वार्ड पार्षद कैसे बने How To Become A City Ward Parshad – पार्षद बनने के योग्यता

वार्ड पार्षद कैसे बने, How To Become A City Ward Parshad, वार्ड पार्षद की सैलरी कितनी होती है, वार्ड पार्षद का वेतन कितना होता है, वार्ड पार्षद बनने के लिए योग्यता क्या होनी चाहिय,

Ward Parshad – आज इस आर्टिकल में जानेगे कि वार्ड पार्षद कैसे बनते है व कैसे वार्ड पार्षद का पर्चा भरवाया जाता है क्या क्या दस्तावेज की आवश्यकता होती है आदि सम्पूर्ण जानकारी | वार्ड पार्षद कैसे बने

How To Become A City Ward Parshad

वार्ड पार्षद कैसे बने How To Become A City Ward Parsad

भारत में 74 वे सविधान के अनुसार स्थानीय शासन का प्रावधान किया गया है जिसमे नगर निगम, नगर पालिका , नगर पंचायत की व्यस्था की गई है अभी नगर निकाय चुनाव करीब है ऐसे में छोटे बड़े सभी शहरो में नगर निकाय/नगर परिषद चुनाव में वार्ड पार्षद के भी चुनाव होंगे जिसमे जिस तरह ग्रामीण चुनाव में वार्ड पांच के चुनाव होते है जो पंचायत के हर वार्ड से एक वार्ड पांच चुना जाता है वैसे ही नगर निगम या नगर पालिका में एक Ward Parshad होता है वार्ड पार्द बनने के लिए सबसे जरुरी अपने मोहल्ले के लोगो के साथ good होना वार्ड पार्षद के लिए जिस वार्ड से आप चुनाव लड़ोगे उस वार्ड के लोगो में आपके प्रति भरोषा होना चाहिए

Become A City Ward Parsad वार्ड पार्षद कैसे बने

क्यों की उसी वार्ड के लोगो द्वारा आपको वार्ड पार्षद का चुनाव जितना होता है वार्ड पार्षद के चुनाम में ये महत्वपूर्ण है की आपको अपने वार्ड के लागो के साथ अच्छी good रखनी होती है तभी आपको वोट मिलते है इसके अलावा आपको अपने वार्ड से ज्यादा वोट पाने होते है तभी आप वार्ड पार्षद का चुनाव जीतते हो जिसके बाद आपको सर्कार की और सैलरी भी मिलती है और आपको अपने वार्ड के लोगो का काम करवाना होता है वार्ड पार्षद बनने के बाद लोगो की समस्या सुननी होती है और उन समस्याओ को सुलझाने में मदद करनी होती है इसके अलावा आपको बता दे की वार्ड पार्षद बनने के लिए कुछ नियम व शर्ते भी होती है वार्ड पार्षद की योग्यता भी होती है जिसके बारे में आपको निचे सम्पूर्ण जानकारी मिल जायगी

वार्ड पार्षद क्या हैं वार्ड पार्षद कैसे बने

प्रत्येक शहर को छोटे-छोटे नगर अथवा मोहल्लो में विभाजित। इसके बाद नगर/मोहल्लो को वार्ड में विभाजित किया जाता हैं। प्रत्येक वार्ड के प्रतिनिधि को पार्षद कहा जाता हैं। पार्षद को सीधे उस वार्ड की जनता द्वारा चुना जाता हैं। पार्षद को उस वार्ड से सम्बधित सभी समस्याओ को नगर पालिका या नगर परिषद् में पेश करता हैं, जिसके उपरांत परिषद् द्वारा बजट पास करके उस समस्या का समाधान किया जाता हैं।

