Shock Sharir Mein Kitne Prakar ka Hota Hai – जाने आघात के प्रकार

Shock Sharir Mein Kitne Prakar ka Hota Hai – शोक हमारे शरीर की एक एसी घटना होती है जो अचानक होती है ओर एसी किसी भी प्रकार की घटना जो
अक्समात या अचानक होती ओर हमारा शरीर उस घटना को समझ नही पाता है जिस
कारण शरीर को शोक लग जाता है शोक का अभिप्राय हम युही समझ सकते है जैसे
-शरीर का निसक्रिय हो जाना किसी भी प्रकार का एक शोक है

जानते है शोक के प्रकार

मुख्य रूप से देखा जाए तो शोक पाँच प्रकार के हो सकते है इनमे से किसी भी प्रकार का
आघात (शोक ) शरीर को लगना अपना एक अलग कारण अपनी एक अलग कंडीसन को शो
करता है शोक इस प्रकार के हो सकते है –

हार्ट से उत्पन होने वाला शोक

इस प्रकार के शोक मे एक साधारण सी बात होती है की जब हार्ट की ब्लड स्फलाई का रुक
जाना है हार्ट को रक्त की आपूर्ति कोरोनरी धमनी के द्वारा होती है (ऑक्सीज़न युक्त शुद
रक्त )ओर ये धमनी मे जब किसी प्रकार का ब्लॉक उत्पन हो जाता है या किसी भी कारण
वस ये अवरुद्ध हो जाती है जिस कारण शरीर को ऑक्सीज़न की पूर्ति नही हो पाती है ओर
शरीर को शोक लग जाता है या आघात लग जाता है !

रक्त स्त्राव से उत्पन होने वाला शोक या आघात

इसमे खून की मात्रा शरीर से किसी कारण वस इतनी निकल जाती है की शरीर को
ऑक्सीज़न की मात्रा पूर्ण रूप से नही मिल पाती है कारण जैसे -अत्यधिक खूनी दस्त
,अत्यधिक खूनी उल्टी ,किसी चोट के कारण बड़ी रक्त वाहिनियों का फट जाना आदि ! O2
पूर्ण रूप से नही मिलती ओर शरीर का B.P. कम हो जाता है जिस कारण शरीर को शोक लग
जाता हैं !

विष के कारण लगने वाला शोक

इस प्रकार के आघात मे जब विष शरीर मे पहुचता है तो कारण जैसे -सर्प द्न्स आदि शरीर
मे बहने वाले रक्त का कुछ भाग रक्तवाहिनियों से बाहर आ जाता है जिस कारण शरीर को
ऑक्सीज़न की पूर्ति नही हो पाती है बल्ड की मात्रा कम होने के कारण शरीर को ऑक्सीज़न
भी कम पहुचती है ओर शरीर को शोक (आघात ) लग जाता है

दुर्घटना से होने वाला शोक या आघात

किसी भी प्रकार की दुर्घटना मे शरीर क्षति ग्रस्त हो जाने के कारण शरीर से रक्त का बहाव
होने लग जाता है शरीर को अधिक चोट लगने के कारण बल्ड का बहाव भी अधिक होता है
अगर इसको समय रहते नही रोका गया तो शरीर से अधिक मात्रा मे रक्त निकल जाने के
कारण शरीर को आवश्यक ऑक्सीज़न की पूर्ति नही हो पाती है जिस कारण शरीर को शोक
या आघात लग जाता है

Thyroid Ki Samasya se Pareshan Kyon-जाने इसके लक्षण व घरेलू उपचार

एलर्जिक शोक

इस प्रकार के शोक मे एंटीजन एंटी बॉडी रिएक्शन होती है जब भी किसी बाहर के पदार्थ
को शरीर मे चला जाता है जैसे -जहरीले जानवर के काटने पर , या बाहर के पदार्थ को
शरीर मे जानबूझ कर डाला जाता है जैसे – वैक्सीन आदि के कारण शरीर की चिकनी
पेसिया संकुचन उत्पन करके रक्त के सक्रिय क्रियाशील आयतन को कम कर देती है
ओर इस कारण शरीर को ऑक्सीज़न की मात्रा की पूर्ति नही हो पाती है ओर शरीर को
शोक या आघात लग जाता है !

Dato Me Dard, Jhanjhanahat Kyon Hoti Hai-व इसको रोकने के उपाय

Leave a Comment