मुंबई से हजारों श्रमिकों को लेकर उत्तरप्रदेश के लिए निकली ट्रेन 8 राज्यों को पार कर इस जगह पहुंच गई(shramik train)

shramik train helpline number,shramik train booking,shramik train
application, shramik train apply,uttr prdesh shramik train contact number,shramik trains how to book,shramik train in lockdown,uttar pradesh shramik train

आज हम आपको बतायेगे कि जो मुंबई से हजारों श्रमिकों को लेकर उत्तरप्रदेश
के लिए निकली ट्रेन कहा तक पहुची है इसके लिए आप इस आर्टिकल को पढ़े

उत्तरप्रदेश श्रमिक:-

जैसा कि इस समय देश में कोरोना वायरस से पुरे देश में हाहाकार मचा हुआ है और
सरकार ने लोगो कि सुरक्षा के लिए पुरे देश में लोकडाउन लगा रखा है ऐसे में उन लोगो
के लिए समस्या खादी हो गई है जो काम करने के लिए किसी दुसरे राज्य में गये हुए है
क्योंकि सभी राज्यों ने अपनी अपनी सीमा सील कर दी जिसकी वजह से श्रमिक अपने
अपने राज्य में वापिस नही आ जा सकते है लेकिन उत्तरप्रदेश सरकार ने अपने राज्य
में श्रमिको को वापस अपने राज्य में लाने के लिए कई तरह के अभियान चला रखे है
जिससे लगभग श्रमिकों को वापस बुला लिया गया है

लेकिन फिर भी बहुत से श्रमिक दुसरे राज्यों में रह गये उनके लिए केंद्र सरकार ने सभी
श्रमिको को अपने अपने राज्यों में वापिस भेजने के लिए रेन सेवा को चालु कर दिया है
इस रेल सेवा को स्पेशल श्रमिक रेल सेवा कहा जाता है ऐसे में इस लोकडाउन के समय
में मुंबई से उत्तरप्रदेश के हजारो मजदूरों को लेकर चली है ट्रेन इस समय ओड़िसा के
राउरकेला पहुच गई है

ट्रेन का रूट बदल दिया गया:-

21 मई 2020 को मुंबई से हजारों श्रमिकों को लेकर उत्तरप्रदेश के लिए निकली ट्रेन का
रूट बदल दिया गया इस ट्रेन को मुंबई के वसई क्षेत्र से होकर एक छोटे रास्ते से
गुजरकर उत्तरप्रदेश के गोरखपुर जाना था मगर इसका रूट बदल दिया गया और यह
ट्रेन 8 राज्यों से गुजरती हुई ओड़िसा राज्य में पहुँच गई

रेलवे का बयान:-

हजारों श्रमिको को लेकर उत्तरप्रदेश के लिए निकली ट्रेन जब 8 राज्यों को पार करती
हुई ओड़िसा राज्य में पहुँच गई तो सियासत गरमा गई और बात आगे बदने लग गई
तब रेलवे कि तरफ से एक बयान आया जिसमे कहा गया है कि रास्तों में ट्राफिक कि
समस्या के कारण तरीन का रूट बदला गया है क्योंकि रास्तों में और भी कई ट्रेनों के
सफर के कारण ट्राफिक के डर से रूट बदल दिया गया पश्चमी रेलवे प्रवक्ता रविन्द्र
भाकर ने बताया कि जो श्रमिक स्पेशल ट्रेन 21 मई को हजारों श्रमिकों को लेकर
उत्तरप्रदेश के गोरखपुर के लिए रवाना हुई थी उसकी निर्धारित स्टेशनों से जैसे
कल्याण,जलगाँ,भुसावल,खंडवा,इटावा,जबलपुर,होकर गोरखपुर जाना था मगर
ट्राफिक कि समस्या के कारण ये ट्रेन बिलासपुर,झारसुगुडा, होते हए राउरकेला पहुच
गई मगर चिंता कि कोई बात नही अब इन्ही रास्तों से होते हुए ये ट्रेन गोरखपुर पहुचेगी

श्रमिकों का रेलवे के ऊपर आरोप:-

मुंबई से चली श्रमिक ट्रेन जब ओड़िसा पहुच गई तो उसमे सवार यात्रियों ने रेलवे के
उपर आरोप लगाया है कि जब रेलवे को इस रास्ते से सफर तय करना था तो उसकी
सुचना श्रमिकों को क्यों नही दी गई श्रमिको ने कहा है कि इस ट्रेन में रेलवे कि तरफ से
खाने कि कोई व्यवस्था नही कि गई है और न हि पिने के लिए पानी कि व्यवस्था कि
गई है हमको इस ट्रेन में काफी समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है

Leave a Comment

Your email address will not be published.