PM SARKARI YOJANA

राज्यपाल कि सैलरी कितनी है जाने – Governor Of Salary In India

Governor salary in india, राज्यपाल कि सैलरी कितनी है इसके बारे में, governor salary and benefits in india, राज्यपाल कि सैलरी, Governor Of Salary, Governor Ki Salary Kitni Hoti h,

राज्यपाल कि सैलरी कितनी है

देश के राज्यो में राज्यपाल कि नियुक्ति कि जाती है तथा केंद्र साशित प्रदेशों में उपराज्यपाल कि नियुक्ति कि जाती है राज्यपाल अपने राज्य का सवेधानिक मुखिया होता है बहुत से लोगों के मन में ये सवाल होता है कि इन बड़े बड़े नेताओं कि सैलरी क्या होती है और वो इसे जानने के लिए ऑनलाइन पता करने कि कोशिश भी करते है मगर उन्हें राज्यपाल कि सैलरी या फिर अन्य बड़े बड़े नेताओं के वेतन के बारे में सही जानकारी नही मिल पाती है

ऐसे लोगों को अब हमरे इस आर्टिकल को ध्यान से पढना होगा जिसके बाद उन्हें राज्यपाल कि सैलरी के बारे में सही जानकारी मिल जायेगी तथा राज्यपाल के बारे में भी पूरी जानकारी प्राप्त हो जायेगी राज्यपाल के वेतन कि बात करे तो प्रधानमंत्री से कही ज्यादा उनका वेतन होता है

Governor Of India (राज्यपाल) के बारे में विस्तार से:-

भारत के सविधान के भाग 6 में ये प्रवधान बनाया गया है कि देश के राज्यों में राज्यपाल कि नियुक्ति कि जाती है और जो केंद्र साशित प्रदेश है उनमे उपराज्यपाल कि नियुक्ति कि जाती है ये जरूरी नही है कि एक राज्यपाल को एक हि राज्य का कार्यभार दिया जाए बल्कि एक राज्यपाल को अन्य राज्य का कार्यभार भी दी जा सकता है

एसा भारत के सविधान 7 के 1956 में तय किया गया है भारत के सविधान में ये प्रावधान भी दिया गया है कि राज्यपाल मंत्रीमंडल के साथ विचार विमर्श करके फैलसा ले सकता है तथा कुछ फैलसे वह अपनी विवेक के अनुसार बिना मंत्रीमंडल के विचार के ले सकता है क्योंकि राज्यपाल राज्य कि कार्यपालिका का मुख्य प्रधान होता है

राज्यपाल कि सैलरी

राज्य के सभी मंत्री उनके कहे अनुसार कार्य करते है जिस तरह देश जा मुखिया राष्ट्रपति होता है ठीक उसी तरह राज्य का प्रधान राज्यपाल होता है राज्य में विश्वविधालय का कुलाधिपति भी राज्यपाल को नियुक्त किया गया है राज्यपाल (Governor) को दो प्रकार कि शक्तियां दी जाती है एक तो वह अपने विवेक से निर्णय ले सकता है तथा दूसरी वह अपने मंत्रिमंडल के साथ विचार विमर्श करके फैलसा ले सकता है

लेकिन राष्ट्रपति के पास दो शक्तियां नही होती है उन्हें अपनी बुद्धि के हिसाब से निर्णय लेना होता है राज्यपाल कि नियुक्ति रास्त्रपति के जरिये कि जाती है सविधान के अनुच्छेद 155 के तहत राष्ट्रपति राज्यपाल को शपथ दिलाता है

जिस राज्य में राज्यपाल कि नियुक्ति करणी है सबसे पहले राष्ट्रपति उस राज्य के सभी मुख्यमंत्रियों से विचार विमर्श करेगा और ये भी जरूरी नही है कि जिस राज्य में राज्यपाल कि नियुक्ति करणी है

उस राज्य के व्यक्ति को हि राज्यपाल होना जरूरी है 1967 के चुनाव के बाद कांग्रेश कि और से एक गठन किया गया जिसमे इस प्रथा को खत्म कर दिया गया कि राज्य के मुख्यमंत्रियों कि राय से राज्यपाल कि नियुक्ति कि जाए राज्यपाल कि सैलरी के बारे में जानने के लिए आप इस आर्टिकल को लास्ट तक पूरा जरुर पढ़े ताकि आपको वेतन के बारे में सही और पूरी जानकारी प्राप्त हो सके

राज्यपाल कि सैलरी कितनी है?

