाइन आवेदन कि विधि:-

अगर आप भी इस बिहार सरकार कि और से शुरु कि गई फसल नुकसान कि भरपाई कि योजना में ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो इस आर्टिकल में दिए गये तरीके को ध्यान से पढ़ कर आप भी ऑनलाइन आवेदन घर बैठे हि कर सकते है

  • सबसे पहले आपको इस फसल सहायता योजना कि ऑफिसियल वेबसाइट को ओपन करना होगा https://pacsonline.bih.nic.in/fsy/
  • इसके बाद आपके सामने इस योजना का मेन पृष्ठ ओपन हो जाएगा
  • इस मेन पृष्ठ में आपको रजिस्ट्रेशन का ऑप्शन मिलेगा जिस पर आपको क्लिक करना है जिसके बाद आपके सामने इसका अगला पेज खुल जाएगा जिसमे आपको आधार कार्ड के सामने हाँ का ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर आपको क्लिक करना है
  • अब आपको अगले पेज में आपको अपने आधार कार्ड नंबर डालने है
  • फिर आपको बताये गये डोकोमेंट को अपलोड करना है
  • इसके बाद आपको इसमें दिए गये सबमिट कोप्ष्ण पर क्लिक करना है जिसके बाद आपका ऑनलाइन आवेदन हो जाएगा

फसल सहायता योजना हेल्पलाइन नंबर:-

  • 18003456290

Leave a Comment

Your email address will not be published.