प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना Online आवेदन~Application Form

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन – PM Swamitva Yojana Official Website

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन, Pm swamitva yojana official website, Pm swamitva Yojana apply online, Ym swamitva Yojana registration, प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन,

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बतायेगे कि इस प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना कि सुरुआत देश के तत्कालीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने कि है इस योजान के तहत देश में ऐसे ग्रामीण लोगों को लाभ मिलेगा जिनका या तो वर्षों पुराना जमीन का विवाद चल रहा है या फिर किसी सरकारी जमीन का कोई रिकोर्ड नही है या किसान अपनी जमीन कि जानकारी अब ऑनलाइन देख पायेगा इसके लिए केंद्र सरकार कि मदद से पंचायती राज मंत्रालय ने ई-ग्राम स्वराज पोर्टल कि सुरुआत कि है तो आइये जानते है इस योजना के आवेदन और आवेदन में लगने वाले दस्तावेजों के बारे में विस्तार से

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन, Pm swamitva yojana official website, Pm swamitva Yojana apply online, Ym swamitva Yojana registration, प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना ऑनलाइन आवेदन,

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना (PM Swamitva Yojana):-

आज हम आपको बताने जा रहे है कि सरकार के पास आज भी बहुत से ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों का जमीन कि जानकारी नही है जिसके कारण उनकी जमीन पर कोई अन्य व्यक्ति अपना अधिपत्य जमाने कि कोशिश करता है लेकिन अब एसा नही होगा केंद्र सरकार कि और से इस प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना कि सुरुआत कि गई है इस योजना का लाभ देश के ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को होने वाला है क्योंकि केंद्र सरकार कि और से अब इन ग्रामीण लोगों को उनके जमीन के मालिकाना हक़ के ऑनलाइन कागजात लोगों को सोपने वाली है और जिस इलाकों में जमीन के आपसी विवाद चल रहे है उनसे भी अब ग्रामीण लोगों को छुटकारा मिलेगा इतना हि नही मोदी सरकार अब ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को उनके जमीन का सारा डाटा डिजिटल करके इन्हें प्रोपर्टी कार्ड भी वितरित करने वाली है

सरकार कि इस योजना से अब देश का हर ग्राम समाज ऑनलाइन हो जाएगा जिसके चलते अब कोई भी भू-माफिया या फिर कोई व्यक्ति फर्जीवाड़े से किसी दुसरे कि जमीन पर अपना अधिकार नही जमा पायेगा अवेध तरीके से भूमि को लूट भी बंद हो जायेगी इसे साथ साथ अब सरकारी जमीन और किसी निजी व्यक्ति कि सम्पति को ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से देखा जा सकेगा इतना हि नही सरकार कि इस योजना से अब हर ग्रामीण इलाके कि सरकारी जमीन या फिर किसी व्यक्ति कि निजी सम्पति कि मेपिंग कि जायेगी सरकार कि इस योजना के तहत अब देश के राजस्व विभाग कि और से लोगों कि जमीन के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों कि आबादी जमीन के दस्तावेज इकठे किये जाने शुरु कि दिए गये है

Yojana PM Swamitva Yojana
LocationAll India
Yojana TypeAll People Scheme
Official Websitehttps://egramswaraj.gov.in/

जो वर्षों से जमीनों के विवाद चले आ रहे है उन्हें भी राजस्व विभाग कि और से डिजिटल अरेंज्मेट के तहत निपटाए जाने पर विचार किया जा रहा है आपकी जानकारी के लिए बता दे कि माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने डिजिटल भारत का सम्पना देखा है उसे पूरा करने के लिए सरकार कि और से हर संभव प्रयास किये जा रहे है सरकार कि और से ई-ग्राम स्वराज पोर्टल जारी किया गया है जिस पर हर ग्राम कि समस्याए और ग्राम समाज से जुडी हर प्रकार कि जानकारी उपलब्ध रहेगी

Sarkari Yojana

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना में इन राज्यों को अभी सामिल किया गया है:-

केंद्र सरकार कि इस प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत प्रधानमंत्री जी ग्रामीण इलाके के लोगों को उनकी जमीन के मालिकाना हक़ के कागजात इन जिन राज्यों को सोंपने जा रहे है उनमे अभी 6 राज्यों का चयन किया गया है बाकी धीरे धीरे इसको देश के सभी राज्यों में लागू कर दिया जाएगा जिससे वर्षों से चले आ रहे जमीनी विवाद को निपटाने में आसानी हो जायेगी

