विधायक कि सैलरी क्या होती है जानिये~MLA Salary In India

विधायक कि सैलरी कितनी होती है | mla salary in india | mla salary and benefits in india | विधायक के वेतन के बारे में | mla salary details

(विधायक कि सैलरी) – दोस्तों हम आपको आज इस पोस्ट के माध्यम से विधायक कि सैलरी के बारे में तथा इसकी योग्यताओं और कार्यकाल के बारे में विस्तार से बतायेगे क्योंकि देश में बहुत से ऐसे लोग है जो अपने हि तहसील यानी अपने हि क्षेत्र के विधायक के वेतन के बारे में नही जानते है ऐसे लोगों को आज हम उनकी सैलरी के बारे में बतायेगे इस आर्टिकल में राज्य वाइज विधायकों के वेतन कि जानकारी देंगे बहुत से विधायक देश में ऐसे मिल जायेगे जिनकी सैलरी देश के प्रधानमंत्री से भी कही ज्यादा है बहुत से लोगों को ये भी नहीं पता है कि MLA शब्द का पूरा नाम क्या है अगर आप भी इसके बारे में पूरा जानने के इन्छुक है तो पोस्ट को पूरा पढिये

विधायक कि सैलरी क्या होती है जानिये~MLA Salary In India

MLA (विधायक) के बारे में जानकारी:-

देश में बहुत से लोग ऐसे भी है जिन्हें विधायक यानी MLA के पुरे नाम कि जानकारी हि नही है MLA का पूरा नाम Member Of Legislative Assembly होता है और इसे राज्य कि विधानसभा का सदस्य कहा जाता है विधायक का चयन उसकी तहसील कि जनता द्वारा किया जाता है जब राज्य के सभी विधायक जीतकर विधान सभा में जाते है तो वहा उन सभी विधायकों में से एक विधायक को मुख्यमंत्री के रूप में चुना जाता है विधायक का चुना लड़ने के लिए तहसील से कितने भी उमीदवार खड़े हो सकते है

पद का नामविधायक
टाइपविधायक कि सैलरी
अपडेट2020-21
सरकारी योजनाSarkari Yojana

यदि किसी व्यक्ति के पास चुनाव के लिए कोई पार्टी नही है तो भी वह निर्दलीय खड़ा होकर चुनाव लड़ सकता है जितने के बाद वह उस क्षेत्र का विधायक बन जाता है जैसा कि आपको बता दे कि हमारे देश में शाशन व्यवस्था को चलाने के लिए उसे तीन भागों में बाँट दिया गया है जिसमे पहली केंद्र सरकार जो केंद्र के रूप में नेत्रत्व करती है उसके बाद दूसरी राज्य सरकार और तीसरी ग्राम पंचायटत,पंचायत और नगरपालिका के रूप में कार्य करती है इन तीनों पार्टियों के अलग अलग कार्य होते है जो उनके क्षेत्र के हिसाब से बांटे गये है जिस तरह प्रधानमंत्री पुरे देश का मुखिया होता है ठीक उसी तरह विधायक भी अपने क्षेत्र का प्रधान होता है जो जनता कि सेवा के लिए चुना जाता है जनता कि बात को विधानसभा में रखता है जनता के हित के लिए कार्य करता है

विधायक कि सैलरी(MLA Salary In India):-

देश के सभी राज्यों के विधायकों कि सैलरी अलग अलग है क्योंकि बहुत से राज्य ऐसे भी जिनमे विधायकों का वेतन देश के प्रधानमंत्री जी से भी ज्यादा है विधायक कि सैलरी 2.5 लाख रूपये से लेकर 35 हजार रूपये प्रति महिना तक है विधायकों को वेतन विधायक निधि के तहत दी जाती है विधायक निधि कि और से हर साल 1 करोड़ रूपये से लेकर 4 करोड़ रूपये का बजट विधायकों कि सैलरी के लिए दिया जाता है जिसके बाद उस विधायक निधि में से विधायक कि सैलरी दी जाती है ये वेतन उनके बैंक खाते में ट्रांसफर किया जाता है इस आर्टिकल में हम आपको सभी राज्यों के विधायकों कि सैलरी के बारे में बतायेगे

