किसान योजना Today 10 Update किसानो के लिय बड़े अपडेट

By | August 1, 2020

किसान योजना की नई जानकारी Today लेटेस्ट किसान योजना & किसान न्यूज़

किसान योजना Today Update किसानो के लिय बड़े अपडेट
लेटेस्ट किसान योजना & किसान न्यूज़

Table of Contents

किसान योजना & किसान लेटेस्ट न्यूज़ Today Kisan Yojana Live Update

देश हर रोज किसी न किसी राज्य में किसानो के लिए आए दिन नए नए एलान होते है किसानो के लिए नई घोषणा होता है व किसानो के लिय योजनाओ में बदलवा व अन्य न्यूज़ आती रहती है जिनका किसानो को पता ही नहीं चलता लेकिन आप यहा हर रोज किसान योजना व किसान न्यूज़ की जानकारी प्राप्त कर सकते है यहा हम आज के किसान समाचारों में किसान योजना व किसानो के ली नई खबरों के बारे में जानेगे जो देश के अलग अलग राज्यों व किसानो के लिय काफी महत्व पूर्ण है जिसमे देश के सभी राज्यों राजस्थान महाराष्ट्र बिहार पंजाब हरियाणा मध्यप्रदेश झारखण्ड उत्तर प्रदेश , छत्तीसगढ़ , असम मेघालय आदि सभी खास किसान समाचार

पीएम किसान योजना का लाभ लेने के लिय जरुर कर ले ये काम

1 – अब किसान की जमीन पैदा करेगी बिजली किसानो को डब्बल मुनाफा किसान योजना Today Update

राजस्थान सरकार ने नया प्रोजेक्ट तयार किया है जिसके बाद आब किसानो की जमीन खेती के साथ बिजली भी पैदा करेगी देश में चल रही कुसुम योजना के तहत किसान अपनी जमीन पर सोलर प्लांट लगा कर न सिर्फ अपनी बिजली की जरूरत पूरा कर सकेंगे, बल्कि ग्रिड में बिजली देकर कमाई भी कर सकेंगे। इस योजना को लेकर राजस्थान सरकार ने खास तयारी की है इस योजना में सबसे ज्यादा फायदा उन किसानो को होगा जिनकी जमीन खाली बंजर पड़ी है राजस्थान की इस योजना के लिय किसान 31 दिसम्बर तक आवेदन कर सकते है अधिक जानकरी के लिय

यहा देखे

लेखपालों की हड़ताल बन रही सर्वे में बाधा, नहीं हो पा रहा बर्बाद फसलों का आकलन किसान योजना Today Update

जेएनएन। बरसात व ओलावृष्टि से बर्बाद हुई किसानों की फसल का मुआवजा मिलना आसान नहीं लग रहा है। शुक्रवार को अधिकारियों द्वारा बर्बाद फसल का आकलन करने के लिए तीन सदस्यीय टीम गठित की गई थी, जिसमें लेखपालों को भी शामिल किया गया था लेकिन, लेखपालों की हड़ताल के चलते शनिवार को टीम क्षेत्र में नहीं पहुंची। जबकि किसान इस समय मुआवजे की आस लगाए बैठे है। अब किसानों को खुद ही बीमा कंपनियों के कर्मचारियों से मिलकर प्रार्थना पत्र देना होगा।

जिला कृषि अधिकारी ने बताया कि नुकसान का आकलन करने के लिए लेखपालों का साथ होना जरूरी है लेकिन, लेखपाल टीम के साथ नहीं गए। जिसके चलते आकलन नहीं हो सका। अब किसान 9410678656, 8449899503, 6395518950, 9997000082 पर फोन कर बीमा कंपनी के कर्मचारियों से मिलकर प्रार्थना पत्र दें। इसके बाद किसानों को मुआवजा दिलवाया जाएगा। 

गाय भैंस पर लोन कैसे ले How to Loan Animal Loan Yojana

आठ दिन करें प्रवास, केंद्र व प्रदेश सरकार की योजनाओं के बारे में लोगों को बताएं किसान योजना Today Update

वाराणसी, जेएनएन। भारतीय जनता पार्टी महानगर अध्यक्ष विद्यासागर राय की अध्यक्षता में सभी मोर्चों के अध्यक्ष की बैठक रविवार को क्षेत्रीय कार्यालय गुलाब बाग में हुई। उन्होंने कहा कि सभी मोर्चे के क्षेत्रीय एवं महानगर पदाधिकारियों को दो माह में आठ दिन महानगर की सीमा से सटे गांवों में प्रवास करने की जिम्मेदारी सौंपी गई है। गांव में प्रवास के दौरान मोर्चे के कार्यकर्ता केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं के लाभार्थियों से व्यक्तिगत संपर्क करेंगे।

