उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना ऑनलाइन पंजीयन UttraKhand Saubhagyawati Yojana 2021

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना ऑनलाइन पंजीयन, Uttarakhand Saubhagyawati Yojana 2021, सौभाग्यवती योजना क्या है , Saubhagyawati Yojana Online Registration, सौभाग्यवती योजना का लाभ कैसे ले

उत्तराखंड सरकार कि और से राज्य में उत्तरखंड सौभाग्यवती योजना को शुरु किया गया है इस योजना का लाभ राज्य कि गर्भवती महिला या फिर नवजात बच्चों को मिलने वाला है इस योजना का लाभ 2 कीटों के रूप में दिया जाएगा यानी 1 किट में गर्भवती महिला को सामिल किया जाएगा तथा दूसरी किट में नवजात बच्चे को सामिल किया जाएगा तो आइये जानते है क्या है ये योजना और किस प्रकार इसका ऑनलाइन आवेदन होगा तथा आवेदन में कोन कोनसे दस्तावेज लगेंगे इसके बारे में विस्तार से जानकारी

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना ऑनलाइन पंजीयन, Uttarakhand Saubhagyawati Yojana 2021,  सौभाग्यवती योजना क्या है , Saubhagyawati Yojana Online Registration, सौभाग्यवती योजना का लाभ कैसे ले
uttrakhand-Sobhagywati-yoja

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना (Uttarakhand Saubhagyawati Yojana):-

आज हम आपको बताने जा रहे है कि उत्तरखंड राज्य के तत्कालीन मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह जी रावत कि कि और से राज्य में गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों के लिए इस उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना कि सुरुआत कि है इस योजना के तहत गर्भवती महिलाओं और बच्चों को 2 किट बनाकर उसके हिसाब से लाभ दिया जाएगा इन कीटो में मोसम के अनुसार वस्त्र दिए जायेगे ये वस्त्र राज्य के हर क्षेत्र के पहनावे के हिसाब से दिए जायेगे

इतना हि नही इस योजना के द्वारा बांटी जानी वाली कीटो में वस्त्र के अलावा गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों को पोस्टिक आहार भी दिया जाएगा ताकि बच्चे और गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य ठीक रहे बहुत सि बार देखने को मिल है सही पोस्टिक भोजन नही मिलने के अभाव में गर्भवती महिलाओं का स्वास्थ्य खराब हो जाता है जिसके कारण कभ कभी तो पेट में पल रहे बच्चे कि भी मोत हो जाती है और ये भी देखने को मिला है कुछ बच्चों को बचपन में सही पोस्टिक आहार नही मिलता है जिसके कारण वो कुपोषण के शिकार हो जाते है

सौभाग्यवती योजना क्या है

उत्तराखंड की त्रिवेंद्र रावत सरकार ने गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं को लाभ पहुंचाने के लिए सौभाग्य योजना शुरू करने की घोषणा की है। इस योजना में 2 अलग-अलग किट बनाए जाएंगे। उत्तराखंड सौभाग्य योजना 2021 के तहत, राज्य सरकार राज्य की गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं की स्वच्छता और पोषण के लिए किट और कपड़े प्रदान करेगी।

गर्भावस्था के दौरान, सभी गर्भवती महिलाओं को अधिकतम स्वच्छता और पौष्टिक भोजन की आवश्यकता होती है, लेकिन पारिवारिक वित्तीय स्थिति खराब होने के कारण, उन्हें अच्छा पौष्टिक भोजन नहीं मिल पाता है और नवजात शिशु को भी इन सभी चीजों की आवश्यकता होती है। इन समस्याओं के मद्देनजर, राज्य सरकार ने उत्तराखंड सौभाग्य योजना 2021 को शुरू करने की घोषणा की है। इससे मातृ मृत्यु दर (MMR) के साथ-साथ शिशु मृत्यु दर (IMR) में कमी आएगी। यह निश्चित रूप से उनके स्वास्थ्य और जीवन को बदल देगा।

YojanaUttarakhand Saubhagyawati Yojana
LocationUttarakhand
Yojana Type Only Pregnant Women&Newborn
Official Websitesarkari yojana
Update2021

नवजात बच्चे और गर्भवती महिलाएं कुपोषण के शिकार न हो इसके लिए उत्तरखंड सरकार कि और से इस योजना को शुरु किया गया है इस योजना के तहत बनने वाले 2 किट में से एक गर्भवती महिलाओं के लिए होगा और दूसरा नवजात बच्चो के लिए होगा जो भी इस योजना के लाभ के लिए इन्छुक है वो इसके लिए ऑनलाइन पंजीयन करके लाभ प्राप्त कर सकता है अगर आप भी इस योजना के इच्छुक है तो इस आर्टिकल को अंत तक पूरा पढ़े ताकि आपको आवेदन के बारे में सही जानकरी मिल सके

गर्भवती महिलाओं के कल्याण के लिए, किट

उत्तरखंड सरकार कि और से शुरु कि गई इस उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के तहत नवजात बच्चों और गर्भवती महिलाओं को मिलने वाली किट में जो सामान दिए जाते है वो इस प्रकार है

