राजस्थान पालनहार योजना 2021,Palanhar Yojana Rajasthan

राजस्थान पालनहार योजना, Palanhar Yojana Rajasthan, राजस्थान पालनहार योजना क्या है , राजस्थान पालनहार योजना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म, राजस्थान पालनहार योजना का लाभ, राजस्थान पालनहार योजना पात्रता, राजस्थान पालनहार योजना दस्तावेज पालनहार योजना राजस्थान 2021 PDF | Palanhar Yojana Form | Palanhar Form| राजस्थान पालनहार योजना 2021 फॉर्म पीडीएफ

राजस्थान पालनहार योजना, Palanhar Yojana Rajasthan, राजस्थान पालनहार योजना क्या है , राजस्थान पालनहार योजना ऑनलाइन एप्लीकेशन फॉर्म, राजस्थान पालनहार योजना का लाभ, राजस्थान पालनहार योजना पात्रता, राजस्थान पालनहार योजना दस्तावेज पालनहार योजना राजस्थान 2021 PDF | Palanhar Yojana Form | Palanhar Form| राजस्थान पालनहार योजना 2021 फॉर्म पीडीएफ
राजस्थान पालनहार योजना palanhar-yojana-rajasthan

पालनहार योजना क्या है पालनहार योजना मे आवेदन केसे करे पालनहार योजना किनके लिए है राजस्थान पालनहार योजना का लाभ केसे ले राजस्थान पालनहार योजना का स्टेटस क्या है आपके इनहि सवालो के जवाब आपको इस आर्टिकल मे देंगे इस योजना मे आवेदन करने के लिए आप कहा से आवेदन कर सकते है अगर आप भी पालनहार योजना का लाभ लेना चाहते है तो आप इस आर्टिकल को पूरा पढे यह योजना अनाथ बच्चो के पालन पोषण उनकी आर्थिक मदद केरने के लिए और उनकी और उन्हे शिक्षित करने के लिए चलाई गयी है

राजस्थान पालनहार योजना के बारे मे

इस आर्टिकल मे हम आपको राजस्थान पालनहार योजना के बारे मे बताएँगे की यह योजना क्या है और क्या क्या इस योजना के लाभ है यह योजना अनाथों बचो के लिए है उनका पालन पोषण करने और उनको शिक्षित करना है इस योजना मे अनाथ बच्चो की देखभाल की संस्थान मे न होकर उस बच्चे के परिवार के किसी सदस्य को उस बच्चे का पालनहार बनाया जाता है सरकार का मानना है की अगर बच्चे की पारिवारिक महोल मे शिक्षा होगी तो बच्चे का सुधार होगा और परिवार के बीच मे रहे पर बच्चे को किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत नहीं होगी

इस योजना से उन बच्चो को बहुत ज्यादा फायदा होगा जो अनाथ है एसे बच्चो का भविस्य बनेगा वो आर्थिक रूप से बेसहारा नहीं होंगे और किसी और पर अपने जीवन व्यापन के लिए आश्रित नहीं होंगे

Palanhar Yojana Rajasthan Online

राज्य के अनाथ बच्चो की आर्थिक मदद करने के लिए राजस्थान सरकार ने इस योजना को शुरू किया है | जिन बच्चो के माता पिता मर जाते है उसके बाद वो अनाथ हो जाते है उनका पालन पोषण करने वाले कोई नहीं होता है जिससे उनकी शिक्षा पर बहुत बढ़ प्रभाव पड़ता है | जो लोग अनाथ बच्चो का पालन पोषण करेंगे ,अनाथ बच्चो के पालनहार बनेगे सरकार उनको Rajasthan Palanhar Yojana के तहत पालनहार परिवार को 5 साल की आयु तक के बच्चे हेतु 500 रूपये प्रतिमाह देगी | इसके अलावा अतिरिक्त वस्‍त्र, जूते, स्‍वेटर एवं अन्‍य आवश्‍यक कार्य हेतु भी सरकार वितीय मदद देगी |

Palanhar Yojana Rajasthan In Hindi Highlights

योजना का नामराजस्थान पालनहार योजना 2021
योजना टाइपराज्य सरकार की योजना
राज्यराजस्थान
लाभार्थीराज्य के अनाथ बच्चे
उद्देश्यअनाथ बच्चो की मदद करना
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://sje.rajasthan.gov.in/
पालनहार योजना का फॉर्मक्लिक करें