ग्राम प्रधान एवं पंचायत सदस्यों से ग्राम विकास की योजनाओं के बारे में चर्चा कर कितने घरों में शौचालय बने और कितने में अभी बाकी हैं उसका ब्योरा तैयार करें। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत अभी तक कितने लोगों को योजना का लाभ मिला और कितने बाकी है। प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत कितने किसानों के खाते में पैसा गया, जिनके खाते में पैसा नहीं गया उसकी वजह क्या थी। उज्ज्वला योजना की प्रगति क्या है। गांवों में प्रवास कार्यक्रम उसी का एक हिस्सा है।  महिला मोर्चा की महानगर अध्यक्ष कुसुम सिंह पटेल, युवा मोर्चा के सौरभ मिश्रा, अनुसूचित जाति के कार्यकर्ता अनिल सागर, अल्पसंख्यक मोर्चा के कार्यकर्ता शकील अहमद, किसान मोर्चा के कार्यकर्ता बबलू सेठ, पिछड़ा मोर्चा के कार्यकर्ता स्वराज यादव, अनुसूचित जनजाति के कार्यकर्ता संजय सोनकर के नेतृत्व में गांवों में प्रवास करेंगे। बैठक में चंद्रशेखर उपाध्याय, डा. संध्या पांडेय, अशोक कुमार पांडेय आदि मौजूद थे।

पशु किसान क्रेडिट कार्ड योजना कि सम्पूर्ण जानकरी Pashu kisan Credit Card Yojana

16 को निकलेगा किसान उपहार लक्की ड्राॅ किसान योजना Today Update

अखिल भारतीय पेस्टीसाइड यूनियन की अग्रोहा इकाई अाैर किसान सेवा सेंटर के तत्वावधान में 16 दिसंबर को एक अग्रोहा में डे एंड नाइट होटल के प्रांगण में एक जिलास्तरीय किसान सम्मेलन का आयोजन जाएगा। जिसमें किसान के लिए प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिता व किसान उपहार लक्की योजना का ड्रा निकाला जाएगा। कार्यक्रम में नामी बीज कपंनिया बीजों व दवाइयाें की प्रदर्शनी लगाएंगी और किसान को पैदावार बढ़ाने के लिए भी जानकारी दी जाएगी। यह जानकारी देते हुए पेस्टीसाइड यूनियन के महासचिव मनोज महता ने बताया कि इसके अलावा किसानों के लिए सांस्कृतिक का भी आयोजन किया गया है। कार्यक्रम किसानों को उपहार देकर सम्मानित किया जाएगा।

गाँवों में नोकरी देने के लिय शुरू हुए मोदी सरकार कि Soil Health Card Scheme

अब खेतों में फसल के साथ बिजली का भी उत्पादन कर सकेंगे यूपी के किसान

उत्तर प्रदेश के किसान आने वाले दिनों में अपने खेतों में कृषि उपज के साथ-साथ बिजली का भी उत्पादन करेंगे जिससे उनकी आय तो बढ़ेगी ही, प्रदेश के विकास की गाड़ी में ईंधन भी उनके खेत का होगा। यह बात उत्तर प्रदेश के ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री श्रीकान्त शर्मा ने विश्व एवं राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण दिवस के उपलक्ष्य में यूपीनेडा की ओर से आयोजित एक कार्यक्रम में ‘पीएम किसान ऊर्जा सुरक्षा एवं उत्थान महाभियान (कुसुम योजना – ए और सी) तथा आदित्य ऐप के शुभारंभ के मौके पर कही।

उन्होंने कहा, ”कुसुम-ए योजना के तहत किसान अपनी जमीन पर 0.5-2 मेगावॉट तक के सौर ऊर्जा संयंत्र लगा सकते हैं। मौजूदा वर्ष में सरकार कुल 75 मेगावाट की क्षमता के ऐसे सौर संयंत्र किसानों और विकासकर्ताओं की मदद से लगवाएगी। सरकार यह बिजली उचित दर पर खरीदेगी और किसान को प्रत्यक्ष लाभ होगा।
वहीं, कुसुम-सी के तहत मौजूदा निजी ट्यूबवेलों को ग्रिड कनेक्टेड सोलर पम्पसेट्स में बदला जाएगा। इसके लिए सब्सिडी भी दी जाएगी और सिंचाई के लिए किसान की बिजली पर निर्भरता समाप्त होगी। आमतौर पर 150-185 दिनों तक किसान सिंचाई करता है। अन्य दिनों में पैनल से बनी बिजली ग्रिड में जाएगी और किसान बिजली बेचकर भी आमदनी कर सकेगा।

