मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना 2021 Application Form - ALL GOVT YOJANA

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना 2021 Application Form

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना | mrityu viklang sahayata pension yojana | mrityu viklang sahayata pension yojana online apply | mrityu viklang sahayata akshmta pension yojana | मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में | मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना 2021 क्या है

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना | mrityu viklang sahayata pension yojana | mrityu viklang sahayata pension yojana online apply | mrityu viklang sahayata akshmta pension yojana | मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना में आवेदन करने की प्रक्रिया के बारे में | मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना 2021 क्या है

जिन मजदूरन के पास खुद का लेबर कार्ड होता है वो मजदूर लोग इस मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के सही पात्र माने गये गये है इस योजना तहत अब राज्य के पंजीकृत मजदूरों को इस योजना में शामिल करके उन्हें हर महीने पेंशन राशि का लाभ दिया जाता है यदि किसी निर्माण श्रमिक की किसी कारणवंस मृत्यु हो जाती है तो उसके पीछे उसके परिवार को आर्थिक सहायता राशि उत्तरप्रदेश सरकार की और से दी जायेगी इसके अलावा जो मजदूर विकलांगता जैसी बिमारी के शिकार हो जाते है

उन्हें हर महीने इस मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के तहत आर्थिक सहायता राशि पेंशन के रूप में जीवन यापन करने के लिए दी जाती है अगर किसी पंजीकृत मजदूर की किसी निर्माण दुर्घटना में या फिर किसी अन्य दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को 5 लाख रूपये तक की धनराशी का लाभ दिया जाता है लेकिन ये 5 लाख रूपये मजदूर के परिवार को एक साथ नही दिए जाते है बल्कि 1 लाख रूपये की राशि मृत्यु के बाद दी जाती है और बाकी की 4 लाख रूपये की राशि फिक्सडिपोजिट के रूप में दी जाती है

योजना से जुडकर इसका लाभ लेने के इन्छुक लेबर कार्ड धारक को इस योजना में आवेदन करना होगा तभी उसे या फिर उसकी मृत्यु के बाद उसके परिवार को अनार्थिक सहायता राशि प्रदान की जायेगी अगर कोई मजदूर किसी दुर्घटना में विकलांगता का शिकार हो जाता है तो उसे अपना जीवन यापन करने के लिए सरकार की तरफ से 3 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है

योजनामृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना
ऑफिसियल वेबसाइटhttp://upbocw.in/StaticPages/schemes.aspx
राज्ययूपी स्टेट के लिए
योजना किसके लिए हैपंजीकृत श्रमिक के लिए

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के बारे में जानकारी:-

यूपी सनिर्माण कर्म्कार्न कल्याण बोर्ड की और से इस मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना की सुरुआत की गई है अगर कोई मजदूर विकलांगता जैसी बिमारी से ग्रसित हो जाता है या फिर उसकी मृत्यु किसी दुर्घटना में हो जाती है तो उसके परिवार को उसके बाद अपना जीवन यापन करने में बहुत परेशानियों से लड़ना पड़ता है ऐसे मजदूरों को को विकलांगता की चपेट में आने पर अपना जीवन जीने के लिए 3 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है तथा हर महीने निर्धारित की गई पेंशन राशि का लाभ दिया जाता है

और यदि मजदूर किसी दुर्घटना में मृत्यु को प्राप्त हो जाए तो उसे 5 लाख रूपये की अरशी दी जाती है ताकि उसके परिवार को जीवन जीने में थोड़ी आसानी हो जाए 1 जनवरी 2021 से इस योजना को राज्य के सभी जिलों में सुरु कर दिया गया है योजना का लाभ उन्ही श्रमिकों को दिया आजायेगा जिन्होंने इस योजना में अपना पंजीयन करवाया है अगर किसी पंजीकृत मजदूर की मृत्यु हो जाती है तो उसके बाद योजना के तहत मिलने वाली धनराशी के लिए उसकी पत्नी,बेटा या फिर अविवाहित बेटी आवेदन कर सकती है जो मजदूर विकलांगता के शिकार हो जाते है

