body{--wp--preset--color--black:#000000;--wp--preset--color--cyan-bluish-gray:#abb8c3;--wp--preset--color--white:#ffffff;--wp--preset--color--pale-pink:#f78da7;--wp--preset--color--vivid-red:#cf2e2e;--wp--preset--color--luminous-vivid-orange:#ff6900;--wp--preset--color--luminous-vivid-amber:#fcb900;--wp--preset--color--light-green-cyan:#7bdcb5;--wp--preset--color--vivid-green-cyan:#00d084;--wp--preset--color--pale-cyan-blue:#8ed1fc;--wp--preset--color--vivid-cyan-blue:#0693e3;--wp--preset--color--vivid-purple:#9b51e0;--wp--preset--color--contrast:var(--contrast);--wp--preset--color--contrast-2:var(--contrast-2);--wp--preset--color--contrast-3:var(--contrast-3);--wp--preset--color--base:var(--base);--wp--preset--color--base-2:var(--base-2);--wp--preset--color--base-3:var(--base-3);--wp--preset--color--accent:var(--accent);--wp--preset--gradient--vivid-cyan-blue-to-vivid-purple:linear-gradient(135deg,rgba(6,147,227,1) 0%,rgb(155,81,224) 100%);--wp--preset--gradient--light-green-cyan-to-vivid-green-cyan:linear-gradient(135deg,rgb(122,220,180) 0%,rgb(0,208,130) 100%);--wp--preset--gradient--luminous-vivid-amber-to-luminous-vivid-orange:linear-gradient(135deg,rgba(252,185,0,1) 0%,rgba(255,105,0,1) 100%);--wp--preset--gradient--luminous-vivid-orange-to-vivid-red:linear-gradient(135deg,rgba(255,105,0,1) 0%,rgb(207,46,46) 100%);--wp--preset--gradient--very-light-gray-to-cyan-bluish-gray:linear-gradient(135deg,rgb(238,238,238) 0%,rgb(169,184,195) 100%);--wp--preset--gradient--cool-to-warm-spectrum:linear-gradient(135deg,rgb(74,234,220) 0%,rgb(151,120,209) 20%,rgb(207,42,186) 40%,rgb(238,44,130) 60%,rgb(251,105,98) 80%,rgb(254,248,76) 100%);--wp--preset--gradient--blush-light-purple:linear-gradient(135deg,rgb(255,206,236) 0%,rgb(152,150,240) 100%);--wp--preset--gradient--blush-bordeaux:linear-gradient(135deg,rgb(254,205,165) 0%,rgb(254,45,45) 50%,rgb(107,0,62) 100%);--wp--preset--gradient--luminous-dusk:linear-gradient(135deg,rgb(255,203,112) 0%,rgb(199,81,192) 50%,rgb(65,88,208) 100%);--wp--preset--gradient--pale-ocean:linear-gradient(135deg,rgb(255,245,203) 0%,rgb(182,227,212) 50%,rgb(51,167,181) 100%);--wp--preset--gradient--electric-grass:linear-gradient(135deg,rgb(202,248,128) 0%,rgb(113,206,126) 100%);--wp--preset--gradient--midnight:linear-gradient(135deg,rgb(2,3,129) 0%,rgb(40,116,252) 100%);--wp--preset--duotone--dark-grayscale:url('#wp-duotone-dark-grayscale');--wp--preset--duotone--grayscale:url('#wp-duotone-grayscale');--wp--preset--duotone--purple-yellow:url('#wp-duotone-purple-yellow');--wp--preset--duotone--blue-red:url('#wp-duotone-blue-red');--wp--preset--duotone--midnight:url('#wp-duotone-midnight');--wp--preset--duotone--magenta-yellow:url('#wp-duotone-magenta-yellow');--wp--preset--duotone--purple-green:url('#wp-duotone-purple-green');--wp--preset--duotone--blue-orange:url('#wp-duotone-blue-orange');--wp--preset--font-size--small:13px;--wp--preset--font-size--medium:20px;--wp--preset--font-size--large:36px;--wp--preset--font-size--x-large:42px;--wp--preset--spacing--20:0.44rem;--wp--preset--spacing--30:0.67rem;--wp--preset--spacing--40:1rem;--wp--preset--spacing--50:1.5rem;--wp--preset--spacing--60:2.25rem;--wp--preset--spacing--70:3.38rem;--wp--preset--spacing--80:5.06rem}:where(.is-layout-flex){gap:0.5em}body .is-layout-flow > .alignleft{float:left;margin-inline-start:0;margin-inline-end:2em}body .is-layout-flow > .alignright{float:right;margin-inline-start:2em;margin-inline-end:0}body .is-layout-flow > .aligncenter{margin-left:auto !important;margin-right:auto !important}body .is-layout-constrained > .alignleft{float:left;margin-inline-start:0;margin-inline-end:2em}body .is-layout-constrained > .alignright{float:right;margin-inline-start:2em;margin-inline-end:0}body .is-layout-constrained > .aligncenter{margin-left:auto !important;margin-right:auto !important}body .is-layout-constrained >:where(:not(.alignleft):not(.alignright):not(.alignfull)){max-width:var(--wp--style--global--content-size);margin-left:auto !important;margin-right:auto !important}body .is-layout-constrained > .alignwide{max-width:var(--wp--style--global--wide-size)}body .is-layout-flex{display:flex}body .is-layout-flex{flex-wrap:wrap;align-items:center}body .is-layout-flex > *{margin:0}:where(.wp-block-columns.is-layout-flex){gap:2em}.has-black-color{color:var(--wp--preset--color--black) !important}.has-cyan-bluish-gray-color{color:var(--wp--preset--color--cyan-bluish-gray) !important}.has-white-color{color:var(--wp--preset--color--white) !important}.has-pale-pink-color{color:var(--wp--preset--color--pale-pink) !important}.has-vivid-red-color{color:var(--wp--preset--color--vivid-red) !important}.has-luminous-vivid-orange-color{color:var(--wp--preset--color--luminous-vivid-orange) !important}.has-luminous-vivid-amber-color{color:var(--wp--preset--color--luminous-vivid-amber) !important}.has-light-green-cyan-color{color:var(--wp--preset--color--light-green-cyan) !important}.has-vivid-green-cyan-color{color:var(--wp--preset--color--vivid-green-cyan) !important}.has-pale-cyan-blue-color{color:var(--wp--preset--color--pale-cyan-blue) !important}.has-vivid-cyan-blue-color{color:var(--wp--preset--color--vivid-cyan-blue) !important}.has-vivid-purple-color{color:var(--wp--preset--color--vivid-purple) !important}.has-black-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--black) !important}.has-cyan-bluish-gray-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--cyan-bluish-gray) !important}.has-white-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--white) !important}.has-pale-pink-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--pale-pink) !important}.has-vivid-red-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--vivid-red) !important}.has-luminous-vivid-orange-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--luminous-vivid-orange) !important}.has-luminous-vivid-amber-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--luminous-vivid-amber) !important}.has-light-green-cyan-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--light-green-cyan) !important}.has-vivid-green-cyan-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--vivid-green-cyan) !important}.has-pale-cyan-blue-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--pale-cyan-blue) !important}.has-vivid-cyan-blue-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--vivid-cyan-blue) !important}.has-vivid-purple-background-color{background-color:var(--wp--preset--color--vivid-purple) !important}.has-black-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--black) !important}.has-cyan-bluish-gray-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--cyan-bluish-gray) !important}.has-white-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--white) !important}.has-pale-pink-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--pale-pink) !important}.has-vivid-red-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--vivid-red) !important}.has-luminous-vivid-orange-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--luminous-vivid-orange) !important}.has-luminous-vivid-amber-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--luminous-vivid-amber) !important}.has-light-green-cyan-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--light-green-cyan) !important}.has-vivid-green-cyan-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--vivid-green-cyan) !important}.has-pale-cyan-blue-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--pale-cyan-blue) !important}.has-vivid-cyan-blue-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--vivid-cyan-blue) !important}.has-vivid-purple-border-color{border-color:var(--wp--preset--color--vivid-purple) !important}.has-vivid-cyan-blue-to-vivid-purple-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--vivid-cyan-blue-to-vivid-purple) !important}.has-light-green-cyan-to-vivid-green-cyan-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--light-green-cyan-to-vivid-green-cyan) !important}.has-luminous-vivid-amber-to-luminous-vivid-orange-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--luminous-vivid-amber-to-luminous-vivid-orange) !important}.has-luminous-vivid-orange-to-vivid-red-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--luminous-vivid-orange-to-vivid-red) !important}.has-very-light-gray-to-cyan-bluish-gray-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--very-light-gray-to-cyan-bluish-gray) !important}.has-cool-to-warm-spectrum-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--cool-to-warm-spectrum) !important}.has-blush-light-purple-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--blush-light-purple) !important}.has-blush-bordeaux-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--blush-bordeaux) !important}.has-luminous-dusk-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--luminous-dusk) !important}.has-pale-ocean-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--pale-ocean) !important}.has-electric-grass-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--electric-grass) !important}.has-midnight-gradient-background{background:var(--wp--preset--gradient--midnight) !important}.has-small-font-size{font-size:var(--wp--preset--font-size--small) !important}.has-medium-font-size{font-size:var(--wp--preset--font-size--medium) !important}.has-large-font-size{font-size:var(--wp--preset--font-size--large) !important}.has-x-large-font-size{font-size:var(--wp--preset--font-size--x-large) !important}.wp-block-navigation a:where(:not(.wp-element-button)){color:inherit}:where(.wp-block-columns.is-layout-flex){gap:2em}.wp-block-pullquote{font-size:1.5em;line-height:1.6} .separate-containers .inside-article>.featured-image{margin-top:0;margin-bottom:2em;display:none}