ऊर्जा मंत्री ने यूपीडेस्को द्वारा बनाये गए आदित्य-टीएंडई ऐप को लांच करते हुए बताया, ”यह ऐप प्रदेश के 6000 प्रशिक्षित सूर्यमित्रों के लिए रोजगार के पोर्टल और गैर प्रशिक्षित युवाओं को ट्रेनिंग और प्लेसमेंट दिलाने में मददगार होगा। वहीं आदित्य-सी ऐप की मदद से सौर ऊर्जा संयंत्रों का उपयोग कर रहे उपभोक्ता कोई खराबी आने पर उसे ठीक कराने के लिए नजदीकी सूर्यमित्र से संपर्क कर सकेंगे।

उन्होंने कहा, ”भारत को जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक में नौवां रैंक मिला है। पहली बार भारत टॉप 10 में आया है। ऐसा अक्षय ऊर्जा को बढ़ावा देकर ग्रीन हाउस गैसों के उत्सर्जन में कमी लाने तथा ऊर्जा के बेहतर इस्तेमाल से हुआ। चीन, अमेरिका, रूस, ऑस्ट्रेलिया भी रैंकिंग में हमसे काफी पीछे हैं।

किसान योजना Today Update

ऊर्जा मंत्री ने बताया, ‘वर्ष 2022 तक उप्र में 10,700 मेगावाट सौर ऊर्जा उत्पादन का लक्ष्य है। सिंचाई के लिए 25,511 सोलर पंप दिए जा चुके हैं। प्राथमिक विद्यालयों में स्वच्छ पेयजल के लिए 2,727 सोलर आरओ वाटर प्लाण्ट लगाए जा चुके हैं। प्रदेशभर में 2 लाख 70 हजार सोलर स्ट्रीट लाइट लगाई गई हैं।

उन्होंने छात्रों और उपस्थित लोगों से कहा कि ऊर्जा संरक्षण और क्लीन एनर्जी-ग्रीन एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए सरकार एलईडी बल्ब, सोलर स्ट्रीट लाइट, सोलर पंप, विंड एनर्जी, बायोमास फ्यूल, इलेक्ट्रिक वाहन और नैचुरल गैस को बढ़ावा दे रही है। इस मौके पर ऊर्जा एवं अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत मंत्री ने छात्रों द्वारा बनाए गए ऊर्जा संरक्षण के प्रोजेक्ट्स पर उन्हें सम्मानित किया और सभी को ऊर्जा संरक्षण की शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना Mukhyamantri Vishesh Swasthya Yojana- 20लाख तक फ्री ईलाज

काले गेहूं की खेती, 4 गांव के 1-1 किसान शामिल किसान योजना Today Update

पंजाब में बहुतायत में होने वाले काले गेहूं की खेती अब धमतरी जिले में भी होगी। इस खेती से जिले के किसानों को जोड़ने के लिए चारों ब्लॉक के एक एक गांव को शामिल किया गया है। पंजाब से 1.40 क्विंटल काला गेहूं मंगाया है। सुराजी योजना के तहत कृषि सुधार के लिए जिला प्रशासन और कृषि विभाग ने तैयार की है।

नगरी का आमगांव, कुरूद का सुपेला, मगरलोड का बेलौदी और धमतरी का भोयना योजना में शामिल है। यहां के किसानों का चयन भी कर लिया है। चयनित किसानों के अलावा अन्य किसानों को भी प्रशिक्षण दिया जाएगा। काले गेंहूं से होने वाली कमाई और इसके फायदे भी बताएं जाएंगे। कार्यशाला में सूक्ष्म सिंचाई पद्धति और जैविक खेती से भी रूबरू कराया जाएगा।

प्रयोग सफल रहा तो कुपोषण मुक्ति में होगा उपयोग: काले गेंहूं में सबसे ज्यादा फाइबर व आयरन होता है। प्रदेश सरकार कुपोषण मुक्ति अभियान चला रही है। जिले में यह प्रयोग सफल रहा तो काले गेंहूं का उपयोग बच्चों काे अतिरिक्त पोषण आहार देने में किया जाएगा।

जिले में काले गेंहू की खेती को बढ़ावा देने पंजाब से मंगवाया काला गेहूं।

जानिये काले गेहूं के फायदे

काले गेंहूं में सामान्य गेंहूं की तुलना में 5 गुना अधिक फाइबर पाया जाता है। हार्ट, डायबिटीज मरीजों के लिए भी यह फायदेमंद है। 25 प्रतिशत आयरन होता है। एनिमिया, गर्भवती माताओं के लिए भी यह फायदेमंद है। साथ ही इसमें कैल्सियम, जिंक भी पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है।