उन्हें हर महीने 1000 रूपये की आर्थिक पेंशन राशि उसके बैंक खाते में भेज दी जायेगी जिससे वह इस राशि का उपयोग अपने जीवन में जरूरी सामान को खरीदने के लिए कर सकता है जिस मजदूर की मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को मिलने वाले 5 लाख रूपये की राशि एक साथ में प्रदान नही की जाती है बल्कि ये राशि उसके परिवार को एक बार में 1 लाख रूपये तथा बाद में बची हुई राशि को हर महीने निर्धारित की गई क़िस्त के हिसाब से दी जायेगी

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना का मुख्य उदेश्य:-

जो निर्माण मजदूर है और लेबर कार्ड धाकर है जो रोजाना की कमाई के सहारे अपने घर का खर्चा चलाते है ऐसे मजदूर लोगों को इस योजना में शामिल किया जाता है क्योंकि ऐसे मजदूरों किसी निर्माण दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है या फिर विकलांगता अपनी चपेट में ले लेती है जिसके कारण उनका शरीर काम करना बंद कर देता है और वो लोग काम पर नही जा पाते है जिसके कारण उनके घर का खर्च नही चल पाता है और मृत्यु हो जाने पर परिवार की हालत और अधिक खरब हो जाती है तो ऐसे में जिन श्रमिकों की मृत्यु हो जाती है

उनके परिवार को 5 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है और विकलांग मजदूर को 3 लाख रूपये की आर्थिक सहायता तथा हर महीने 1000 रूपये की पेंशन राशि दी जाती है और यदि कोई मजदूर किसी सामान्य घटना में मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तो उसके परिवार को 2 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है ये राशि परिवार किए किसी पात्र सदस्य के बैंक खाते में सरकार की और से ट्रांसफर कर दी जाती है

Mrityu Viklang Sahayata Pension Yojana (मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना) के लाभ:-

  • विकलांग श्रमिक जो पंजीकृत है उसे विकलांगता जैसी स्तिथि में 3 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है
  • इसके साथ साथ विकलांग व्यक्ति को सरकार की और से हर महीने पेंशन राशि प्रदान की जाती है ताकि वह विकलांगता की स्तिथि में अपना जीवन आसानी से व्यतीत कर सके
  • योजना के तहत मिलने वाली पेंशन राशि और 3 लाख रूपये की धनराशी उसके बैंक खाते में ट्रांसफर की जाती है
  • पंजीकृत मजदूर की किसी निर्माण कार्य के दोरान दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को अपना जीवन यापन करने के लिए 5 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि दी जाती है
  • अगर कोई पंजीकृत मजदूर बिना किसी दुर्घटना के ही मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तो उसके परिवार के सदस्य को 2 लाख रूपये की सहायता राशि दी जाती है
  • मजदूर को इस योजना का लाभ लेने के लिए पहले अपना आवेदन करना होता है
  • यदि आवेदन करने वाली महिला मजदूर है और वह गर्भवती है और प्रसव के समय उसकी मृत्यु झो जाती है तो भी सरकार की और से इसे दुर्घटना मानकर परिवार को 5 लाख रूपये की आर्थिक सहायता राशि प्रदान की जाती है
  • यदि किसी मजदूर के पास लेबर कार्ड नही है जो श्रम विभाग के कार्यालय में पंजीकृत नही है और उसकी किसी निर्माण कार्य के दोरान दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है तो उसके परिवार को 50 हजार रूपये की सहायता राशि इस मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के तहत दी जायेगी
  • अगर कोई पंजीकृत मजदूर किसी दुर्घटना में घायल हो जाता है और वह मजदूरी करने के लायक नही रहता है तो उसे हर महीने 1000 या 1250 या फिर 1500 रूपये की पेंशन राशि प्रदान की जायेगी
  • मजदूर के परिवार की आर्थिक स्तिथि में सुधार लाने के उदेश्य से इस मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना को उत्तरप्रदेश सरकार की और से जारी किया गया है
  • अगर कोई मजदूर आंशिक रूप से विकलांग हो जाता है तो उसे 1 लाख रूपये की राशि प्रदान की जायेगी वो भी उसके बैंक खाते में

घम्भीर बिमारी सहायता योजना 2021 आवेदन Online Application Form

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के आवेदन के लिए योग्यताएं क्या क्या है?

