Advertisement
Categories
PM SARKARI YOJANA

जीएसटी क्या है जिसटी के बारे में जानकारी – How To Register For GST

Advertisement

जीएसटी क्या है, जीएसटी के नियम क्या है, जीएसटी कितने प्रकार के होते हैं, gst number kaise le, जीएसटी के फायदे और नुकसान, gst status check, दुकानदार के लिए जीएसटी नियम, जीएसटी कब लागू हुआ, जीएसटी कैसे अप्लाई करें, What is GST number, जीएसटी कैसे निकाले, gst helpline number, सीजीएसटी और एसजीएसटी क्या है, How do I calculate GST, जीएसटी चोरी की शिकायत कहां करें, जीएसटी नंबर कितना है, जीएसटी नंबर कितने दिन में मिल जाता है, जीएसटी बिल कैसे काटे, जीएसटी क्या है , How To Register For GST

जीएसटी क्या है – What is GST?

जीएसटी का Full Form है Goods And Services Tax जिसटी को हम हिन्दी में वस्तु एवं सेवा कर कहा जाता है इसके नाम से साफ होता है कि इस टैक्स को माल और सर्विस पर लगाया जाता है यह देश भर में वस्तुओं और सेवाओें की बिक्री पर लगने वाले GST की एक बड़ी खासियत यह है कि किसी भी एक समान पर इसका Rate पूरे देश में एक जैसा होगा अभी जिसटी देश के सभी राज्यों में लागु है

Advertisement

जिसटी नंबर क्या है? – What is GST number?

आपको बता दे भारत में GST का अर्थ है गुड्स एंड सर्विस टैक्स जीएसटी
पॉलिसी शुरू होने के बाद से देश भर में जितना भ्रम पैदा हुआ है, उससे कहीं
ज्यादा दिलचस्पी भी पैदा हो गई है। इसलिए यह स्वाभाविक है कि अधिकांश
लोग इस बात से अवगत नहीं हैं कि जीएसटी, जीएसटी नंबर या उससे जुड़ी
कई अन्य चीजें क्या हैं अभी हम आपको जिसटी से समन्धित सभी जानकारी
को इस अर्तिकाल में देगे जिसके लिए आप आर्टिकल को पूरा पढ़े

जिसटी के नियम के क्या है? – What is the rule of GST?

  • अभी तक कोई भी रजिस्टर्ड व्यापारी जो टैक्स अपनी खरीद पर बेचने वाले
    व्यापारी को देता था,
  • उसका क्रेडिट उसे मिलता था ताकि वह आउटपुट टैक्स की लायाबिलिटी से कम कर सकेगे इसके कुछ प्रावधानों में बदलाव किया गया है
  • नए बदलावों के तहत अब यह क्रेडिट तभी मिलेगा, जब विक्रेता ने उस बिल को अपने GSTR-1 में घोषित कर दिया हो इस प्रावधान के न होने के कारण मुकदमे काफी बढ़ रहे थे
  • सालाना रिटर्न में रिकॉन्सिलिएशन स्टेटमेंट को किसी चार्टेड अकाउंटेंट या कॉस्ट अकाउंटेंट से वेरिफाई कराने की बाध्यता को समाप्त कर दिया गया है जरूरत पड़ने पर सेल्फ सर्टिफिटाइड स्टेटमेंट भी मान्य होगा
  • सेक्शन 50 में लगने वाले ब्याज पर अनिश्चितता को समाप्त किया गया है
  • अब यह केवल कैश कंपोनेंट पर ही लगेगा और यह प्रावधान 1 जुलाई 2017 से माना जाएगा
  •  सेक्शन 74 की जांच के दायरे से अब किसी ऐसे ट्रांजैक्शन जिस पर सेक्शन 129, 130 में कार्यवाही (गुड्स इन ट्रांजिट) हुई है, उसे निकाल दिया गया है