इसमें औषधीय गुण होते हैं

अत्मा योजना के प्रभारी अधिकारी एफआर पटेल ने बताया कि जिला प्रशासन के मार्गदर्शन में औषधीय गुणों वाला काला गेंहूं जिले में लगाया जाएगा। किसानों को इसके लिए जागरूक करेंगे। 6 प्रशिक्षण क्लास लगाएंगे। एक क्लास में 25- 25 प्रशिक्षु किसान रहते हैं। काले गेंहूं की खेती जैविक पद्धति से की जाएगी।
India All Board 10th, 12th Time Table 2020 Download

जिला स्तरीय सम्मेलन में किसानों काे दी मेड़बंदी की जानकारी किसान योजना Today Update

अर्पण सेवा संस्थान एवं सोनालिका सीएसआर परियोजना के तहत एक दिवसीय जिला स्तरीय किसान सम्मेलन रविवार को हाई स्कूल के मैदान में कृषि विभाग के उपनिदेशक किशोरी लाल वर्मा, पशु पालन विभाग के डॉ. तेजपाल चौधरी, सोनालिका के स्टेट एरिया मैनेजर प्रभात कुमार, सीएसआर के सीनियर अधिकारी अभिषेक द्विवेदी, अर्पण सेवा संस्थान के कृषि विशेषज्ञ संजय शर्मा के सानिध्य में आयोजित हुआ। इस मेले में किसान गोष्ठी प्रदर्शनी तथा प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया। जिला स्तरीय किसान मेले में आयोजित संगोष्ठी में कृषि विभाग के जिला उपनिदेशक किशोरी लाल वर्मा ने उपस्थित किसानों को बागबान सहित विभिन्न भागों में मिलने वाली सब्सिडी सहित विभिन्न विषयों के बारे में विस्तार से बताया।

किसान योजना Today Update


कृषि उपनिदेशक ने उपस्थित किसानों को खेत के चारों ओर मेड़बंदी के लिए पौधरोपण के लिए विभाग द्वारा मिलने वाली हर साल स्कीम के बारे में विस्तार से बताते हुए कहा कि पौधों के द्वारा की गई मेड़बंदी उपयोगी रहती है। पशुपालन विभाग के डॉ. तेजपाल चौधरी ने कृषि कल्याण योजना पशुओं के टीकाकरण के बारे में बताया तथा ओगम सहित विभिन्न बीमारियों के बारे में विस्तार से जानकारी दी।

अर्पण सेवा संस्थान के कृषि विशेषज्ञ अजय शर्मा में इस मेले के उद्देश्य कृषि एवं दैनिक उपयोग में जल की महत्ता व उपलब्ध बस जल का समुचित तरीके से उपयोग करने तथा जल संरक्षण के प्रति जागरूकता लाने की बात कही। मेले के अंत में किसानों को विभिन्न योजनाओं की जानकारी के लिए प्रश्नोत्तरी का आयोजन किया गया। जिसमें उपस्थित किसानों ने उत्साह से भाग लिया। प्रश्नोत्तरी में विजेता किसानों को पारितोषिक देकर सम्मानित किया गया। इस सम्मेलन में जिले के 296 किसानों ने भाग लिया।

जिला स्तरीय किसान सम्मेलन में सोनालिका के विकी कुमार, अर्पण सेवा संस्थान के परियोजना प्रबंधक संजय चौधरी, परियोजना के राज्य समन्वयक सियाराम प्रजापत, परियोजना समन्वयक गोविंद भाटी, मदनलाल, बद्री प्रसाद, मोतीराम, नारणाराम, धनेश पाराशर, हादी खान कोनरा, रामलाल सेन, कुंभाराम सहित कई किसान उपस्थित रहे।

प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना सूचि&आवेदन PM Awas yojana Gramin list & Apply

देसी गुड़ की खुशबू और सब्जियों से फिर महकेंगे किसान बाजार किसान योजना Today Update

संवाद सहयोगी, पठानकोट : रामलीला ग्राउंड पठानकोट में एक बार फिर किसान बाजार सजेंगे। इस बाजार में किसान स्प्रे रहित पूरी तरह से शुद्ध खाद्य पदार्थों को बेचेंगे। रविवार को किसान बाजार सैली रोड स्थित ट्रक यूनियन ग्राउंड में लगाया जाएगा। वहीं बुधवार ये बाजार कृषि विभाग के इंदिरा कॉलोनी स्थित दफ्तर में लगेगा।