राजस्थान पालनहार योजना के तहत दी जाने वाली मदद

जो अनाथ बच्चो का पालन पोषण करता है यांकी अनाथ बच्चो का पालनहार बनता है सरकार उस पालनहार परिवार को 5 वर्ष की आयु तक के बच्चे के लिए 500 रूपये प्रतिमाह देगी | बच्चे की 18 वर्ष की आयु पूरी होने के बाद स्कूल में प्रवेश करने के बाद 1000 रूपये की प्रतिमाह मदद देगी | इसके अलावा वस्‍त्र, जूते, स्‍वेटर एवं अन्‍य आवश्‍यक कार्य हेतु 2000 रूपये की अतिरिक्त मदद प्रतिवर्ष देगी | Rajasthan Palanhar Yojana 2021 का लाभ लेने के लिएआपको इसमें आवेदन करना होगा | योजना के तहत अनाथ बच्चो को 2 वर्ष की आयु में आंगनबाड़ी और 6 वर्ष की आयु में स्कूल में भेजना अनिवार्य है |

पालनहार योजना का उद्देश्य

इस योजना का मुख्य उद्देश्य अनाथ बच्चो की आर्थिक मदद करना है | माता पिता की मृत्यु के बाद बच्चे जब अनाथ हो जाते है तो उनको पालने वाला कोई नहीं होता है | अनाथ बच्चो के पालन पोषण ,शिक्षा आदि की व्यवस्था संस्थागत ना करके समाज के भीतर ही बालक-बालिकाओं के निकटतम रिश्‍तेदार/परिचित व्‍यक्ति के परिवार में करने के लिए इच्‍छुक व्‍यक्ति को पालनहार बनाकर राज्‍य की ओर से पारिवारिक माहौल में शिक्षा, भोजन, वस्‍त्र एवं अन्‍य आवश्‍यक सुविधाएं उपलब्‍ध कराना है। इस प्रकार राज्‍य सरकार द्वारा संचालित यह योजना सम्‍पूर्ण भारत वर्ष में अनूठी है| राजस्थान सरकार राजस्थान पालनहार योजना जैसे कई सरकारी योजना समय समय पर लेकर आती है |

राजस्थान में पालनहार योजना के लाभ

  • राज्य के अनाथ बच्चो की आर्थिक मदद करने के लिए सरकार ने इस योजना को शुरू किया है |
  • माता पिता की मृत्यु के बाद बच्चे अनाथ हो जाते है उनको इस योजना के तहत मदद मिल सकेगी |
  • इस योजना का मुख्य उद्देश्य अनाथ बच्चो का पालन पोषण शिक्षा आदि की व्यवस्था संस्थागत न करके समाज के भीतर करना है |
  • सरकार अनाथ बच्चे का पालनहार को 5 वर्ष की आयु तक के बच्चे के लिए 500 रूपये प्रतिमाह देगी |
  • Rajasthan Palanhar Yojana 2021 के तहत वस्‍त्र, जूते, स्‍वेटर एवं अन्‍य आवश्‍यक कार्य हेतु 2000 रूपये की मदद अतिरिक्त देगी |
  • बच्चे की 18 साल की उम्र होने के बाद स्कूल में प्रवेश लेने के बाद 1000 रुपए की मदद सरकार प्रतिमाह देगी |
  • राजस्थान सरकार ने 8 फरवरी 2005 को इस योजना को अनुसूचित जाती के अनाथ बच्चो के लिए शुरू की थी लेकिन बाद में इस योजना का लाभ सभी वर्ग के बच्चो को दिया जाने लगा |

पालनहार योजना की लिस्ट – बच्चो की लिस्ट

  • अनाथ बच्‍चे
  • न्‍यायिक प्रक्रिया से मृत्‍यु दण्‍ड/ आजीवन कारावास प्राप्‍त माता-पिता की संतान
  • निराश्रित पेंशन की पात्र विधवा माता की अधिकतम तीन संताने
  • नाता जाने वाली माता की अधिकतम तीन संताने
  • पुर्नविवाहित विधवा माता की संतान
  • एड्स पीडित माता/पिता की संतान
  • कुष्‍ठ रोग से पीडित माता/पिता की संतान
  • विकलांग माता/पिता की संतान
  • तलाकशुदा/परित्‍यक्‍ता महिला की संतान

राजस्थान पालनहार योजना के नियम और पात्रता

  • आवेदक राजस्थान का स्थाई निवासी होना चाहिए |
  • पालनहार परिवार की वार्षिक आय 1.20 लाख रूपये से अधिक नहीं होनी चाहिए |
  • योजना के तहत 2 वर्ष की आयु में आंगनबाड़ी केन्‍द्र पर तथा 6 वर्ष की आयु में स्‍कूल भेजना अनिवार्य है |

