बिहार शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना 2021 Shatabdi Shramik Suraksha Yojana Form - ALL GOVT YOJANA

बिहार शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना 2021 Shatabdi Shramik Suraksha Yojana Form

Shatabdi Shramik Suraksha Yojana Online Apply | शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के बारे में जानकारी | Shatabdi Shramik Suraksha Yojana In HIndi Application Form | शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के लिए पात्रता | Shatabdi Shramik Suraksha Yojana Registration Form | शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना आवेदन फॉर्म |

बिहार सरकार की और से सुरु की गई यह एक महत्वकांक्षी योजना है इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना को बिहार सरकार के श्रम विभाग की तरफ से 1 अप्रेल 2011 में सुरु किया गया था पहले इस योजना में नियम और शर्ते कुछ अलग थे जिसके कारण इस योजना का लाभ बहुत से श्रमिकों को नही मिल पाया था मगर अब इस योजना में सरकार की और से बहुत से परिवर्तन कर दिए गये है जिसके बाद हर पंजीकृत श्रमिक इस योजना का पात्र बन सकता है बिहार राज्य में जो पंजीकृत श्रमिक लोग है वो बिहार राज्य के उत्थानं के लिए दिन रात मेहनत करते है

राज्य के विकास में पुरे भागी दार होते है मगर जब इसकी स्वयं की सुरक्षा की बात आती है तो उन्हें खुद की मदद करने वाला कोई नही होता है ऐसे में सरकार ने अब इस योजना के तहत पंजीकृत श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा प्रदान करने के लिए इस योजना को लागू किया है ताकि मजदूर की किसी दुर्घटना में मृत्यु हो जाए तो परिवार को आर्थिक तंगी से न लड़ना पड़े योजना का लाभ लेने के लिए आप इसमें अपना रजिस्ट्रेशन करवा सकते है इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के बारे में पूरा विवरण जानने के लिए आर्टिकल को ध्यान से पूरा पढ़े

Shatabdi Shramik Suraksha Yojana Online Apply | शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के बारे में जानकारी | Shatabdi Shramik Suraksha Yojana In HIndi  Application Form | शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के लिए पात्रता | Shatabdi Shramik Suraksha Yojana Registration Form | शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना आवेदन फॉर्म |

शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना क्या है पूरी जानकारी:-

जो असंगठित क्षेत्र में काम करते है जिनकी वार्षिक आय अधिक न होने की वजह से किसी बिमा पॉलिसी का लाभ नही ले पाते है और किसी दुर्घटना में किसी मजदूर की मृत्यु हो जाती है तो ऐसे में उस मजदूर के परिवार को बिहार सरकार के श्रम संसाधन विभाग की और से आर्थिक सहायता राशि दी जाती है ये राशि मजदूर के परिवार के सदस्य के बैंक खाते में भेजी जाती है इतना ही नही यदि कोई श्रमिक किसी दुर्घटना में घायल हो जाता है तो भी उसके इलाज के लिए इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के जरिये विभाग की और से आर्थिक मदद की जाती है

इस योजना में हर पंजीकृत मजदूर को सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जा रही है मजदूर लोग अपने ही राज्य में रहकर अपने ही राज्य के विकास के लिए हमेसा आगे रहते है मगर बहुत सी बार वो किसी बिमारी के शिकार हो जाते है या फिरि किसी निर्माण दुर्घटना में विकलांग हो जाते है जिसके बाद उन्हें इलाज के पैसे के लिए तरसना पड़ता है एसी स्तिथि में इस योजना को लागू करके उन्हें सामाजिक सुरक्षा दी जाती है ताकि मजदूर लोगों का सही समय पर इलाज करवाया जा सके और मृतक मजदूर के परिवार को आर्थिक सहायता राशि दी जा सके इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना का लाभ वही मजदूर लोग ले सकते है

जो असंगठित क्षेत्र में काम करते है तथा जिनके पास लेबर कार्ड है असंगठित क्षेत्र में आने वाले कार्य के बारे में हम आपको इस आर्टिकल में निचे बताने वाले है तथा इस योजना के लाभ तथा आवेदन के लिए जो जो दस्तावेज मुख्य है उसके बारे में भी आपको आर्टिकल में निचे जानकारी मिल जायेगी

बिहार लेबर कार्ड आवेदन स्तिथि 2021 कैसे देखे Application Status Check

योजनाशताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना
राज्यबिहार
लागू कब की गई1 अप्रेल 2011
ऑफिसियल वेबसाइटhttps://state.bihar.gov.in/
अपडेट2021
योजना टाइपअसंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर लोगों के लिए

शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना का उदेश्य:-

इस Shatabdi Shramik Suraksha Yojana का मुख्य उदेश्य है की जो असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों की श्रेणी में आते है उन्हें सरकार की तरफ से सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जाती है क्योंकि मजदूर अपने राज्य के विस्तार से लिए अपनी पूरी भूमिका रखता है मगर जब उसके स्वास्थ्य सम्बन्धी कोई बात आती है तो उसे कोई लाभ नही मिल पाता है बहुत से मजदूर तो ऐसे भी है जो किसी बिमारी से ग्रसित हो जाने पर अपना इलाज किसी अच्छे अस्पताल में नही करवा पाते है जिसके चलते उनकी मृत्यु हो जाती है

और राज्य में हर साल बहुत से मजदूरों की मृत्यु किसी रेल दुर्घटना में,सड़क दुर्घटना में या फिर निर्माण कार्य के दोरान मृत्यु हो जाती है ऐसे श्रमिकों के परिवार को बिहार सरकार की और से आर्थिक सहायता राशि दी जायेगी इस योजना में केवल असंगठित क्षेत्र में काम करे वाले मजदूर लोग ही बागीदार बन पायेगे असंगठित क्षेत्र में बहुत से कारखाने,उधोग धंधे आते है जिनके बारे में हम आपको बतायेगे

असंगठित क्षेत्र में आने वाले धंधे;-

श्रमिक लोगों को असंगठित क्षेत्र में काम करते है वो निम्न प्रकार के उधोग धंधों में काम करते है जिनमे किसी दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर परिवार को जीवन यापन करने के लिए आर्थिक धनराशी दी जाती है

  • चरम वस्तु का निर्माण होने वाले धंधे
  • पेंट्रोल पम्प
  • एल्युमिनियम के उधोग धंधे
  • साबुन निर्माण करने वाले कारखाने
  • ग्लास शिट बनाने वाले
  • बन्दूक निर्माण के करखाने
  • केमिकल फेक्ट्रियां
  • रंग का निर्माण करने वाले उधोग धंधे
  • पत्थरों को तोड़ने वाले कारखाने
  • बीडी बनाने वाले उधोग
  • लोहे की कटाई करने वाले उधोग आदि

शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना में इन श्रमिकों को लाभ दिया जाएगा:-

जो जो मजदूर लोग असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिक की श्रेणी में आते है उन्हें ही इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना में शामिल करके सामाजिक सुरक्षा प्रदान की जायेगी

  • पशुपालन करने वामे लोग
  • राज मिस्त्री
  • प्लम्बर
  • कारपेंटर
  • बढ़ई
  • बोझा ढोने वाले मजदूर
  • सीमेंट के कारखानों में काम करने वाले
  • दर्जी
  • बिजली का काम करने वाले
  • चट्टान तोड़ने वाले
  • लोहार लोग
  • सड़क निर्माण करने वाले
  • छाता निर्माण करने वाले श्रमिक लोग
  • पशुओ को चराने का काम करने वाले
  • कपड़े की रंगाई का कार्य करने वाले
  • ओटो रिक्शा चलाने वाले मजदूर लोग
  • मूर्ति का निर्माण करने वाले मजदूर
  • ईंट भट्टों पर कार्य करने वाले मजदूर लोग
  • बच्चों के खिलोनों का निर्माण करने वाले
  • मिट्टी के बर्तन बनाने वाले
  • हथकरगा आदि

शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना में मिलने वाली राशि:-

इस योजना के तहत दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर या फिर श्रमिक किसी दुर्घटना में विकलांग या फिर किसी बिमारी से ग्रषित हो जाने पर जो आर्थिक सहायता राशि दी जाती है उनके बारेमे जानकारी निम्न प्रकार से है