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना Widow Pension Yojana Jharkhand Apply Online

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना ऑनलाइन पंजीयन कैसे करे, Jharkhand Widow Pension Yojana, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना क्या है, Jharkhand Widow Pension Scheme, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना के दस्तावेज, Widow Pension Scheme Helpline Number, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना की पात्रता क्या है, Widow Pension Scheme Registration From, विधवा पेंशन योजना का उदेश्य क्या है, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना की लिस्ट कैसे चेक करे,

Widow Pension Yojana Jharkhand – झारखण्ड विधवा पेंशन योजना

झारखण्ड सरकार ने राज्य में निराश्रित महिलाओं को विधवा पेंशन प्रदान करने के लिए Jharkhand Widow Pension Scheme को शरू किया है इस योजना का लाभ राज्य कि सभी विधवा महिलाओ को दिया जायेगा इस योजना का लाभ केवल उन पात्र आवेदकों को मिलता है जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन कर रहे हैं इस योजना के तहत विधवा महिलाओं को लाभ दिया जाता है विधवा पेंशन योजना का लाभ उठाने वाले महिला की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए इस योजना का लाभ उन महिलाओं को दिया जाएगा

जिनके पति की मृत्यु किसी कारणवश हो गई हो विधवा पेंशन देश के सभी राज्य में शरू कर दी गई है इस योजनाओ को अभी राज्य सरकार शरू कर रही है विधवा महिलाओ को इस योजना का लाभ लेने के लिए पहले आवेदन करता है इस के लिए सरकार में आवेदक को ऑनलाइन और ऑफलाइन आवेदन करने कि सुविधाओ को दिया है

Jharkhand Widow Pension Scheme

अभी देश में विधाव पेंशन सभी राज्यों में शुरू हो रही है सभी राज्यों की सरकार अपने राज्य की विधवा महिलाओ को अलग अलग प्रकार से पेंशन धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में प्रदान कर रही है यह पेंशन राज्यों को उन महिलाओ को दी जाएगी जिसके पति की मृत्यु हो जाने के बाद आपका कोई कमाने वाला नहीं है इस योजना के तहत सरकार द्वारा दी जाने वाली धनराशि सीधे लाभार्थी विधवा महिलाओ के बैंक अकाउंट में ट्रांसफर की जा रही है इस लिए आवेदक का बैंक अकाउंट होना अनिवार्य है

और बैंक अकाउंट महिला के आधार से लिंक होना जरुरी है अभी हम आपको झारखण्ड विधवा पेंशन योजना क्या है, Jharkhand Widow Pension Scheme का ऑनलाइन पंजीयन कैसे करे, Jharkhand Widow Pension Scheme के लाभ क्या है, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना का उदेश्य क्या है, झारखण्ड विधवा पेंशन योजना के दस्तावेज व पात्रता क्या ओर योजना के हेल्पलाइन नंबर कि जानकारी आपको विस्तार से दी गई है जिससे आप इस योजना से समन्धित जानकारी को आसानी से सम्पर्क करके भी प्राप्त कर सकते है

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना का उदेश्य क्या है?

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना को सरकार द्वारा शुरू करने का उदेश्य राज्य कि सभी विधवा महिलाओ को हर महीने आर्थिक सहायता के रूप में पेंशन प्रदान करना है जिससे महिलाओ को अपना जीवन यापन करने में कुछ मदद मिलेगी इस योजना का लाभ राज्य कि विधवा महिलाओ को ही दिया जायेगा इस योजना का लाभ लेने के लिए महिलाओ कि आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए

इस योजना के तहत महिलाओ को पेंशन उनके बैंक खाते में सरकार भेज दी गी इस पेंशन को लाभार्थी के खाते में महीने के पहले सप्ताह में भेजी जाएगी इस योजना का लाभ लेने के लिए आपको आवेदन करना होगा जिसकी जानकारी आपको आर्टिकल में लास्ट में ऑनलाइन पंजीयन करने कि प्रिकिर्या दी गई है जिससे आप इस योजना का आवेदन आसानी से कर सकते है

विधवा पेंशन योजना झारखण्ड के लाभ क्या है?

