राजस्थान मजदुर कार्ड: जाने कैसे बनाए (Labour Card Rajasthan Online Apply)

labour card rajasthan benefits,राजस्थान मजदुर कार्ड ऑनलाइन पंजीयन,labour card rajasthan in hindi,राजस्थान मजदुर कार्ड क्या है,labour card rajasthan online apply,राजस्थान मजदुर कार्ड कि जानकारी,राजस्थान मजदुर कार्ड के फायदे, labour card scholarship form rajasthan

राजस्थान मजदुर कार्ड: जाने कैसे बनाए (Labour Card Rajasthan Online Apply)

आज हम आपको इस आर्टिकल के माध्यम से बतायेगे कि किस राजस्थान मजदुर कार्ड बनवा कर राजस्थान सरकार कि और से मिलने वाले मजदूरों को फायदे का लाभ ले सकते है तो आइये जानते है इसके बारे में

राजस्थान मजदुर कार्ड:-

LDMS Rajasthan Welfire Board एसे मजदुर जो असंगठित क्षेत्र में काम करते है दिहाड़ी मजदूरी करते है उन मजदूरो के लिए राजस्थान मजदुर कार्ड योजना एक कल्याणकारी योजना है Rajasthan Majdur Card योजना में कई योजना सामिल है जैसे शुभ शक्ति योजना, लेबर आवास सहायता योजना, मजदुर कार्ड टूल किट योजना, प्रसूति सहायता योजना, छात्र वर्ती वर्ती योजना आदि

कई योजना राजस्थान लेबर कार्ड के साथ समलित है भवन निर्माण सड़क निर्माण, आदि में काम कराने वाले मजदुर या नरेगा में लगे मजदुर अपना मजदुर कार्ड बनाकर इन योजनाओ का लाभ ले सकते है Labour Card Rajasthan

YojanaLabour Card Rajasthan
LocationRajasthan
Yojana TypeMajdoor Scheme
Official WebsiteHttps://sso.rajasthan.gov.in
UpdateJuly 2020

राजस्थान मजदुर कार्ड योजना लिस्ट:-

कुल मिलाकर Labour Card Rajasthan में 10 से अधिक योजना सामिल है Labour Card Rajasthan यहा आप कुछ मुख्य Yojana की List देख सकते है जिनका लाभ मजदुर कार्ड के जरीय लिया जा सकता है
1- मजदुर आवास योजना – लाभार्थी को 1.50 लाख घर बनाने के लिए मिलते है
2- मजदुर कार्ड छात्रवर्ती योजना – इसमें कक्षा एक से डिग्री डिप्लोमा तक लाभ मिलता है
3- Majdur Card शुभ शक्ति योजना – दो बेटियों कि सादी तक 55-55 हजार रु


4- मजदुर कार्ड टूलकिट योजना – मजदूरी में काम आने वाले सामान के लिए 2-3 हजार का लाभ
5- प्रसूति सहायता योजना – महिला मजदुर व मजदुर कि पत्नी को 2 डिलीवरी तक 21-21 हजार का लाभ
इसके अलावा भी कई अन्य योजना जो सिलिकोस पीड़ितो के लिए जीवन Bima के लिए आदि फ्री सुविधा उपलब्ध कराती है और आपको बता दे जिस लाभार्थी का मजदुर कार्ड बना होता है उस परिवार को खाद्य सुरक्षा में सामिल करना अनिवार्य होता है

राजस्थान लेबर डिपार्टमेंट के बारे में Labour Card Rajasthan:-

श्रम विभाग Rajasthan Sarkar के सबसे पुराने और महत्वपूर्ण विभागों में से एक है। विभाग का मुख्य दायित्व सामान्य रूप से श्रमिकों के हितों की रक्षा करना और उनकी रक्षा करना है, जो विशेष रूप से उच्च उत्पादन और उत्पादकता के लिए एक स्वस्थ कार्य वातावरण बनाने के संबंध में समाज के गरीब, वंचित और वंचित वर्गों का गठन करते हैं

उदारीकरण की प्रक्रिया के साथ, संगठित और असंगठित क्षेत्रों में श्रम बल को बढ़ावा देने और श्रम शक्ति को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने पर भी Sarkar का ध्यान केंद्रित है। इन उद्देश्यों को विभिन्न श्रम कानूनों के कार्यान्वयन के माध्यम से प्राप्त करने की मांग की जाती है, जो श्रमिकों की सेवा और रोजगार के नियमों और शर्तों को विनियमित करते हैं।

Pm Kisan Yojana: भ्रष्टाचार के कारण किसानो को नही मिल रही क़िस्त का लाभ,जाने वजह

राजस्थान संबंधित क्षेत्र के कामगारों का स्वागत है:-

वर्ष 2009-10 में राष्ट्रीय नमूना सर्वेक्षण संगठन द्वारा किए गए सर्वेक्षण के अनुसार, देश में संगठित और असंगठित दोनों क्षेत्रों में कुल रोजगार 46.5 करोड़ के क्रम से बाहर था, जिसमें संगठित क्षेत्र में लगभग 2.8 करोड़ शामिल थे। असंगठित क्षेत्र के 43.7 करोड़ श्रमिकों का संतुलन। असंगठित क्षेत्र के 43.7 करोड़ श्रमिकों में से, कृषि क्षेत्र में 24.6 करोड़ श्रमिक कार्यरत हैं, निर्माण कार्य में लगभग 4.4 करोड़ और विनिर्माण और सेवा में शेष हैं। संगठित क्षेत्र में श्रमिकों के कल्याण को सुनिश्चित करने के लिए,