पालनहार योजना के दस्तावेज

  • मूल निवास प्रमाण पत्र
  • पालनहार का आधार कार्ड
  • भामाशाह कार्ड
  • बच्चे के आधार कार्ड
  • अनाथ बच्चे के पालन पोषण का प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक खाता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • स्चूल में दाखिल होने का प्रमाण पत्र
  • बच्चे का आंगनबाड़ी में पंजीकरण का प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड

Rajasthan Palanhar Yojana श्रेणीवार दस्तावेज

  • अनाथ बच्चे – माता पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र
  • न्यायिक दंडादेश – माता पिता के दंडादेश की प्रति
  • निराश्रित विधवा माता – पति की मृत्यु का प्रमाण पत्र
  • पुनर्विवाहित माता की संतान – विधवा माता का पुनर्विवाहित प्रमाण पत्र
  • नाते जाने वाली माता के संतान के – माता को नाते गए एक बर्ष से अधिक समय होने का प्रमाण पत्र | सम्बन्धित ग्रामं सभा /नगरपालिका / नगर परिषद / नगर निगम द्वारा जारी प्रमाण पत्र
  • एड्स पीड़ित माता पिता की संताने – पीड़ित व्यक्ति का राजस्थान एड्स कण्ट्रोल सोसाइटी में पंजीयन का प्रमाण |
  • कुष्ठ रोग से पीड़ित माता पिता की संताने – पीड़ित व्यक्ति को समक्ष चिकित्सा बोर्ड द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र |
  • विकलांग माता पिता की संताने – पीड़ित व्यक्ति को समक्ष चिकित्सा बोर्ड द्वारा जारी किया गया चिकित्सा प्रमाण पत्र |
  • तलाकशुदा महिला के सम्भन्ध में – न्यायालय का आदेश /तलाकनामा का प्रमाण पत्र
  • परित्याक्ता महिला के सम्बन्ध में – जो महिला तीन साल से अधिक समय से पति से अलग रह रही है एवं पति से कोई सम्बन्ध नहीं है का प्रमाण पत्र की प्रति |

योजना के लिए पात्रता

इस योजना का लाभ उन बच्चो को दिया जाता है जो अनाथ है एसे बच्चो को सरकार उनका पालन पोषण करने के लिए और उनको शिक्षित करने के लिए उनकी आर्थिक मदद करती है जो बच्चे का पालनहार बनता है उसके परिवार की वार्षिक आय 1.20 लाख रुपए से अधिक नहीं होनी चाहिए योजना के तहत अनाथ बचे को 2 वर्ष की आयु होने पर आंगनबाड़ी केंद्र और 6 वर्ष की आयु होने पर स्कूल भेजना जरूरी है

इस योजना की शुरुवात फरवरी 2005 मे की गयी थी शुरुवात मे यह योजना उन बच्चो के लिए चलाई गयी थी जो अनुसूचित जाती के थे अब इस योजना मे टाइम टाइम पर संसोधन करते हुये निम्नलिखित श्रेणियों को जोड़ा गया है :-

  • आजीवन कारावास या न्यायिक प्रक्रिया से मृत्यु दंड प्राप्त माता पिता की संतान
  • अनाथ बच्चे
  • एसी माँ जो किसी भी विधवा पेंशन योजना का लाभ नहीं ले रही है उसके बच्चे
  • पुनर्विवाहित विधवा माता के बच्चे
  • नाते जाने वाली माता के अधिकतम तीन बच्चे पर
  • एड्स से पीड़ित माता पिता की संतान
  • विकलांग माता पिता की संतान
  • कुस्थ रूग से पीड़ित माता पिता की संतान
  • तलाकशुदा महिला की संतान

योजना मे नए संसोधन के बाद ऊपर दिया गए श्रेणी के लोग इस योजना का लाभ ले सकते है

पालनहार योजना मे मिलने वाली राशि

इस आर्टिकल मे हम आपको इस योजना के तहत मिलने वाली राशि के बारे मे बताएँगे वो परिवार जो अनाथ बच्चे का पालनहार बनता है उस परिवार को बच्चे की 5 वर्ष आयु तक प्रति माह 500 रुपए दिये जाते है और बाद मे स्कूल मे जाने के बाद 18 साल की उम्र हो जाने के बाद 1000 रुपए प्रतिमह दिया जाता है इसके अलावा बच्चे की स्वेटर ,जूते ,वस्त्र आदि के लिए 2000 हजार रुपए प्र्तिवर्ष दिये जाते है जो परिवार पालनहार बनता है वह अगर शहरी है तो विभागीय जिला अधिकारी के द्वारा और अगर वह गाव से है तो उसे संबन्धित विकास अधिकारी से स्वीकृत किया जाता है

राजस्थान पालनहार योजना 2021 आवेदन कैसे करें ?