[Dairy Loan] डेयरी लोन सब्सिडी आवेदन फॉर्म

DetailWard Parsad
LocationUrban all
TypeChunav
benefitesPost

वार्ड पार्षद बनने की योग्यता Ward Parsad Qualification

पार्षद बनने के लिए अगल-अलग राज्यों में अलग नियम भी हो सकते हैं। आपके राज्य के अनुसार नियम होते हैं। पार्षद बनने के लिए आपकी उम्र 21 वर्ष या उससे अधिक होनी चाहिए 21 वर्ष से कम नहीं होनी चाहिए ऊपर चाहे कितनी भी हो पार्षद बनने के लिए 10 वीं पास होना चाहिए फ़िलहाल सरकार ने कोई भी ऐसी योग्यता नहीं निर्धारित की हैं बस आप पढे-लिखे होने चाहिए ताकि आपको सभी तरह की जानकारी हो वर्ष 1995 के बाद दो या दो से अधिक संतान नहीं होनी चाहिए

(केवल शादीशुदा लोगो के लिए) आप किसी भी सरकारी पद पर कार्यरत नहीं होने चाहिए पागल या दिवालिया घोषित नहीं होना चाहिए भारत के किसी भी मतदाता सूचि में आपका नाम होना चाहिए जब आप निर्वाचन आयोग में पार्षद के लिए अपील करते हो तो आपको अपनी सभी सम्पति का भी ब्यौरा देना होगा गंभीर अपराधो में सजा युक्त या कोई भी कानूनी कार्यवाही नहीं होनी चाहिए

Sarkari Yojana – प्रधानमंत्री मोदी सरकारी योजना सूचि

वार्ड पार्षद के कार्य – Ward Councilor Functions

  • सभी पार्षद को अपने-अपने वार्ड में 5-5 लाख रूपये (ये अनुमानित राशी हैं) विकास कार्य कराने का अधिकार प्रधान किया जाता हैं।
  • पार्षद को अपने वार्ड में रोड लाइट लगवानी होती हैं
  • सड़क निर्माण कार्य
  • पानी की समस्या पार्षद के अंतर्गत नहीं आती जब पार्षद को ये कार्य करना होता हैं।
  • पेंशन के फॉर्म पर मुहर लगाना
  • जाति प्रमाण-पत्र और मूल निवास प्रमाण-पत्र पर मुहर लगाना
  • सरकारी योजनाओ में बहुत से ऐसे फॉर्म होते हैं जिन्हें पार्षद को अपने हस्ताक्षर करके मुहर लगनी होती हैं।
  • अपने वार्ड में राजनैतिक कार्य भी करने होते हैं।

किसान स्मार्ट फ़ोन योजना

वार्ड पार्षद की सैलरी – Ward councilor’s salary

दोस्तों पार्षद के लिए सैलरी भी अलग-अलग होती हैं। सामान्यतौर पर पार्षद की सैलरी 2800 रूपये प्रति महीने होती हैं और एक हजार रूपये प्रति बैठक भत्ता भी प्रधान किया जाता हैं और ये सब आपके राज्य के अनुसार होती हैं। नगर निगम के पार्षद की सैलरी अलग होती हैं और नगर परिषद् के पार्षद की सैलरी अलग होती हैं। नगर निगम में जनसँख्या ज्यादा होती तो वहां पर पार्षद की सैलेरी भी ज्यादा होती हैं।

वार्ड पार्षद बनने के लिए दस्तावेज – Documents to become a ward councilor

विवाह पंजीयन/मैरिज सर्टिफिकेट (शादीशुदा होने पर)
मूल निवास प्रमाण पत्र (डिजिटल होना चाहिए पुराना वाला नहीं चलेगा)
जाति प्रमाण पत्र (डिजिटल होना चाहिए पुराना वाला नहीं चलेगा)
वोटर आई डी
चार पासपोर्ट साइज़ फोटो
आधार कार्ड
पार्षद का Resume
स्वघोषणा प्रमाण पत्र

बीपीएल राशन कार्ड नई सूचि

वार्ड पार्षद आवेदन प्रक्रिया – Ward Councilor Application Process

दोस्तों पार्षद बनने के लिए आपको आवेदन या फॉर्म निर्वाचन आयोग में करना होता हैं। अलग-अलग राज्यों में नियम अलग हो सकते हैं। वैसे चुनाव आयोग के पास अधिकार होता हैं की आवेदन निर्वाचन अधिकारी के पास देना हैं SDM के पास।

Thanks for Comment