लेबर कार्ड लिस्ट झारखण्ड Labour Card Jharkhand

By | August 4, 2020

labour Card क्या है, लेबर कार्ड के फायदे , लेबर कार्ड कैसे बनांते है, लेबर कार्ड पंजीयन फॉर्म, लेबर कार्ड लिस्ट, झारखण्ड के मजदूर कैसे अपना लेबर कार्ड बना सकते है, कोन से मजदुर अपना लेबर कार्ड बना सकते है , Labour Card Jharkhand,

असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरो सरकार द्वारा पंजीयन किया जाता है जिसके बाद मजदूरो को एक कार्ड दिया जाता है ये कार्ड श्रम विभाग द्वारा जारी किया जाता है लेबर कार्ड को श्रमिक कार्ड व मजदुर कार्ड के नाम से जाना जाता है आज हम आपको इस पोस्ट में बताएँगे कि कैसे श्रमिक कार्ड बनाया जाता है कैसे इसका लाभ लिया क्या क्या इसके फायदे है आदि जानकारी

labour Card क्या है, लेबर कार्ड के फायदे , लेबर कार्ड कैसे बनांते है, लेबर कार्ड पंजीयन फॉर्म, लेबर कार्ड लिस्ट, झारखण्ड के मजदूर कैसे अपना लेबर कार्ड बना सकते है, कोन से मजदुर अपना लेबर कार्ड बना सकते है , Labour Card Jharkhand,

About Labour Card Scheme Jharkhand Hindi

झारखंड देश के सबसे उच्च औद्योगिक राज्यों में से एक है। झारखंड पूर्वी भारत का एक राज्य है। इसे 15 नवंबर 2000 को बिहार के दक्षिणी हिस्से से बाहर निकाला गया था। झारखंड उत्तर, उत्तर प्रदेश और छत्तीसगढ़ से लेकर पश्चिम में ओडिशा, दक्षिण में पश्चिम बंगाल और पूर्व में पश्चिम में बिहार के राज्यों के साथ अपनी सीमा साझा करता है। रांची शहर इसकी राजधानी है और दुमका उप राजधानी है जबकि जमशेदपुर राज्य का सबसे बड़ा और सबसे बड़ा औद्योगिक शहर है। झारखंड अपने समृद्ध खनिज संसाधनों जैसे यूरेनियम, मीका, बॉक्साइट, ग्रेनाइट, सोना, चांदी, ग्रेफाइट, मैग्नेटाइट, डोलोमाइट, फायरक्ले, क्वार्ट्ज, फील्ड्सपर, कोयला (भारत का 32%), लोहा, तांबा (भारत का 25%) के लिए प्रसिद्ध है।

आदि वन और वुडलैंड राज्य के 29% से अधिक पर कब्जा करते हैं जो भारत में सबसे अधिक है। झारखंड व्यापार और अर्थव्यवस्था केंद्र क्षेत्र में रखे जाने वाले विभिन्न उद्योगों को पूरा करते हैं। झारखंड में व्यवसाय और अर्थव्यवस्था झारखंड के प्रशासनिक तंत्र का एक महत्वपूर्ण घटक प्रतीत होता है; यह झारखंड सरकार का यह पहलू है जो सरकार को इस औद्योगिक दुनिया की चुनौतियों का सामना करने में मदद कर रहा है।

झारखण्ड मजदुर कार्ड कैसे बनाए

झारखंड के व्यापार और अर्थव्यवस्था के बारे में बात करते हुए, यह कहा जा सकता है कि झारखंड में भारत में दो प्रमुख इस्पात संयंत्र हैं। बोकारो और टाटा आयरन एंड स्टील कंपनी के इस्पात संयंत्र झारखंड के क्षेत्र के भीतर रखे गए दो प्रमुख संयंत्र हैं। ये इस्पात संयंत्र न केवल झारखंड, बल्कि भारत की अर्थव्यवस्था की दिशा में बड़े पैमाने पर योगदान करते हैं।

राज्य के पास असंगठित क्षेत्र में बड़ी संख्या में कार्य बल भी है। 2011 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार 3.29 करोड़ जनसंख्या में से लगभग। 1.98 करोड़ की आबादी गैर-कामकाजी है। श्रम ब्यूरो द्वारा आयोजित रोजगार और बेरोजगारी सर्वेक्षण 2013-14 पर पासपोर्ट का सुझाव है कि श्रम बल भागीदारी दर (प्रति हजार) 15 वर्ष से अधिक आयु के व्यक्तियों के लिए और वर्तमान साप्ताहिक स्थिति दृष्टिकोण के अनुसार 489 थी जो राष्ट्रीय से नीचे थी। औसतन 525. एनएसएसओ की सर्वेक्षण रिपोर्ट बताती है कि संगठित क्षेत्र में केवल 15.6 लाख लोग कार्यरत थे। इसका मतलब यह है कि अप्रोक्स 90% कार्यबल असंगठित क्षेत्र में कार्यरत है।