यदि आप भी इस योजना का लाभ लेना चाहते है और आप इस योजना में आवेदन करना चाहते है तो आप निचे दिए गए स्टेप फोल्लो करें :-

  • सबसे पहले आपको राजस्थान पालनहार योजना के लिए आवेदन फॉर्म डाउनलोड करना है
  • इसके लिए आप ऑफिसियल वेबसाइट से डाउनलोड करे
  • फॉर्म डाउनलोड करने के बाद फॉर्म में मांगी गई सभी जानकारी आपको सही सही दर्ज करनी है उसके बाद फॉर्म के साथ दस्तावेज अटेच करने है और इस फॉर्म को शहरी क्षेत्र में विभागीय जिला अधिकारी द्वारा एवं ग्रामीण क्षेत्र में सम्‍बन्धित विकास अधिकारी के कार्यालय में जमा करवाना है |
  • आप अपने नजदीकी जन सेवा केंद्र या ई मित्र के माध्यम से भी आवेदन कर सकते है | इस प्रकार से आपका आवेदन पूरा हो जाता है |

पालनहार भुगतान की स्थिति देखने की प्रक्रिया

सबसे पहले आपको ऑफिसियल वेबसाइट पर जाना है जहा जाने के बाद के आपके सामने इस तरह का होम पेज ओपन होगा जो यहा देख सकते है

palanhar yojana rajasthan
  • इस पेज पर आने के बाद आपके सामने Palanhar Payment Status का आप्शन होगा आपको इस पर क्लिक करना है इसके बाद आपके सामने के और नया पेज ओपन होगा जो इस तरह का होगा
palanhar yojana rajasthan (1)
  • आपके सामने फॉर्म ओपन हो जायेगा इसमें आपको शैक्षणिक वर्ष का चयन करना है उसके बाद एप्लीकेशन नंबर या भामाशाह नंबर दर्ज करने है उसके बाद केप्चा कोड डालकर के Get Status पर क्लिक करना है क्लिक करने के बाद आपके सामने विवरण आ जायेगा |

राजस्थान पालनहार योजना के लिए आवेदन केसे करे

इसमे हम आपको बताएँगे की आप किस प्रकार से इस योजना मे आवेदन कर सकते है आवेदन करने के लिए सबसे पहले आपको इसकी आधिकारी वैबसाइट https://sje.rajasthan.gov.in पर जाना होता है इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आपके सामने इस योजना का फोरम आता है इस फॉर्म को आपको डाउनलोड करना होता है इस फॉर्म मे आपसे मांगी गयी सारी जानकारी आपको इसमे भरनी होती है इसके बाद आपको सबमिट बटन पर क्लिक करना होता है और आपका आवेदन हो जाता है

योजना का उधेश्य

यह योजना अनाथ बच्चो के लिए है अत सरकार का इस योजना के तहत खास उन बच्चो की देखभाल करना है जो अनाथ है एसे बच्चो का पालन पोषण किसी अनाथ आश्रम मे न होकर बच्चे के परिवार को ही उस बच्चे का पालनहार बनाया जाता है और वो पालनहार बच्चे की देखभाल करता है और उसकी शिक्षा का ध्यान रखता है

राजस्थान पालनहार योजना हेल्पलाइन नंबर

अगर आपको इस योजना में आवेदन करने में किसी भी प्रकार की कोई दिक्कत आ रही है या फिर आपको इस योजना के बारे में अधिक जानकारी लेनी है तो आप निचे दिए गए हेल्पलाइन नंबर पर सम्पर्क कर सकते है :- Toll Free Number 1800-180-6127

राजस्थान अंतरजातीय विवाह प्रोत्साहन योजना

योजना से जुड़े हुये सवाल

Q. पालनहार योजना क्या है ?

Ans.यह योजना अनाथ बच्चो के लिए है अत सरकार का इस योजना के तहत खास उन बच्चो की देखभाल करना है जो अनाथ है एसे बच्चो का पालन पोषण किसी अनाथ आश्रम मे न होकर बच्चे के परिवार को ही उस बच्चे का पालनहार बनाया जाता है और वो पालनहार बच्चे की देखभाल करता है और उसकी शिक्षा का ध्यान रखता है

Q. पालनहार योजना किस राज्य से जुड़ी हुई है ?

Ans. राजस्थान

Q. इस योजना को चालू कब किया गया था ?

Ans. फरवरी 2005 को इस योजना को चालू किया गया था पहले यह योजना खास अनुसूचित जाती के अनाथ बच्चो के लिए थी लेकिन बाद मे इस योजना मे संसोधन किए गए और इसके लाभ सभी को दिये गए जो इसके पात्र है

Leave a Comment

Your email address will not be published.