  1. जिन मजदूरों के पास लेबर कार्ड है उन्हें इस योजना का लाभ खस करके दिया जाएगा
  2. अगर मजदूर किसी पेंशन योजना का लाभ ले रहा है या फिरि किसी बिमा योजना के तहत मिलने वाली पेंशन के लिए आवेदन कर चूका है तो उसे इस योजना में समिलित नही किया जाएगा
  3. अगर कोई पंजीकृत मजदूर किसी दुर्घटना में विकलांग हो गया है तो उसका शरीर कम से कम 50% विकलांग होना जरूरी है तभी वह इस योजना का लाभ ले पायेगा
  4. उत्तरप्रदेश के स्थाई निवासी श्रमिक को इस योजना का सही लाभार्थी माना गया है
  5. यदि मजदूर की मृत्यु के बाद कोई योजना के तहत मिलने वाली राशि के लिए आवेदन करना चाहता है तो आपको बता दे की मजदूर की पत्नी,मजदूर का बेटा या फिर मजदूर की अविवाहित बेटी इसके लिए अप्लाई कर सकती है
  6. विकलांग पेंशन राशि के लिए मजदूर के नाम से स्वयं का बैंक अकाउंट होना जरूरी है
  7. घर में मुखिया मजदूर की दुर्घटना में मृत्यु या फिर विकलांग होने पर इस योजना का लाभ दिया जाएगा

मृत्यु विकलांग सहायता एवं अक्षमता पेंशन योजना के लिए दस्तावेज क्या क्या है?

  • पंजीकृत मृतक मजदूर का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • यदि मजदूर दुर्घटना में विकलांग हो गया है तो विकलांगता प्रमाण पत्र सरकारी अस्पताल का
  • मृतक मजदूर की मृत्यु के बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट का प्रमाण देना होगा
  • परिवार के सदस्य का बैंक खाता संख्या
  • विकलांग मजदूर का आधार कार्ड
  • उसका बैंक खाता संख्या
  • पासपोर्ट साइज फोटो

Mrityu Viklang Sahayata Pension Yojana में आवेदन कैसे करे?

  • सबसे पहले मजदूर को श्रम विभाग के कार्यालय में जाना पड़ेगा जिसके बाद वहा से आवेदन फॉर्म लेना है
  • आवेदन फॉर्म को सही सही भरना है और जो दस्तावेज बताये गये है उन्हें सही सही इसमें सलंग्न करना है
  • दस्तावेज लगाने के बाद मजदूर को इस आवेदन फॉर्म को इसी कार्यालय में जमा करवा देना है
  • अब यदि मजदूर की मृत्यु हो जाती है या फिर वह किसी दुर्घटना में विकलांग हो जाता है तो उसे इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा
  • अगर आप इस योजना के बारे में और भी जानकारी चाहते है तो इसकी ऑफिसियल वेबसाइट पर क्लिक करके इसके मुख्य पेज में दी गई जानकारी को नजान सकते है http://upbocw.in/StaticPages/schemes.aspx
  • इस वेबसाइट के पेज में आपको इस योजना से जुडी हर प्रकार की जानकारी मिल जायेगी जिसके जरिये आप इस समझ कर इसमें आवेदन कर सकते है

पंडित दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना 2021 फॉर्म Online Registration Form

Leave a Comment

Your email address will not be published.