असंगठित क्षेत्र मोटे तौर पर ऐसे सभी कारखानों, दुकानों और प्रतिष्ठानों को कवर करता है जिनमें 10 से कम श्रमिक, स्वरोजगार और कृषि श्रमिक हैं।

नागरिक इस पोर्टल का उपयोग निम्नलिखित उद्देश्यों के लिए कर सकते हैं-

  • विभिन्न श्रम अधिनियमों के बारे में जानकारी प्राप्त करना
  • दुकान और स्थापना अधिनियम के तहत स्थापना पंजीकरण
  • दुकान और स्थापना अधिनियम के तहत पंजीकरण प्रमाणपत्र में संशोधन
  • अनुबंध श्रम अधिनियम के तहत प्रधान कर्मचारी पंजीकरण
  • अनुबंध श्रम अधिनियम के तहत पंजीकरण प्रमाण पत्र में संशोधन
  • कारखानों अधिनियम के तहत मानचित्र स्वीकृति
  • भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण अधिनियम के तहत स्थापना पंजीकरण
  • भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण अधिनियम के तहत पंजीकरण प्रमाण पत्र में संशोधन
  • अनुबंध श्रम अधिनियम के तहत ठेकेदार लाइसेंसिंग
  • अनुबंध श्रम अधिनियम के तहत ठेकेदार लाइसेंस में नवीकरण
  • फैक्ट्री अधिनियम के तहत फैक्टरी लाइसेंस के लिए पंजीकरण
  • फैक्ट्री अधिनियम के तहत कारखाना लाइसेंस में नवीकरण
  • बॉयलर अधिनियम के तहत बॉयलर पंजीकरण
  • बॉयलर अधिनियम के तहत बॉयलर पंजीकरण का नवीकरण
  • फैक्ट्री अधिनियम के तहत फैक्टरी लाइसेंस में संशोधन
  • भवन और अन्य निर्माण श्रमिक कल्याण अधिनियम के तहत उपकर भुगतान
  • निर्माण श्रमिक पंजीकरण
  • समेकित ऑनलाइन रिटर्न
  • बीओसी कार्यकर्ता योजना लाभ
  • अनुबंध श्रम अधिनियम के तहत ठेकेदार लाइसेंस में संशोधन

झारखण्ड मजदुर कार्ड कैसे बनाए Majdur Card Jharkhand

Jharkhand असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदुर को योजनाओ का लाभ देने के लिए (Majdur Card jharkhand || labour Card Jharkhand || Shrmik Card jharkhand ) योजना शुरू कि गई है इसमें कारखाने सड़क निर्माण भवन निर्माण आदि कार्यो में लगे मजदुर व कारीगर अपना मजदुर (लेबर) कार्ड बना सकते है झारखण्ड के मजदुर अपना कई योजना का लाभ ले सकते है मजदुर कार्ड से मजदुर के बच्चो को छात्रवर्ती, आवास बनाने के लिए सहायता, महिलाओ को सहयता व बालिकाओ को विवाह सहयता आदि कई तरह की योजनाओ jharkhand majdur card से जुड़ी है यहा हम आपको झारखण्ड मजदुर कार्ड योजना का लाभ कैसे मिलता है कैसे मजदुर अपना कार्ड बना सकते है

harkhand लेबर कार्ड पोर्टल के बारे में

राज्य के पास असंगठित क्षेत्र में बड़ी संख्या में कार्य बल भी है।

2011 की जनगणना के आंकड़ों के अनुसार 3.29 करोड़ आबादी में से लगभग। 1.98 करोड़ जनसंख्या गैर-कामकाजी है। रोजगार और बेरोजगारी सर्वेक्षण पर 2013-14 में श्रम ब्यूरो द्वारा आयोजित सर्वेक्षण बताता है कि 15 वर्ष और उससे अधिक आयु के व्यक्तियों के लिए श्रम बल भागीदारी दर (प्रति हजार) वर्तमान साप्ताहिक स्थिति दृष्टिकोण 48 है जो राष्ट्रीय से नीचे है औसत एनएसएसओ सर्वेक्षण की रिपोर्ट बताती है कि संगठित क्षेत्र में केवल 15.6 लाख लोग कार्यरत थे। इसका अर्थ है कि कार्यबल का लगभग .90% असंगठित क्षेत्र में कार्यरत है। असंगठित क्षेत्र मोटे तौर पर ऐसे सभी कारखानों, दुकानों और प्रतिष्ठानों को कवर करता है