Register For GST

  • कमिश्नर को यह पावर दी गई है कि यदि कोई कार्यवाही जो व्यापारी के ऑडिट, इंस्पैक्शन, सर्च, सीजर, कोई डिमांड की रिकवरी से संबंधित हैं,
  • तो ऐसे में वह उस व्यापारी की किसी भी चल, अचल संपत्ति और बैंक अकाउंट को अटैच कर सकता है
  • ऐसे ट्रांजैक्शन जिनमें ‘गुड्स इन ट्रांजिट’ पर ट्रांजिट के दौरान किसी कारण से पेनाल्टी लगाई गई है,
  • उस मामले में व्यापारी कोई अपील तब तक नहीं कर सकता है, जब तक उसने पेनाल्टी का 25 पर्सेंट जमा न कर दिया हो। पहले यह राशि 10 पर्सेंट थी
  • मूवमेंट के दौरान अगर सामान के साथ उचित कागज नहीं है तो पेनाल्टी की मात्रा 100 पर्सेंट से बढ़ाकर 200% किया गया है
  • लेकिन टैक्स और इंटरेस्ट निर्धारण करने की प्रक्रिया को समाप्त किया गया है
  • जीरो रेटेड सप्लाई की व्याख्या में यह सुनिश्चित किया जा रहा है
  • कि यदि सप्लाई सेज यूनिट/डिवेलपर को हुई है तो इसका उपयोग ऑथराइज्ड ऑपरेटर में होना जरूरी है
  • सरकार यह प्रावधान भी कर सकती है कि कुछ व्यापारी IGST पे करने के बाद ही कुछ वस्तुओं या सेवाओं को जीरो रेटेड सप्लाई के रूप में कर सकते हैं

जिसटी के प्रकार कितने है? – What are the types of GST?

GST के चार प्रकार :

  • CGST सी जी एस टी (केन्द्रीय वस्तु एवं सेवा कर )
  • CGST द्वारा वसूला गया कर केंद्र सरकार को जायेगा
  • SGST एस जी एस टी ( राज्य वस्तु एवं सेवा कर )
  • SGST द्वारा वसूला गया कर राज्य सरकार को जायेगा

जीएसटी कौन सा कर है?

जीएसटी एक मूल्य वर्धित कर है जो कि विनिर्माता से लेकर उपभोक्‍ता तक
वस्‍तुओं और सेवाओं की आपूर्ति पर एक एकल कर है प्रत्‍येक चरण पर भुगतान
किये गये इनपुट करों का लाभ मूल्‍य संवर्धन के बाद के चरण में उपलब्‍ध होगा
जो प्रत्‍येक चरण में मूल्‍य संवर्धन पर जीएसटी को आवश्‍यक रूप से एक कर बना देता है

Advertisement

GST कौन से अनुच्छेद में है?

GST अनुच्छेद 279A: यह विधेयक भारत के राष्ट्रपति को 122 संविधान
संशोधन अधिनियम 2014 के प्रारंभ होने की साठ-दिनों के भीतर वस्तु एवं सेवा
कर (जीएसटी) परिषद का गठन करने का अधिकार देता है

जीएसटी कितने परसेंट है? – How much percent is GST?

भारत में जीएसटी दर एक गतिशील दर है जिसे आर्थिक परिस्थितियों के
अनुसार बदल दिया जाता है भारत में जीएसटी दर को 37 वीं काउंसिल बैठक
में संशोधित किया गया था जीएसटी की संरचना सरल और सीधी है जीएसटी प्रणाली में पांच स्लैब है, एक कर – मुक्त स्लैब, 5% स्लैब, 12% स्लैब, 18% स्लैब और 28% स्लैब|

Advertisement

सीमेंट पर GST कितना है?

अभी सीमेंट पर GST की दर को घटाकर सरकार इस सेक्टर को राहत
देने पर विचार कर रही है सीमेंट पर GST की दर को सरकार 28 से घटाकर 18 फीसदी करना चाहती है लेकिन अभी सीमेंट पर जिसटी 28 प्रतिशत है

सीजीएसटी और एसजीएसटी क्या है?