इस बाजार की खास बात यह है कि देसी खाद से तैयार वस्तुओं को खाने के शौकीन लोगों के लिए यह बाजार बेहद लाभप्रद रहेगा। साल 2016 में पहले इस बाजार को पठानकोट में शुरू किया गया था, जिसमें लोगों ने इस बाजार में पहुंच कर ताजा सब्जियां-फल, आचार-चटनी के साथ-साथ अन्य खाद्य पदार्थों की खरीदारी में दिलचस्पी दिखाई थी। यही नहीं इन खाद्य पदार्थों को खरीदने के लिए शहर की कई जानी मानी हस्तियां, कारोबारी, प्रशासनिक अधिकारी भी बाजार में खरीददारी करते दिखते थे। मगर पिछले कुछ समय से ये बाजार कई कारणों से बंद हो गया था। 16 हजार किसानों को फायदा दिलाने के लिए बनी योजना

किसान योजना Today Update

जिला पठानकोट में 16 हजार किसान परिवार हैं। इन परिवारों को कृषि के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए ही ये योजना शुरू की गई है। किसान खुद अपनी वस्तुओं का मूल्य तय करेंगे। जिला प्रशासन का उद्देश्य कृषि के साथ जुड़े परिवारों में कृषि के प्रति रुचि पैदा करना और खेती को बचाना है। इसमें खपतकार के लिये फीडबैक देने के लिए भी योजना बनाई गई है। यदि खपतकार को वस्तु में कोई खामियां दिखती हैं तो वह सीधे तौर पर कृषि अधिकारियों से बात कर सकता है। बिचौलिया प्रथा खत्म करने के उद्देश्य से किया शुरू

खेतीबाड़ी विभाग के ब्लॉक अफसर डॉ. अमरीक सिंह ने बताया कि किसानों को आर्थिक रूप से सुदृढ़ बनाने और बिचौलिया प्रथा को खत्म करने के उद्देश्य से इसे शुरू किया गया है। आगामी दिनों में इसके ओर भी बढि़यां नतीजे देखने को मिलेंगे। इससे पहले कृषि विभाग पठानकोट में पराली न जलाकर प्रदूषण रहित बना चुका है और अब उनका एकमात्र उद्देश्य लोगों को स्वास्थ्यव‌र्द्धक खाद्य पदार्थ मुहैया करवाना है।

संयुक्त कृषि भवन का मंत्री ने किया उद्घाटन किसान योजना Today Update

खुशकीबाग कृषि प्रक्षेत्र में निर्मित नए संयुक्त कृषि भवन का बिहार सरकार के कृषि मंत्री के द्वारा उद्घाटन किया गया। इस दौरान उन्होंने जिले के सभी 246 पंचायतों में बनाए गए कृषि कार्यालय का भी उद्घाटन किया।

कृषि प्रक्षेत्र में बने संयुक्त प्रमंडलीय कृषि भवन के उद्धाटन के अवसर पर उन्होंने सरकार के द्वारा चलाई जा रही कृषि योजनाओं की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि सराकर के द्वारा किसानों के लिए किसान सम्मान योजना, किसान मानधन योजना के अलावा डीजल अनुदान, मुख्यमंत्री बीज ग्राम योजनाओं केलिए बीज का वितरण किया जा रहा है। साथ ही साथ पशुपालकों के लिए गव्य विकास योजन के तहत अनुदानित मूल्यों पर गाय उपलब्ध करवाया जा रहा है।

उन्होंने मौजूद सभी अधिकारियों को कृषि विभाग, पशुपालन विभाग, मत्स्य पालन विभाग की योजनाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार कर ज्यादा से ज्यादा लाभुकों को योजनाओं का लाभ देने का निर्देश दिया। कार्यक्रम के दौरान संयुक्त कृषि निदेशक शष्य मृत्युंजय कुमार, मंत्री के ओएसडी नरेंद्र कुमार लोहानी, जिला कृषि पदाधिकारी सुरेंद्र प्रसाद, जिला उद्यान पदाधिकारी मौजूद थे।

जन धन खाता धारको को सरकार की नई सोगात PM jan dhan yojana

2 thoughts on “किसान योजना Today 10 Update किसानो के लिय बड़े अपडेट

  1. सुधीर कुमार पाण्डेय

    फ्रि बोरींग के लिए अप्लाई किये 2साल हो गया 61ख,खसरा,खतोनी,फोटो,आधर और 500रूपया देने पर भी बोरींग नही हुआ किसानो के लिये सिर्फ कागज मे काम पूरा करते रहिये|अधिकारी इतना दौडा देते है कि किसानो को जाने मे डर लगता है|

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.