निक्षय पोषण योजना ऑनलाइन पंजीकरण nikshay poshan yojana registration Form

निक्षय पोषण योजना ऑनलाइन पंजीकरण, nikshay poshan yojana in hindi, nikshay poshan yojana advantages, nikshay poshan yojana registration, निक्षय पोषण योजना ऑनलाइन पंजीकरण, nikshay poshan yojana apply on-line ,

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बतायेगे कि केंद्र सरकार कि और से शुरु कि गई इस निक्षय पोषण योजना के तहत जो व्यक्ति टीबी नामक बिमारी का शिकार है उनको सरकार कि इस योजना के जरिये हर महीने 500 रूपये कि सहायता राशि प्रदान कि जाती है ये राशि रोगी के बैंक खाते में हर महीने समय पर ट्रांसफर कर दी जाती है जैसा कि आप सभी जानते है टीबी एक खतरनाक बिमारी है देश में बहुत से लोग ऐसे है

जो टीबी का इलाज करवाने में असमर्थ है उनको सरकार कि और से हर मुमकिन सहायता दी जाती है और उनको इस बिमारी के समय पोस्टिक आहार के लिए ये सहायता राशि दी जाती है तो आइये जानते है इस योजना से जुड़ने के लिए पंजीकरण प्रिक्रिया और पंजीकरण में लगने वाले दस्तावेजों के बारे में विस्तार से

nikshy Pension Yojana
निक्षय पोषण योजना

निक्षय पोषण योजना (Nikshay Poshan Yojana):-

निक्षय पोषण योजना कि सुरुआत देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने कि इस योजना का लाभ देश में टीबी रोग के शिकार हो चुके मिरीजों दिया जाएगा इस योजना के जरिये इन मरीजों को हर महीने सरकार कि और से 500 रूपये कि आर्थिक सहायता राशि दी जायेगी ताकि मरीज अपने स्वस्थ्य के लिए स्वस्थ आहार तथा दवा खरीद सके सरकार का मानना है कि टीबी के रोगी को स्वस्थ होने के लिए अच्छे इलाक के साथ साथ पोस्टिक आहार भी मिलना आवश्यक है देश में बहुत से ऐसे टीबी के मरीज है जिनको समय पर इलाज तथा पोस्टिक आहार नही मिल पाता है

YojanaNikshay Poshan Yojana
LocationAll India
Yojana TypeOnly TB Patient
Official Websitehttps://nikshay.in/
Update2020-21

जिसके कारण उनकी मृत्यु हो जाती है केंद्र सरकार कि आशा है कि इस योजना के शुरु हो जाने से देश में टीबी से मरने वालों कि संख्या में गिरावट आएगी रोगी को इस योजना का लाभ लेने के लिए ज्यादा परेशान नही होना पड़ेगा उसे वही से इस योजना का पंजीयन करवाना है जहाँ से उसका इलाज चल रहा है जैसे कोई स्वस्थ्य केंद्र,अस्तपाल आदि केंद्र सरकार कि इस Nikshay Poshan Yojana में देश के लगभग 13 लाख रोगियों को पात्र बनाया जाएगा हर महीने दी जाने वाली 500 रूपये कि सहायता राशि हर महीने रोगी के बैंक खाते में ट्रांसफर कर दी जायेगी जिसके बाद वह उन पैसो को अपने इलाज और अच्छे पोस्टिक भोजन के लिए निकाल सकता है

निक्षय पोषण योजना

जैसा कि आप सभी जानते है टीबी वैसे तो बहुत खरनाक बिमारी है मगर अब धीरे धीरे सरकार कि और से इस पर काबू पा लिया गया है मगर अब भी बहुत से ऐसे लोग है जो टीबी से छुटकारा नही पा रहे है और तो और इन लोगों के पास पैसे का भाव होने के कारण सही समय पर इसका इलाज नही करवा पाते है जिसके कारण ये बिमारी इनको अपना शिकार बना लेती बहुत से रोगियों का सही समय पर इलाज नही होने कि वजह से मृत्यु को प्राप्त हो जाते हैं

ऐसे में केंद्र सरकार कि और से इस Nikshay Poshan Yojana कि सुरुआत कि गई इस योजना के जरिये मिलने वाले लाभ के लिए इन्छुक व्यक्ति इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़े ताकि इसके ऑनलाइन पंजीकरण कि सही जानकारी प्राप्त हो सके