महारास्ट्र 1.70,तेलंगाना 2.50,उत्तरप्रदेश 1.87 लाख,राजस्थान 1.25 लाख,जम्मू कश्मीर 1.60,पंजाब 1.14,बिहार 1.14,हरियाणा 1.15,दिल्ली 2.10,गोवा 1.17,मेघालय 59 हजार,मणिपुर 37,त्रिपुरा 34,गुजरात 65,मिजोरम 47,नागालेंड 36,असम 42,पश्चिम बंगाल 1.13,मध्यप्रदेश 1.10,उतराखंड 1.60,हिमाचल प्रदेश 1.25,पांडूचेरी 50 हजार,उड़ीसा 62,छतीसगढ़ 1.10,सिक्किम 86.5,तमिलनाडु 1.05,केरल 70,झारखण्ड 1.11,अरुणाचल प्रदेश 49

किसान क्रेडिट कार्ड आवेदन फॉर्म

पेंशन सुविधा:-

विधायक कि सैलरी के अलावा और भी बहुत सि सेवाओं का लाभ दिया जाता है और जब विधायक अगले चुनाव में हार जाता है वह जनता द्वारा विधायक नही चुना जाता है तो उसके बाद उसे तय नियमानुसार 30 हजार रूपये प्रति महिना के हिसाब से पेंशन राशि का लाभ दिया जाता है ये पेंशन राशि देश के सभी राज्यों के विधायकों को एक समान हि दी जाती है

विधायक बनने के लिए आयु कितनी आवश्यक है?

MLA बनने के लिए व्यक्ति कि आयु कम से कम 25 वर्ष होनी चाहिए क्योंकि इससे कम आयु का व्यक्ति विधायक चुने जाने के लिए योग्य नही माना जाएगा तथा निर्वाचन क्षेत्र का मतदाता होना हि आवश्यक है

मिलने वाली सुविधाएं:-

MLA को मिलने वाली सुविधाएं निम्न प्रकार है

  • ट्रेन यात्रा निशुल्क
  • रहने कि निशुल्क सुविधा
  • लैंडलाइन सेवा मुफ्त
  • मोबाइल फ़ोन सेवा निशुल्क
  • दैनिक भत्ता अलग से
  • अन्य किये जाने वाले खर्चे के लिए अलग से पैसे
  • निशुल्क चिकित्सा सेवा

राज्यपाल कि सैलरी कितनी है जाने ~ Governor Of Salary In India

विधायक का कार्यकाल:-

MLA (विधायक का कार्यकाल 5 वर्षों का होता है इसके बाद उसे अपने पद का त्याग करना पड़ता है यदि फिर से जनता कि और से उसी विधायक को चुना जाता है तो वह अपने पद को फिर से पांच वर्ष बाद ले सकता है इन 5 वर्षों में विधायक को अपने क्षेत्र में बहुत से विकास कार्य करवाने होते है ताकि जनता उसे फिर से विधायक के रूप में चुन ले

MLA चुने जाने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिए?

विधायक (MLA) के लिए निम्न प्रकार कि योग्यताओं का होना आवश्यक है जिसके बाद हि विधायक का चयन किया जाता है

  1. सबसे पहले व्यक्ति को भारत का मूल निवाशी होना जरूरी है
  2. व्यक्ति कि आयु 25 वर्ष होनी चाहिए
  3. जिस क्षेत्र में चुनाव लड़ा है वहा से विजय होना जरूरी है
  4. पागल घोषित किया हुआ नही होना चाहिए
  5. उस पर कोर्ट कैसे नही चल रहा हो
  6. किसी बैंक का कर्ज बकाया न हो या फिर बैंक कि और से दिवालिया घोषित किया हुआ नही होना चाहिए

Thanks for Comment