Muh ki badbu ko dur karna-इसके कारण व घरेलू उपाय

Muh ki badbu ko dur karna-हमारे मुह मे आने वाली बदबू को विज्ञान की भाषा
मे हेलिटोसिस कहते है यह एक प्रकार की बहुत बड़ी समस्या है क्यो की व्यक्ति के पास
सक्ल -सूरत व पहनने को अच्छे कपड़े होते हुये भी शादी विवाह व पार्टियो मे सरमिंदा
होना पड़ सकता है आमतोर पर देखा गया है की आपसी मेलजोल के दोरान हमे कई एसे
लोग मिल जाते है जिनके मुह से हर वक्त बदबू आती रहती है इसके कई प्रकार के
कारण हो सकते है !

Muh ki badbu का कारण –

मुह मे बदबू आने के कई कारण हो सकते है जैसे -मुह मे दाँतो की बीमारी जैसे -पायरिया हो
जाना व स्कर्वी नामक बीमारी हो जाना ,मुह मे इम्पेक्स्न हो जाना ,भोजन का प्रकार ,तंबाकू
का सेवन करना ,अपने मुह की सही देखभाल नही करना जैसे -कुछ खाने के बाद मुह को
अच्छी तरह से साफ नही करना ,शरीर के सेहत संन्धित समस्या भी मुह मे बदबू आने का
कारण बन सकती है,डिहाइड्रेसन की स्थिति मे मुह का सुख जाना भी बदबू आने का कारण
बन सकता है क्यो की लार मुह को सवस्थ रखती है !

क्यो की हमारे स्लाईवा मे पाचक एंजाईम पाए जाते है जो भोजन का पाचन करते है इन
पाचक एंजाईम के संपर्क मे जबभी कोई बेक्टीरिया या वाइरस आता है तो ये उसको नष्ट कर
देते है ,इनके साथ साथ कुछ मिनरल व कुछ विटामिन की कमी भी मुह मे बदबू आने का
कारण बन जाती है ओर चाय व कॉफी का आवश्यकता से अधिक सेवन करना भी मुह मे
बदबू आने का कारण हो सकता है

TB (Tuberculosi) Disease-से परेशान क्यो जाने कारण ,लक्षण ,उपाय

Muh ki badbu ko रोकने के घरेलू उपाय

मुह की बदबू को रोकने के लिय दिन मे दो अधिक बार आराम दायक ब्रश करे जिससे मसूड़ो
को किसी प्रकार की परेशानी न हो ,किसी भी प्रकार के खाद्य पदार्थ का सेवन करने के बाद
अपने मुह को किसी एंटीसेफ़्टीक से जरूर साफ करे ध्यान रहे दाँतो के बीच मे भोजन का कोई
शेष भाग न रह पाए क्यो की यह बदबू आने का कारण बन सकता है एंटीसेफ़्टीक के रूप मे
नमक के पानी का भी इस्तेमाल मुह धोने के लिय कर सकते है !

सोंफ का इस्तेमाल

सोंफ हमारे मुह को साफ व खुसबूदार बनाने साथ साथ पाचन क्रिया मे भी अहम भूमिका
निभाती है सोंफ दालचीनी ,नींबू इलायची व नमक की तरह एंटीसेफ़्टीक का काम करती है
इसके साथ भोजन को पचाने मे भी सोंफ का महत्व पूर्ण योगदान रहता है

नींबू का इस्तेमाल

नींबू के रस को गुंगुने पानी मे डालकर साथ मे नमक मिलाकर इस्तेमाल करने से मुह साफ
बना रहता है बदबू जैसी शिकायत नही होती है क्यो की नींबू मुह मे बेक्टीरिया की बढ़ती
मात्रा को रोकने मे सहायक होता है नींबू विटामिन -सी का अच्छा स्त्रोत माना जाता है

अजवाइन का उपयोग

उबलते हुये पानी मे पीसी हुई अजवाइन डालकर पानी को ठंडा होने के लिय रख दे जब पानी
ठंडा हो जाए तो उसको एक साफ बोतल मे भरकर रख दे ओर बाद मे इसे मुह साफ करने के
लिय इस्तेमाल कर सकते है

नमक का पानी

नमक के पानी का इस्तेमाल भी मुह धोने के लिय किया जाता है क्यो यह भी एक
एंटीसेफ़्टीक के रूप मे काम आता है नमक का पानी भी मुह मे बेक्टीरिया की बढ़ती हुई
मात्रा को रोकता है मुह मे घाव व छाले होने पर भी इसके घोल का इस्तेमाल किया
जाता है इसलिय नमक एक अच्छा एंटीसेफ़्टीक है !

Shock Sharir Mein Kitne Prakar ka Hota Hai-जाने आघात के प्रकार

Leave a Comment