जिसमें अंतर-अलिया, बुनकर, हथकरघा श्रमिक, मछुआरे और मछुआरे, ताड़ी के टपर, चमड़े के श्रमिक, बागान मजदूर, बीड़ी श्रमिक, “असंगठित श्रमिक” सामाजिक सुरक्षा अधिनियम, 2008 शामिल हैं। अधिनियमित किया गया है। अधिनियम के प्रावधानों के अनुसार, सामाजिक सुरक्षा योजनाओं के निर्माण की सिफारिश के लिए एक राज्य सामाजिक सुरक्षा Board का गठन किया गया है। असंगठित श्रमिकों के लिए।

किसानो को मिलेंगे 15 हजार रु तीन किस्तों में Pm Kisan yojana

राजस्थान मजदुर कार्ड बनवाने के लिए पात्रता:-

अगर आप भी राजस्थान मजदुर कार्ड बनवाना चाहते है तो इसके लिए निम्नलिखित पात्रता है

  • अकुशल कारीगर और भवन और सड़क निर्माण के कार्यकर्ता
  • राजमिस्त्री
  • बढ़ई
  • लोहार
  • पेंटर
  • इलेक्ट्रीशियन
  • टाइल मिस्त्री
  • केन्द्रित और लोहे का बांधना
  • गेट ग्रिल वेल्डिंग रिड्यूसर
  • कंक्रीट मिक्सर
  • सीमेंट घोल मिक्सर
  • रोलर चालक
  • सड़क पुल आदि बनाने वाले कारीगर और सहायक।
  • मनरेगा कार्य में बागवानी और वानिकी को छोड़कर श्रमिक
  • इसके अलावा, मजदुर कार्ड योजना में मजदुर कारीगरों की कई श्रेणियां शामिल हैं।
    Labour Card Rajasthan एसे लाभार्थी जो ऊपर दी गई श्रेणी में आते है व जिनकी आयु 18- 55 वर्ष है

PradhanMantri Mudra Yojana:जानिए किस तरह बिजनेस के लिए मिलता है लोन,जानिए पूरी जानकारी

Rajasthan majdur card बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज:-

राजस्थान मजदुर कार्ड बनवाने के लिए आवश्यक दस्तावेज निम्न प्रकार है

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • बैंक पास बुक
  • नरेगा job कार्ड
  • जनआधार कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • अन्य दस्तावेज आवेदन के समय लागु हो तो
राजस्थान मजदुर कार्ड के लिए आवेदन किस प्रकार करे?

राजस्थान मजदुर अपना मजदुर कार्ड (labour Card) बनवाने के लिए हमारे द्वारा बतायेगे तरीके को फोलो करे

  • सबसे पहले आप इस राजस्थान मजदुर कार्ड कि ओफिसियल वेबसाईट को ओपन करे Https://sso.rajasthan.gov.in
  • अब अगर आपके पास जन आधार है तो पहले रेडियो बटन पर क्लिक करें। बटन पर क्लिक करने के बाद आपको जन आधार में प्रवेश करना है और नेक्स्ट बटन पर Ok करना है।
  • अगर आपके पास जन आधार और आधार आईडी (UID) दोनों हैं तो दूसरे रेडियो बटन पर क्लिक करें।
  • बटन पर क्लिक करने के बाद आपको भामाशाह आईडी और आधार कार्ड आईडी दर्ज करना होगा
  • अगर आपके पास केवल आधार (UID) है तो तीसरे रेडियो बटन पर क्लिक करें। बटन पर क्लिक करने के बाद आपको आधार कार्ड आईडी दर्ज करना है और नेक्स्ट बटन पर क्लिक करना है।
  • अगर आपके पास केवल उधोग आधार नंबर (UAN) है तो चौथे रेडियो बटन पर क्लिक करें। बटन पर क्लिक करने के बाद आपको udhyogaadhaar नंबर डालना है और Next बटन पर क्लिक करना है।
  • यदि आपके पास उपरोक्त में से कोई नहीं है, तो आप सोशल नेटवर्किंग के साथ भी पंजीकरण कर सकते हैं:
रजिस्ट्रेशन मजदुर कार्ड:-

आप फेसबुक बटन पर क्लिक करने के बाद फेसबुक अकाउंट से रजिस्टर कर सकते हैं।


आप google बटन पर Ok करने के बाद Google खाते के साथ पंजीकरण कर सकते हैं।
5. एसएसओ पोर्टल पर पंजीकरण और लॉग इन करने के बाद, उपयोगकर्ता को सरकार के विभागीय Portal ब्राउज़ करने के लिए विभिन्न आइकन दिखाए जाएंगे।
6. “श्रम विभाग प्रबंधन प्रणाली (LDMS)” आइकन पर क्लिक करें।
7. इसके बाद, Sistam उपयोगकर्ता से पूछता है कि क्या वह पहले से ही एलडीएमएस के साथ पंजीकृत है या नहीं: –


यदि हाँ, तो Yes यस ’रेडियो बटन पर Ok करें:
उपयोगकर्ता को SSO आईडी के साथ मानचित्रण के लिए अपना एलडीएमएस Login आईडी और पासवर्ड दर्ज करने के लिए कहा जाएगा। इसके बाद प्रवेश करने के बाद के सत्रों में यह एक बार की गतिविधि है
एसएसओ आईडी और एलडीएमएस Portal का चयन, उपयोगकर्ता स्वचालित रूप से एलडीएमएस Portal में अपने संबंधित स्क्रीन पर आ जाएगा।
यदि नहीं, तो ’नहीं’ रेडियो बटन पर Ok करें। उपयोगकर्ता को निम्नलिखित विवरणों को Update करके अपनी प्रोफ़ाइल को Update करने के लिए कहा जाएगा: –
1. जिला
2. हाउस नं ./ प्लॉट नं।
3. सड़क / इलाका
4. गांव / कस्बा / शहर
5. पिनकोड

Leave a Comment