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना से राज्य कि महिलाओ को मिलने वाले लाभ कि सूचि आपको निचे दी गई है

  • Jharkhand Widow Pension Scheme का लाभ झारखंड कि सभी विधवा महिलाओ को मिलेगा
  • इस योजना को राज्य में शुरू करने से विधवा महिलाओ को आर्थिंक तंगी से झुझना नही होगा
  • महिलाये इस योजना का आवेदन ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों तरीको से कर सकती है
  • झारखण्ड विधवा पेंशन योजना के तहत मिलने वाली पेंशन को लाभार्थी महिलाओ के बैंक खाते में भेज दी जाएगी

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना की पात्रता क्या है?

अगर आप इस योजना का आवेदन करते है तो आपके पास निचे दी गई सभी पात्रता का हना जरुरी है तभी आप इस योजना का आवेदन करके लाभ ले सकते है

  • विधवा पेंशन योजना का आवेदन करने वाली महिला झारखण्ड राज्य की स्थाई निवासी होनी चाहिए
  • इस योजना का आवेदन राज्य कि विधवा महिलाये ही कर सकती है
  • Jharkhand Widow Pension Scheme का आवेदन करने वाली महिलाओ कि आयु 18 वर्ष से 40 वर्ष के बिच होनी चाहिए
  • झारखण्ड विधवा पेंशन योजना के तहत राज्य कि सभी विधवा महिला को 1000 रुपयों कि पेंशन प्रतिमाह दी जाएगी
  • इस योजना का लाभ लेने के लिए महिलाओ का बैंक खाता होना जरुरी है तभी महिलाये इस योजना का आवेदन कर सकती है

Jharkhand Widow Pension Scheme

योजना विधवा पेंशन योजना
योजना कि लोकेशन झारखण्ड
योजना टाइप राज्य सरकार की योजना
लाभार्थी राज्य की विधवा महिलाये
योजना का उदेश्य सभी विधवा महिलाओ को पेंशन प्रदान करना
योजना का लाभ 1000 रु प्रतिमाह पेंशन
आवेदन प्रकिर्या ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों
ऑफिसियल वेबसाइट https://jharsewa.jharkhand.gov.in/

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना के दस्तावेज क्या है?

अगर आप झारखण्ड विधवा पेंशन योजना का आवेदन करते है तो आपके पास निचे दिए गए सभी दस्तावेज का होना जरुरी है इन सभी दस्तावेज से आप इस योजना का आवेदन करके लाभ प्राप्त कर सकते है

  • आवेदन करने वाली महिला का आधार कार्ड
  • महिला के पति का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • अपनी आयु प्रमाण पत्र
  • आवेदक का मोबाइल नंबर
  • महिला का राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • महिला के बैंक खाते का विवरण
  • महिला का मूल निवास प्रमाण पत्र

झारखण्ड विधवा पेंशन योजना का आवेदन कैसे करे

अगर आप झारखण्ड विधवा पेंशन योजना का आवेदन करने के लिए आपको सभी जानकारी निचे विस्तार से दी गई है जिससे आप इस योजना का आवेदन आसानी से कर सकते है

  • Jharkhand Widow Pension Scheme का आवेदन करने के लिए आपको सबसे पहले योजना कि ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है
  • जिसके बाद आपको सबसे पहले आपको योजना का आवेदन फॉर्म प्राप्त करना होगा फॉर्म डाउनलोड करना है
  • DOWNLOAD JHARKHAND WIDOW PENSION SCHEME APPLICATION FORM PDF
  • फॉर्म डाउनलोड करने के बाद आपको फॉर्म में पूछी गयी सभी जानकारी को ध्यान से भरना होगा
  • पेंशन योजना ऑनलाइन के लिए पोर्टल रजिस्ट्रेशन करना है
  • यहा रजिस्ट्रेशन Your Self पर क्लिक करे
  • इसके बाद एक फॉर्म ऑपन होगा
  • इसमें मांगी गई जानकारी भरे
  • इसके बाद आपको लॉग इन करना है
  • अपने ID Password दर्ज करे
  • इसके बाद लॉग इन पर क्लिक करे
  • लॉग इन होने के बाद आपको विधवा पेंशन फॉर्म पर क्लिक करना है
  • और इस योजना के लिए आपको अप्लाई करना है
  • फॉर्म में आपको मांगी गई जानकारी भरनी है
  • जिसके बाद सभी आवश्यक दस्तावेज अपलोड करने है

DOWMNLOAD Vidhwa pension Yojana Declaration Form

पेंशन योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करने Declaration Form Download करना होगा जिसके बाद आपको आप इस फॉर्म के साथ ऑनलाइन आवेदन फॉर्म डाउनलोड कर सकते है

Telegram Icon
Join Our Telegram Group
Telegram Icon
Join Our Telegram Group

1 thought on “झारखण्ड विधवा पेंशन योजना Widow Pension Yojana Jharkhand Apply Online”

Leave a Comment

RECENT