National Scholarship Portal

मरीजों की श्रेणी के आधार पर भुगतान अनुसूची

मरीजों की श्रेणीपहला प्रोत्साहनदूसरा प्रोत्साहनतीसरा प्रोत्साहनचौथा प्रोत्साहन
नये मरीजनामांकन के साथआईपी फॉलो – अप एग्जामिनेशन के बाद 2 महीने के लिएफॉलो – अप एग्जामिनेशन के बाद 6 महीने के लिएNA
औपचारिक रूप से रोगियों का ईलाजनामांकन के साथआईपी फॉलो – अप एग्जामिनेशन के बाद 3 महीने के लिएईलाज के बाद 5 महीने के लिएफॉलो – अप क्लिनिकल एग्जामिनेशन के बाद 8 महीने के लिए
टीबी से पीड़ित व्यक्तिनामांकन के साथफॉलो – अप एग्जामिनेशन के 2 महीने के लिएक्लिनिकल एग्जामिनेशन के बाद 4 महीने के लिएफॉलो – अप सेशन के दौरान 6 महीने के लिए

निक्षय पोषण योजना का मुख्य उदेश्य क्या है?

केंद्र सरकार कि और से शुरु कि गई इस निक्षय पोषण योजना का मुख्य उदेश्य है कि टीबी जैसे खतरनाक बिमारी को देश में फैलने से रोका जाए क्योंकि हर साल बहुत से मरीजों कि टीबी कि बिमारी कि वजह से हो जाती है हालांकि अब धीरे धीरे इस बिमारी पर काबू पा लिया गया है सरकार का मानना है कि टीबी के मरीज को अच्छी दवाई के साथ साथ पोस्टिक आहार भी मिलना जरूरी है क्योंकि कुछ मरीजों कि अच्छा पोस्टिक भोजन नही मिलने के कारण मृत्यु हो जाती है

ऐसे में मोदी सरकार कि और से इस योजना को शुरु किया गया है इस योजना के जरिये टीबी के मरीज को हर महीने 500 रूपये कि सहायता राशि प्रदान कि जाती है ताकि वह अपने लिए अच्छे पोस्टिक भोजन कि व्यवस्था कर सके और दवाइयां खरीद सके सरकार कि और से इस योजना का ऑनलाइन पोर्टल भी जारी किया गया है जिस पर ऑनलाइन पंजीकरण किया जा सकता है

निक्षय पोषण योजना से होने वाले फायदे:-

मोदी सरकार कीस योजना से टीबी के मरीजों को होने वाले फायदे निम्न प्रकार है आइये जानते है होने वाले फायदों के बारे में

  1. इस योजना का फायदा देश के सभी टीबी के रोगियों को मिलेगा 
  2. इस योजना के जरिये मरीज को हर महीने 500 रूपये कि आर्थिक सहायता राशि प्रदान कि जाती है
  3. साथ हि जिन मरीजों का इलाज चल रहा है उनको थेरेपी के लिए 2 महीने तक अलग से 1000-1000 रूपये कि राशि दी जायेगी 
  4. इस योजना का ये भी फायदा है कि अगर किसी मरीज के पास स्वयं का बैंक अकाउंट नही है तो अव अपने निजी व्यक्ति का बैंक अकाउंट भी इस योजना में लगा सकता है 
  5. सरकार कि और से शुरु कि गई इस योजना में देश के लगभग 13 लाख रोगियों को फायदा दिया जाएगा 
  6. इस योजना के शुरु हो जाने से देश में टीबी के रोगियों का डाटा भी मिल जायेगा कि कितने रोगी है इस बिमारी के
  7. इस योजना का मुख्य उदेश्य यही है कि देश में टीबी के रोगियों को सही पोस्टिक आहार और दवा उपलब्ध कराई जाए ताकि मरीजों कि संख्या में कमी आये
  8. जिन रोगियों का टीबी कि बिमारी का इलाज हो रहा है उन्ही को इस योजना का फायदा दिया जाएगा 

Nikshay Poshan Yojana के ऑनलाइन पंजीकरण के लिए आवश्यक दस्तावेज:-

जो भी इन्छुक व्यक्ति इस योजना का ऑनलाइन पंजीकरण करना चाहता है उसको पंजीकरण के लिए निम्न प्रकार के दस्तावेजों कि जरूरत पड़ेगी