  • पंजीकृत श्रमिक की किसी दुर्घटना में मृत्यु हो जाने पर उसके परिवार को 1 लाख रूपये सरकार की और से दी जायेगे
  • यदि कोई मजदूर स्वभाविक मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तो उसके परिवार को 30 हजार रूपये की राशि दी जाती है स्वभाविक मृत्यु में यानी मजदूर की दुर्घटना में मृत्यु न होकर साधारणतया मृत्यु हो जाए तो
  • जो श्रमिक आंशिक रूप से निस्क्तता के शिकार है उन्हें 37500 रूपये की मदद दी जाती है
  • यदि मजदूर पूर्ण रूप से स्थाई निसकत्ता है तो उन्हें 75 हजार रूपये की सहायता राशि दी जाती है
  • अगर मजदूर की दुर्घटना में चोटिल हो जाता है तो उसे मर्म पट्टी के लिए 5000 रूपये की सहायता दी जाती है
  • यदि मजदूर किसी एसी बिमारी से ग्रसित हो जाए जिसका इलाज सम्भव नही होता है जो असाध्य है ऐसे में मजदूर को 7500 रूपये से लेकर 30 हजार रूपये तक की सहायता राशि दी जाती है
  • कैंसर के मरीज को इलाज के लिए 25 हजार रूपये की सहायता राशि दी जाती है
  • किडनी रोगी को 30 हजार रूपये दिए जाते है
  • HIV रोगी को 25 हजार रूपये की सहायता राशि प्रदान की जाती है
  • बॉन मेरो ट्रांसप्लांट करवाने के लिए 10 हजार रूपये दिए जाते है
  • हृदय रोगी को 15 हजार रूपये से लेकर 30 हजार रूपये तक की राशि दी जाती है

बिहार लेबर कार्ड पंजीयन फॉर्म Bihar Labour Card Application Form 2021

लाभ क्या क्या है?

  • बिहार राज्य के असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूर लोगों को सामजिक सुरक्षा प्रदान करना इस योजना का मुख्य उदेश्य है
  • मजदूर किसी दुर्घटना में मृत्यु को प्राप्त हो जाता है तो उसके परिवार को उपर बताई गई धनराशी दी जाती है
  • यदि किसी घम्भीर का शिकार श्रमिक हो जाता है तो उसे इलाज के लिए सहायता दी जाती है
  • किसी दुर्घटना में घायल हो जाता है तो इलाज के लिए आर्थिक सहायता राशि दी जाती है
  • इस योजना में जो सहायता राशि दी जाती है वो लाभार्थी के बैंक खाते में भेजी जाती है

दस्तावेज:-

  • यदि मजदूर की मृत्यु हो गई है तो वह जिस स्थान पर रहता था उसका प्रमाण पत्र
  • मृत्यु प्रमाण पत्र
  • जो राशि के लिए आवेदन कर रहा है उसका आधार कार्ड
  • बैंक खाता संख्या
  • मोबाइल नंबर
  • यदि किसी बिमारी से मजदूर ग्रषित है तो उसके अस्पताल से चिकित्सा प्रमाण पत्र लाना होगा
  • मजदूर का आधार कार्ड
  • राशन कार्ड
  • लेबर कार्ड

शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना में आवेदन की प्रक्रिया:-

बिहार सरकार की इस योजना का लाभ लेने के लिए श्रमिक के पास लेबर कार्ड होना जरूरी है यदि लेबर कार्ड है और वह असंगठित क्षेत्र में काम करता है तो उसे इस योजना के लिए श्रम संसाधन विभाग बिहार के कार्यालय में जाकर के अपना आवेदन फॉर्म भरना होगा आवेदन फॉर्म विभाग में मिल जाएगा आधिकारिक जानकारी के लिए इसकी वेबसाइट की मदद भी ली जा सकती है https://state.bihar.gov.in/

शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के हेल्पलाइन नंबर:-

  • 0612-2520053

Q. शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना क्या है

Ans. इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत बिहार राज्य में जो श्रमिक किसी बिमा पॉलिसी का लाभ नही ले पाते है ऐसे श्रमिकों को अब इस योजना से जोडकर उन्हें किसी दुर्घटना या फिर किसी बिमारी का शिकार होने पर 10 हजार रूपये से लेकर 1 लाख रूपये तक की राशि दी जाती है

Q. श्रमिक की आयु सीमा कितनी तय की गई है

Ans. इस योजना के तहत श्रमिक की आयु 55 साल से अधिक नही होनी चाहिए

Q. योजना के जरिये मिलने वाली राशि किस प्रकार से दी जायेगी

Ans. इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना के तहत बिहार सरकार की और से श्रमिक के इलाज के लिए जो सहायता राशि दी जाती है वो उसके बैंक खाते में ट्रांसफर की जायेगी

Q. किस क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को इस योजना में शामिउल किया जाएगा

Ans. इस योजना के तहत बिहार राज्य में असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले मजदूरों को इस शताब्दी श्रमिक सामाजिक सुरक्षा योजना में शामिल किया जाएगा

Leave a Comment

Your email address will not be published.