जिनमें 10 से कम श्रमिक, स्वरोजगार और कृषि श्रमिक हैं।

कोन बना सकता है झारखण्ड मजदुर कार्ड

एसे मजदुर जो असंगठित क्षेत्र में काम करते है मजदुर कार्ड बना सकते है असंगठित का मतलब

1- अकुशल कारीगर और भवन और सड़क निर्माण के कार्यकर्ता
2- राजमिस्त्री
3- राजमिस्त्री हेल्पर
4- बढ़ई
5- लोहार
6- पेंटर
7- इलेक्ट्रीशियन
8- टाइल मिस्त्री
9-केन्द्रित और लोहे का बांधना
10 – गेट ग्रिल वेल्डिंग रिड्यूसर
11- कंक्रीट मिक्सर
12- सीमेंट घोल मिक्सर
13- रोलर चालक
14 – सड़क पुल आदि बनाने वाले कारीगर और सहायक।
15- मनरेगा कार्य में बागवानी और वानिकी को छोड़कर श्रमिक
इसके अलावा, मजदुर कार्ड योजना में मजदुर कारीगरों की कई श्रेणियां शामिल हैं।

jharkhand मजदुर कार्ड के लिए पात्रता

Labour Card Jharkhand एसे लाभार्थी जो ऊपर दी गई श्रेणी में आते है व जिनकी आयु 18- 40 वर्ष है

मजदुर कार्ड झारखण्ड के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर अपना मजदुर कार्ड बना सकते है jharkhand Mjdur Card बनाए के लिए लाभार्थियों की निम्न आवश्यक दस्तावेज कि आवश्यकता होती है जो यहा आप देख सकते है

मजदुर कार्ड के लिए  आवश्यक दस्तावेज

jharkhand के लिए मजदुर कार्ड बनाने लिए कोन कोन से दस्तावेज कि आवश्यकता होती है

1- लाभार्थी का आधार कार्ड /पचानपत्र
2- पासपोर्ट फोटो
3- बैंक पास बुक
4- जोबकार्ड (यदि लागु हो तो )
5- राशन कार्ड
6- आवेदन फॉर्म
7- नियोजक (ठेकेदार) द्वारा 90 दिन कार्य करने का प्रमाण पत्र
8- आयु प्रमाणपत्र
इन दस्तावेज के साथ लाभार्थी अपना मजदुर कार्ड बना सकता है इसके अलावा अन्य दस्तावेज अगर आवेदन के समय लागु हो तो 

झारखण्ड लेबर कार्ड योजना Labour Card Yojana Jharkhand

  • श्रामिक औजार सहायता योजाना
  • साईकिल सहायता योजाना
  • समेकित आम आदमी बीमा सहायता योजाना
  • झारखण्ड निर्माण कर्मकार मृत्यु/दुर्घटना सहायता योजाना
  • मेधावी पुत्र/पुत्री छात्रवृत्ति योजाना
  • चिकित्सा प्रतिपूर्ति योजाना
  • चिकित्सा सहायता योजाना
  • मातृत्व प्रसुविधा योजाना
  • अंत्येष्टि सहायता योजाना
  • विवाह सहायता योजना
  • पेंशन योजाना
  • निःशक्तता पेंशन योजाना
  • परिवार पेंशन योजाना
  • अन्नाथ पेंशन योजना
  • निर्माण श्रमिक सेफ्टी किट योजना

झारखण्ड मजदुर कार्ड के लिए अप्लाई कैसे करे

अगर आप झारखण्ड के नागरिक है और मजदुर कार्ड के लिए आप आवेदन करना चाहते है तो आपको बता दे कि आप ऑनलाइन या ऑफलाइन आवेदन के माध्यम से ऊपर दी गए निम्न पात्रता व दस्तावेज के साथ अपना मजदुर कार्ड बना सकते है इसके लिए या तो आप झारखण्ड welfire बोर्ड कि ऑफिसियल वेबसाइट के माध्यम से ऑनलाइन भी आवेदन कर सकते है व ऑफलाइन आवेदन डाउनलोड कर बोर्ड में फॉर्म जमा कर आवेदन कर सकते है
सबसे पहले झारखण्ड Welfire Board – https://shramadhan.jharkhand.gov.in
पर जाए यहा से आवेदन पत्र डाउनलोड कर आवेदन करे

Leave a Reply

Your email address will not be published.