  1. मध्यप्रदेश में 44 लोगों को उनकी जमीन का मालिकाना कागजात दिए जायेगे
  2. हरियाणा के 221 लोगों को
  3. कर्नाटक के 2 लोगों को 
  4. उतराखंड 50 लोगों को 
  5. महारास्ट्र 100 लोगों को 
  6. उत्तरप्रदेश में 346 लोगों को मालिकाना कागजात सोम्पे जायेगे 

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का मुख्य उदेश्य क्या है?

मोदी सरकार कि इस योजना का मुख्य उदेश्य है कि देश में ग्रामीण इलाकों के किसानो कि जमीन कि ऑनलाइन देखरेख कि जायेगी और उसकी ऑनलाइन मेपिंग भी कि जायेगी जिससे किसानो को उनकी जमीन का मालिकाना हक़ मिलेगा क्योंकि बहुत से ग्रामीण इलाके ऐसे है झा आज भी जमीन जमीन का ऑनलाइन ब्यौरा नही होने के कारण दूसरा व्यक्ति किसी और कि जमीन पर अपना मालिकाना हक़ जताने कि कोशिश करता है

इसमे सरकार कि इस योजना से लोगों कि जमीनी हक़ में पारदर्शिता आएगी और जो जमीन का सही हकदार है उसको उस जमीन के मालिकाना कागजात दिए जायेगें जैसे कि इस समय देश में कोरोना वायरस Covid-19 कि वजह से हर व्यक्ति परेशान है इसके चालते हर साल सरकार 24 अप्रल को पंचायती राज दिवस मनाती है उसे भी प्रधानमंत्री जी द्वारा वीडियों कोंफ्रेंसिंग के जरिये मनाया गया और प्रधानमंत्री जी ने लोगों को विडिओ कोंफ्रेंसिंग के जरिये हि संबोधित किया था जिसमे इस योजना का जिक्र किया गया था

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से होने वाले फायदे:-

मोदी सरकार कि इस प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना से ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को होने वाले फायदे निम्न प्रकार है आइये जानते है होने वाले फायदों के बारे में

  1. इस योजना के जरिये देश के हर ग्रामीण इलाके का मेपिंग किया जाएगा
  2. किसानो के खेतों और उनकी किसी निजी सम्पति कि मेपिंग कि जायेगी
  3. लोगों को जमीन का मालिकाना हक़ मिलेगा
  4. किसान कि जमीन पर कोई दूसरा व्यक्ति अपना हक़ नही जमा सकेगा
  5. ये मेपिंग ड्रोन कि मदद से कि जायेगी
  6.  भूमि को लेकर देश में फ़ैल रहे भ्रष्टाचार को रोकने में मदद मिलेगी 
  7. इस योजना के तहत जो किसान ग्राम पंचायत के अंतर्गत आयेगे उन्हें सरकार कि और से ऋण भी प्राप्त होगा
  8. इससे साथ साथ अब ग्रामीण इलाकों में सम्पति का नामाकन और अधिक आसान हो जाएगा 

सरकारी योजना – Sarkari Yojana List 2021

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का ऑनलाइन आवेदन किस प्रकार होगा?

अगर आप भी इस प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो आप हमारे इस तरीके को फोलो करके आसानी से आवेदन कर सकते है

  • सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा जिसके बाद आपके सामने इसका मुख्य पेज खुलेगा https://egramswaraj.gov.in/
  • अब आपको इस पेज में New Registration का ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करना है 
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने इस योजना का ऑनलाइन आवेदन फॉर्म ओपन हो जाएगा 
  • इस फॉर्म में आपसे पूछी गई जानकारी को सही सही भरना है 
  • फिर आपको अपने मोबाइल नंबर डालने है
  • इसके बाद आपको इसके ठीक निचे Submit का ऑप्शन दिखाई देगा जिस पर क्लिक करना है 
  • अब आपका ऑनलाइन आवेदन पूरा हो जाएगा और आपको इस योजना के बारे में कोई भी जानकारी आपके द्वारा दिए गये मोबाइल नंबर पर भेज दी जायेगी

Leave a Comment

Your email address will not be published.