  1. सूखे मेवे
  2. मोसम के हिसाब से वस्त्र
  3. पोस्टिक आहार
  4. प्रसाधन आदि
  5. 250 बादाम गिरी / सूखी खुबानी / अखरोट
  6. दो सूती गाउन / साड़ी / सूट
  7. एक शाल गर्म पूर्ण आकार
  8. 500 ग्राम चौरा
  9. 1 स्कॉर्फ कपास / गर्म मानक आकार
  10. दो जोड़ी जुराब मानक आकार
  11. बड़े आकार का एक तौलिया
  12. दो पैकेट सेनेटरी नैपकिन (आठ पैकेट प्रति)
  13. दो जोड़ी चादरें (तकिये के कवर सहित)
  14. एक नेल कटर
  15. 200 मिलीलीटर हैंडवाश तरल
  16. एक नारियल / तिल / सरसों / चुल्लू का तेल
  17. दो कपड़े धोने के साबुन
  18. दो स्नान साबुन

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना का मुख्य उदेश्य:-

उत्तराखंड सरकार का इस योजना को शुरु करने का मुख्य उदेश्य है कि राज्य में बहुत से परिवार ऐसे है जिनकी आर्थिक स्तिथि इतनी कमजोर है कि वो अपने घर में गर्भवती महिला या फिर नवजात बच्चे कि देखबाल सही तरीके से नही कर पाते है या फिर उनको सही पोस्टिक आहार उप्लाब्ध परवा पाते है ऐसे में गर्भवती महिला और नवजात बच्चे कुपोषण का शिकार हो जाते है नवजात बच्चों और महिलाओं के अच्छे स्वस्थ्य के लिए उन्हें ऐसे समय में पोस्टिक भोजन कि सबसे ज्यादा जरूरत होती है

मगर घर कि आर्थिक स्तिथि खराब होने के कारण उन्हें वो पोस्टिक भोजन नही मिल पाता है कुछ बच्चे और महिलाओं कि तो कुपोषण के कारण मृत्यु तक हो जाती है सरकारी चाहती है कि राज्य में शिशु मृत्यु दर और मात्र मृत्यु दर में कमी आये इसी उदेश्य से इस योजना कि घोषणा कि गई है 

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना से होने वाले फायदे:-

राज्य सरकार कि और से शुरु कि गई इस उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना से होने वाले फायदे निम्न प्रकार है आइये जानते है होने वाले फायदों के बारे में

  1. इस योजना का फायदा सिर्फ उत्तराखंड राज्य के गर्भवती महिलाओं और नवजात बच्चों को होने वाला है
  2. सरकार कि इस योजना के तहत मिलने वाला सामान उच्च गुणवता का और स्वास्थ्य के लिए लाभप्रद होगा
  3. इस योजना के जरिये मोसम के हिसाब से वस्त्र और खाने के लिए सामग्री दी जायेगी
  4. राज्य में शिशु और मातृ मृत्यु दर में कमी आएगी 
  5. अब कोई भी गर्भवती महिला या फिर नवज्ता बच्चा कुपोष का शिकार नही होगा तथा इस योजना से और भी बहुत से फायदे होने वाले है 

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के ऑनलाइन पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज:-

अगर आप भी इस योजना के लाभ के लिए आवेदन कर रहे है तो आपको इसके ऑनलाइन पंजीयन के लिए निम्न प्रकार के दस्तावेजों कि जरूरत पड़ेगी

  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र (वोटर आईडी)
  • राशन कार्ड
  • आय प्रमाण पत्र
  • महिला का जन्म प्रमाण पत्र
  • बैंक खाता संख्या
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • परिवार में कोई सरकारी कर्मचारी नही होना चाहिए
  • आवेदक कि आयु 18 वर्ष से कम नही होनी चाहिए 

उत्तराखंड सौभाग्य योजना 2021 (पात्रता) के दस्तावेज

  • केवल गर्भवती महिलाओं और नवजात शिशुओं को इस योजना के तहत पात्र माना जाएगा।
  • आवेदक उत्तराखंड के स्थायी निवासी होने चाहिए।
  • केवल 18 वर्ष से ऊपर की गर्भवती महिला ही पात्र होगी।
  • आयकर का भुगतान करने वाले सभी सरकारी कर्मचारियों के परिवारों और आश्रितों को परियोजना के तहत कवर नहीं किया जाएगा
  • आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • पते का सबूत
  • आय प्रमाण पत्र
  • गर्भवती महिला का आयु प्रमाण पत्र (जैसे जन्म प्रमाण पत्र या 10 वीं कक्षा की मार्कशीट)
  • बैंक खाता पासबुक
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो

उत्तराखंड सौभाग्यवती योजना के ऑनलाइन पंजीयन कि प्रक्रिया:-

अगर आप भी इस योजना के लिए पंजीयन करने के इन्छुक है तो आपको इसके लिए कुछ समय का इन्तजार करना होगा क्योंकि अभी सिर्फ इस योजना कि घोषणा कि गई है इसके ऑनलाइन पंजीयन के लिए ऑफिसियल वेबसाइट जारी नही कि गई और न हि इसके कोई ऑफलाइन आवेदन शुरु किये गये है इसलिए आपको कुछ समय के लिए रुकना पड़ेगा जैसे इसके ऑनलाइन या ऑफलाइन पंजीयन शुरु हो जायेगे सबसे पहले हम आपको इसकी जानकारी पहुचा देगे और आवेदन के समय हमने आपको जो दस्तावेज बताये है वही लगेंगे

Leave a Comment