सीजीएसटी कर जो है वो केंद्र सरकार के पास जमा होता है और एसजीएसटी राज्य सरकार के पास जमा होता है इंटर स्टेट – जब सप्लाई करने वाले और खरीदने वाले अलग-अलग राज्य में हो तो यह इंटर स्टेट लेन-देन कहलाता है साथ ही ,आयात-निर्यात की स्थिति या फिर विशेष आर्थिक क्षेत्र से सम्बंधित लेन-देन भी इंटर स्टेट या अंतर्राज्यीय ही माने जाते हैं

What is the production GST? – उत्पादन जीएसटी क्या है?

भारत में जीएसटी एक तरह का टैक्स कानून है भारत में यह सर्विस टैक्स, वैल्यू ऐडेड टैक्स, एक्साइज़ टैक्स, और राज्य और केंद्रीय टैक्स जैसे उन टैक्स की जगह ले चुका है जो सीधे तौर पर लागू नहीं होते. यह एक दोहरे टैक्स वाला मॉडल है जहां भारत के राज्यों की सरकारें और केंद्र सरकार दोनों, सेवाओं और वस्तुओं पर टैक्स लागू करती हैं

जीएसटी का बिल कैसे काटे – How to cut GST bill?

GST का बिल काटने के लिए जरूरी जानकारी – नाम, पता और जीएसटीआईएन या यूआईएन अगर रेसिपेंट पंजीकृत हैं – नाम और प्राप्तकर्ता का पता और डिलीवरी का पता, राज्य के नाम और उसके कोड के साथ, अगर ऐसा प्राप्तकर्ता अपंजीकृत है और जहां टैक्सेबल की आपूर्ति का मूल्य पचास हजार रुपए या उससे अधिक है – एचएसएन कोड की वस्तुओं या सेवाओं का अकाउंटिंग कोड दर्ज करना है

GST का बिल कैसे बनाएं – How to make GST bill?

जिसटी का बिल बनाने के लिए निचे दिए गये स्टेप को फॉलो करे –

  • सबसे पहले Excel की sale bill utility में आपको अपनी कंपनी की सभी details को fillup करना होगा
  • Company Name: अपनी कंपनी का पूरा नाम दर्ज करना है
  • Company/दुकान का Address: अपनी कंपनी का पूरा address दर्ज करना है
  • Company GST No: अपनी कंपनी का GST नंबर भरना है

जिसटी के लाभ क्या है – What are the benefits of Geneti

जीएसटी के मुख्य लाभ में से एक यह है कि करदाता ऑनलाइन पंजीकरण, रिटर्न दाखिल करना और कर का भुगतान सबकुछ ओनलाईन जीएसटी पोर्टल के माध्यम से कर सकते हैं। 11. पहले की वैट प्रणाली में, ई-कॉमर्स व्यवसायों का कर अनुपालन के संबंध में काफी अंतर था

जीएसटी परिषद के अध्यक्ष कौन हैं

जीएसटी नियमों को तैयार करने के लिए, सरकार ने एक जीएसटी परिषद की नियुक्ति की है जिसमें 33 सदस्य होते हैं, जिसकी अध्यक्षता वर्तमान केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण करती है केंद्रीय वित्त मंत्री, जिन्हें परिषद का अध्यक्ष नियुक्त किया जाएगा

जीएसटी चोरी की शिकायत कहां करें – GST Complaint Number

जिसटी के लिए राष्ट्रीय मुनाफाखोरी रोधी प्राधिकरण (एनएए) ने मुनाफाखोरी की शिकायत करने के लिए हेल्पलाइन नंबर जारी किया है हेल्पलाइन नंबर 011-21400643 पर उपभोक्ता शिकायत दर्ज करा सकता है वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत दरों में कटौती का लाभ नहीं दे रही कंपनियों के खिलाफ सुबह 9:30 से दोपहर एक बजे और दोपहर डेढ़ बजे से शाम छह बजे के बीच शिकायत की जा सकेगी

दोस्तों अगर आप को हमारी यह जानकारी अच्छी लगी है और आप को इसी तरह कि जानकारी को वीडियो के माद्यम से देखना चाहते है तो आप हमारे YUTUBE चेनल पर देख सकते है और पोस्ट अच्छी लगी है तो अपने दोस्तों को शेयर करना ना भूले धन्यवाद |

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.