Rubeola ka karan lakshan bachav-खसरा बीमारी का कारण लक्षण व बचाव

Rubeola ka karan lakshan bachav-खसरा एक प्रकार का श्वशन तंत्र से
संबन्धित होने वाली वाइरस जनित बीमारी है खासने व छिकने ओर लार से फेलने
वाली बीमारी है ज़्यादातर छोटे बच्चो मे यह बीमारी का संकर्मण ज्यादा देखने को
मिलता है खासने व छिकने से यह वाइरस हवा मे फेल जाता है कुच्छ समय पहले
खसरा नामक बीमारी आम बीमारी थी लेकिन अब इसका टीका उपलब्ध है
साधारणतया खसरा का संकर्मण लगभग 10 दिनो मे ठीक हो जाता है !

खसरा (Rubeola) मे नाक का बहना ,आंखो से पानी बहने के साथ साथ उनमे सूजन आ
जाती है लगातार खांसी आती है ओर गले मे भी इंफेकसन हो जाता है यह हवा मे फेल जाता है
ओर सतह पर कई घंटो तक जिंदा रह सकता है यह चेहरे पर सबसे पहले होता है चेहरे पर
दाने जै18से हो जाते है दानो मे धब्बे हो जाते है यह विशेष रूप से कानो के पीछे की ओर
फेलना शुरू होता है ये दाने थोड़े ऊपर की ओर उठे होते है दानो का समूह मिलकर लाल चकते
जैसे हो जाते है आगे चलकर यह चकते पूरे शरीर पर फेल जाते है फिर जंघों व पेरो पर भी
फेल जाते है !

Rubeola (खसरा ) के लक्षण –

शरीर की त्वचा पर दाने व चकते पड़ जाते है जो बड़े व सपाट दिखाई देने लग जाते है मुह पर
गालो पर अंदर की तरफ लाल चकते से हो जाते है ओर गले मे इंफेकशन होने के कारण
ललाई दिखाई देने लग जाती है सुखी खांसी लगातार आने लग जाती है नाक लगातार बहने
लग जाती है गले मे खरास हो जाती है ओर शरीर मे बुखार कम ज्यादा होने लग जाती है
आंखो मे सूजन आ जाती है ओर कभी कभी पानी भी बहने लग जाता है वाइरस का संकर्मण
होने के 10 से 14 दिनो बाद खसरा के लक्षण दिखाई देने लग जाते है !

खसरा (Rubeola) का कारण –

खसरे का कारण Rubeola नामक वाइरस होता है जोबच्चो व वयस्कों मे खास तोर से गले
व नाक पर अपना असर दिखाता है संक्रमित व्यक्ति जब खाँसता है या छिक लेता है या फिर
वह किसी से वार्ता के दोरान मुह से स्लाइवा के छोटे कण हवा मे बिखर जाते है इस कारण
दूसरे व्यक्ति को यह संकर्मण हो जाता है यह बुँदे जब किसी सतह पर गिर जाती है तो वहा
पर यह वाइरस कई घंटो तक जिंदा रह सकता है उसी सतह को व्यक्ति जब छु लेता है ओर
उन्ही संक्रमित हाथो को जब वह अपने नाक मुह आंखो को छूता है तो वह संक्रमित हो जाता है !

Insomnia ka karan or symptoms,bachav-अनिंद्रा का कारण ,लक्षण ,बचाव

खसरा Rubeola) से बचाव –

बच्चो को खसरा या Rubeola का टीका अत्यंत आवश्यक रूप से लगवाए (Measles
virus Vaccine), इसमे दाने फटने या टूटने से तीन चार दिन पहले Rubeolaबहुत
खतरनाक या ज्यादा संक्रामक होता है इसलिय जो खसरा से संक्रमित हो वो लोगो से
दूरी बनाए रखे अन्य लोगो के संपर्क मे न आए ,जो लोग प्रतिरक्षित नही होते है वो खास
तोर से संक्रमित व्यक्तियों से दूरी बनाए रखे यानि सोसियल डिस्टेन्सिंग पालन करे
ओर संक्रमित व्यक्ति आवश्यक रूप से मास्क का उपयोग करे !

Rabies ke karan lakshan bachav-रेबीज का कारण लक्षण ओर बचाव

1 thought on “Rubeola ka karan lakshan bachav-खसरा बीमारी का कारण लक्षण व बचाव”

Leave a Comment