अगर बात कर राज्यपाल कि सैलरी कि तो उन्हें 3.50 लाख रूपये हर महीने वेतन के रूप में दिए जाते है वैसे तो राज्यपाल मुख्य प्रधान होता है वह अपना वेतन खुद तय कर सकता है मगर यदि वह एसा करता है तो भारत के सविधान का उलंघन करता है 3.50 लाख रूपये के वेतन में भत्ता और अन्य व्यय शामिल है तथा सरकारी आवास,चिकित्सा सेवाएं और यात्रा जैसी अन्य सेवाओं का लाभ अलग से दिया जाता है राज्यपाल के बंगले कि देखरेख के लिए जो खर्चा आता है उसके लिए अलग से बजट तय किया जाता है

राज्यपाल के कार्यकाल कि सीमा:-

Governor (राज्यपाल का कार्यकाल 5 वर्ष का होता है यह राष्ट्रपति कि और से नियुक्त किया जाता है 5 वर्ष से पहले भी राज्यपाल को उसके पड़ से हटाया जा सकता है लेकिन सबसे बड़ी बात ये है कि राज्यपाल 5 वर्ष के बाद भी अपने पद पर रहता है जब तक नये राज्यपाल कि नियुक्ति नही कि जाती है

तब तक और राज्यपाल के कार्य कि सीमा समाप्त हो जाती है और नया राज्यपाल पद को ग्रहण नही कर लेता है तब तक उसे उस पद पर बने रहना पड़ता है और उसे उस समय रोजाना के हिसाब से वेतन मिलता है जैसे हि नया राज्यपाल नियुक्त हो जाता है पुराने वाला अपने पद का त्याग कर देता है

Governor के लिए योग्यताएं:-

राज्यपाल पद के लिए कुछ इन प्रकार कि योग्यताओं का होना आवश्यक है

  • राज्यपाल पद के लिए व्यक्ति कि आयु 35 वर्ष से कम नही होनी चाहिए
  • वह भारत का स्थाई नागरिक होना आवश्यक है
  • व्यक्ति राज्य विधानसभा का सदस्य चुनने के लायक होना चाहिए
  • उसे बैंक से दिवालिया और डोक्टर कि और से पागल घोषित किया हुआ नही होना चाहिए
  • वह केंद्र सरकार या फिर राज्य सरकार कि और से किसी पद पर नियुक्त कियाहुआ नही होना चाहिए
JASWANT

View Comments

  • सर आपके द्वारा दी गई जानकारी गलत है आपने बताया है कि राज्यपाल को शपथ राष्ट्रपति दिलाता है जबकि राज्यपाल को राज्य का मुख्य न्यायाधीश शपथ दिलाता है और आपने बताया है कि कार्यपालिका का मुख्य प्रधान राज्यपाल होता है जबकि मुख्यमंत्री कार्यपालिका का मुख्य प्रधान होता है कृपया लोगों को गलत सूचना देकर गुमराह ना करें

  • राष्ट्र पति प्रधान मंत्री राज्य पाल सांसद और विधायक वेतन पेंशन दोनो बंद होना चाहिए और

Recent Posts

Google Pay Se Paise Kaise Kamaye : गूगल ऐप से रोजाना 500 से 1000 रुपये कमाने के आसान तरीका 

Google Pay Se Paise Kaise Kamaye प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के…

2 months ago

रेल कौशल विकास योजना : खुशखबरी फ्री में कौशल विकास योजना में प्रशिक्षण के लिए आवेदन शुरू,10 वीं, 12 वीं पास जल्दी करे आवेदन

रेल कौशल विकास योजना केंद्र की मोदी सरकार दुवारा देश के सभी वर्ग के नागरिको…

2 months ago

Anganwadi Bharti New Update : खुशखबरी आंगनबाड़ी में निकली इस साल की सबसे बड़ी भर्ती,बिना परीक्षा होगा चयन, आवेदन शुरू

Anganwadi Bharti New Update राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार दुवारा राज्य की महिलाओ को रोजगार प्रदान…

2 months ago

Work From Home Job : खुशखबरी घर बैठे सरकार के साथ काम करें डाटा एंट्री की नौकरी, कमाए 15 से 20 हजार रूपये महीना

Work From Home Job प्यारे दोस्तों आज हम आपको अपने इस आर्टिकल के माध्यम से…

2 months ago

Rajasthan Free Mobile Yojana : गहलोत सरकार दे रही है सभी को 3 साल फ्री इंटरनेट के साथ फ्री में मोबाइल फोन,ऐसे चेक करे अपना नाम

Rajasthan Free Mobile Yojana नमस्कार दोस्तों आज हम आपके लिए राजस्थान सरकार की योजना से…

2 months ago