  • रोगी का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र (वोटर आईडी)
  • बैंक खाता संख्या खुद का या फिर किसी और का 
  • डॉक्टर कि और से जारी किया गया प्रमाण पत्र 
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • राशन कार्ड

Deposit Nutrition Scheme Beneficiary List Creation Timeline

प्रत्येक टीवी पेशेंट की बैंक अकाउंट तथा आधार कार्ड के साथ निक्षय में एंट्री तथा फॉलोअप डिटेल्स  उसी दिन
लाभार्थी सूची प्रेपरे करने का दिनहर महीने की 1 तारीख
लाभार्थी सूची की जांच करने का दिनहर महीने की 3 तारीख
लाभार्थी सूची अप्रूव होने का दिनहर महीने की 5 तारीख
भुगतान करने का दिनहर महीने की 7 तारीख

निक्षय पोषण योजना का ऑनलाइन पंजीकरण कैसे होगा?

निक्षय पोषण योजना का ऑनलाइन पंजीकरण के लिए हमारे द्वारा बताये गये इन स्टेपों को फोलो करे

  • सबसे पहले आपको इस योजना कि आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जिसके बाद आपके सामने इस योजना का मुख्य पेज ओपन हो जाएगा https://nikshay.in/
  • अब आपको इस पेज में Login का ऑप्शन दिखाई देगा अगर आप पहले से इस योजना में पजीकृत है तो सीधे हि इस Login पर क्लिक कर सकते है और यदि पंजीकृत नही है तो Login के ठीक निचे आपको New Health Facility Registration का ऑप्शन मिलेगा जिस पर ओके करना है
निक्षय पोषण योजना ऑनलाइन पंजीकरण, nikshay poshan yojana in hindi, nikshay poshan yojana benefits, nikshay poshan yojana registration, निक्षय पोषण योजना ऑनलाइन पंजीकरण, nikshay poshan yojana apply online ,
  • Ok करते हि आपके सामने इस योजना का दूसरा पेज ओपन हो जाएगा 
  • इस पंजीकरण फॉर्म में आपसे पूछी गई जानकारी को सही सही भरना है और इसके ठीक निचे Continue के ऑप्शन पर क्लिक करना है
  • अब आपको एक ID कोड मिलेगा जिसे सम्भाल कर रखना है 
  • अब आपको इसके मुख्य पेज पर जाकर login करना है जिसमे आपको यूजर नेम और पासवर्ड डालने है
  • इसके बाद आपका ऑनलाइन पंजीकरण पूरा हो जाएगा 

Procedure to login on Narkati portal

  • First of all, you must go to the official website of the Nutrition Scheme.
  • Now the house web page will open in entrance of you.
  • On the house web page, you must click on on the login possibility.
nikshy Pension Yojana निक्षय पोषण योजना
login-form-nikshy yojana-2

After this, the login kind will open in entrance of you, during which you’ll have to enter your consumer identify and password.
Now you must click on on the login button.
In this manner, it is possible for you to to login on the Narkati portal.

निक्षय पोषण योजना हेल्पलाइन नंबर:-

यदि कि आवेदक को इस योजना के ऑनलाइन पंजीकरण में कोई समस्या आ रही है या फिर इस योजना से जुडी कोई और भी जानकारी लेनी है तो इसके हेल्पलाइन नंबर पर फोन करके जानकारी ली जा सकती है – 1800116666

Important Link

User Management – Merge

डुप्लिकेट हेल्थ सुविधा रिकॉर्ड को मूल रिकॉर्ड में मर्ज करें जिसे बनाए रखने की आवश्यकता है। उपयोगकर्ता स्वास्थ्य सुविधाओं के प्रकार का चयन कर सकते हैं जिसे वे मर्ज करना चुनते हैं। जब एक स्वास्थ्य सुविधा का विलय किया जाता है, तो मरीजों, परीक्षणों, कर्मचारियों, मर्ज किए गए स्वास्थ्य सुविधा के DBT रिकॉर्ड आदि के साथ सभी लिंकेज को बरकरार रखे हुए स्वास्थ्य सुविधा में स्थानांतरित कर दिया जाता है। विलय के बाद एचएफ अब उपयोगकर्ता प्रबंधन में दिखाई नहीं देगा। जब भी किसी स्वास्थ्य सुविधा का विलय होता है, तो अभिभावक पदानुक्रम (राज्य, जिला, टीयू और संबंधित स्वास्थ्य सेवाओं) को एक अधिसूचना भेजी जाती है।

Thanks for Comment